Colonel Narinder Kumar Biopic: सियाचिन के हीरो रहे नरिंदर कुमार "बुल", बायोपिक में नजर आएगी शौर्य गाथा

दिवंगत कर्नल नरेंद्र 'बुल' कुमार के जीवन पर बायोपिक बनने जा रही है, उन्होंने 1984 मेंभारतीय सेना के सियाचिन अभियान की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

Colonel Narinder Kumar Biopic
Colonel Narinder Kumar Biopic 

Colonel Narinder Kumar Bull Biopic: 31 दिसंबर, 2020 की सुबह, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया: “एक अपूरणीय क्षति! कर्नल नरिंदर 'बुल' कुमार (सेवानिवृत्त) ने असाधारण साहस और परिश्रम के साथ देश की सेवा की। पहाड़ों के साथ उनका विशेष बंधन को याद किया जाएगा। ” और वास्तव में ऐसा होगा। उनके जीवन की सराहना करते हुए, मैनोमे मोशन पिक्चर्स के निर्माता रामोन चिब और अंकु पांडे ने उनकी अतुल्य कहानी को सेल्युलाइड पर दर्शाने के लिए अधिकार हासिल किए हैं।

'बुल' - स्वर्गीय कर्नल नरिंदर ’बुल कुमार’ पर आधारित फिल्म, सच्चे नेतृत्व, हिम्मत और गौरव की एक अनकही कहानी है। यह सभी के कठोर शत्रु - प्रकृति के खिलाफ लड़ाई की कहानी है, जिसके खिलाफ बड़े बड़े दिग्गज ने अक्सर अपने हथियार डाल देते है। एक दृढ़ इच्छाशक्ति वाले, दृढ़-संकल्प सैन्य अधिकारी की एक कहानी जिसने हार मानने से इनकार कर दिया - "जो करना है सो करना है" बुल कुमार का आदर्श वाक्य था।

कौन थे कर्नल नरिंदर 

साल 1981 में, इस सैनिक और उनकी टीम ने 24,000 फीट से अधिक ऊंचाई पर सबसे ऊंची चोटियों पर पहुंचने का दावा किया और वहां भारतीय तिरंगा फैराया। उन्होंने बिना किसी नक्शे या उच्च तकनीक के उपकरणों के बिना ऐसा किया - उनके जूते वाटरप्रूफनहीं थे, और उनके जैकेट भी ठोस नहीं नहीं थे। वे मुश्किल दरारों को नेविगेट करने और हिमस्खलन से आगे रहने के लिए जतन करते जबकि तापमान जो सुन्न -50 डिग्री सेल्सियस तक रहता था। "टोही" मिशन एक आधिकारिक सैनिक ऑपरेशन नहीं था। इसका मतलब था कि अगर बुल कुमार और उनके साथी सैनिक भाई दुश्मन के हाथों में पड़ जाते, तो कोई भी उनका दावा नहीं करता।

पूर्व सेनाधिकारी ने लिखी कहानी

बलविंदर सिंह जांजुआ द्वारा लिखित, बुल को रामोन चिब द्वारा संचालित किया जा रहा है, जो एक पूर्व-सेना अधिकारी है, जो भारतीय सेना के लोकाचार को समझते है। वह बुल कुमार के एक ही रेजिमेंट से है और कर्नल के साथ कई घंटे बिताए हैं ताकि पता चल सके कि इस असंभव मिशन को पूरा करने के लिए उन्होंने क्या किया।

रामोन ने पहले नेशनल जियोग्राफिक चैनल के लिए बल सेना के शो का निर्देशन किया है और आमिर खान की नवीनतम प्रोडक्शन 'लाल सिंह चड्ढा’ के लिए सेना से संबंधित सभी चीजों के लिए क्रिएटिव कंसल्टेंट है। उन्होंने ऋतिक और दीपिका अभिनीत 'फाइटर’ के लिए हाल ही में घोषित सिद्धार्थ आनंद एक्शन फिल्म की कहानी और पटकथा भी लिखी है। वह और अंकु सिद्धार्थ आनंद के साथ इस पर निर्माता भी हैं।

फिल्म निर्माता रामोन चिब ने कहा, "हम वीरता और सच्ची नेतृत्व की इस बेहद अद्भुत कहानी को जल्द ही पर्दे पर लाने के लिए एक टीम के रूप में आगे बढ़े हैं। हम स्वर्गीय कर्नल नरिंदर "बुल " कुमार के परिवार के प्रति आभारी हैं कि उन्होंने हम पर विश्वास किया और हमें अनुमति दिया सेल्युलाइड के लिए अपनी गहरी प्रेरणादायक कहानी को फिर से लिखने की और हमें हमेशा के लिए एक फिल्म रील में उनके जीवन की स्मृति में अपने हिस्सेदारी का अवसर और जिम्मेदारी निभाने के लिए। वर्तमान में हम कई स्टूडियो से रुचि रखते हैं और इस प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए तैयार हैं दुनिया को एक बेइंतेहा बहादुर, साहसी और सच्चे देशभक्त की वीर गाथा सुनाने के लिए। "

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर