'हम आपके हैं कौन' के समय Anupam Kher को हो गया था चेहरे का लकवा, फिर भी जारी रखी थी शूटिंग

Anupam Kher Facial Paralysis: 26 साल पहले रिलीज हुई फिल्म हम आपके हैं कौन की शूटिंग के समय अनुपम खेर को चेहरे का लकवा हो गया था, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने फिल्म की शूटिंग जारी रखी थी।

Anupam Kher
Anupam Kher 

मुख्य बातें

  • साल 1994 में अनुपम खेर के हुआ था चेहरे का लकवा
  • फिल्म हम आपके हैं कौन की शूटिंग कर रहे थे अनुपम खेर
  • चेहरे का लकवा होने पर भी अनुपम खेर ने नहीं रोकी थी शूटिंग

बॉलीवुड एक्टर फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बेहतरीन कलाकारों में से एक हैं जो अब तक कई फिल्मों में काम कर चुके हैं। अनुपम ने साल 1984 में फिल्म सारांश से बॉलीवुड में कदम रखा था, जिसमें उन्होंने 65 साल के रिटायर्ड टीचर का रोल निभाया था। इस समय अनुपम की उम्र केवल 29 साल थी। इस रोल के लिए अनुपम को बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड दिया गया था। 

अनुपम खेर को हो गया था चेहरे का लकवा

सारांश के साथ- साथ अनुपम की सबसे चर्चित फिल्मों में से एक है हम आपके हैं कौन। इस फिल्म में सलमान खान और माधुरी दीक्षित लीड रोल में थे और अनुपम खेर माधुरी के पिता के रोल में थे। फिल्म को बहुत ज्यादा पसंद किया गया था। क्या आप जानते हैं कि इस फिल्म की शूटिंग के दौरान अनुपम खेर के चेहरे पर पैरालिसिस हो गया था।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher) on

एक्टर ने जारी रखी थी फिल्म की शूटिंग

अनुपम खेर ने हाल ही में एक वेबसाइट से बात करते हुए बताया कि साल 1994 की ब्लाकबस्टर फिल्म हम आपके हैं कौन की शूटिंग के दौरान उनके चेहरे पर पैरालिसिस हो गया था, लेकिन इससे उनकी हिम्मत नहीं टूटी और उन्होंने फिल्म की शूटिंग जारी रखी। अनुपम खेर ने बताया, 'जब मैं हम आपके हैं कौन की शूटिंग कर रहा था तब मेरे चेहरे पर पैरालिसिस हो गया था। मैं सूरज बड़जात्या (फिल्म के डायरेक्टर) के पास गया और उन्हें कहा कि मेरे चेहरे पर इसका असर हुआ है लेकिन मैं शूटिंग के लिए तैयार हूं। जब आप मुश्किल समय का सामना करते हैं तो ये आपको खुद में ज्यादा यकीन करवाते हैं।'

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher) on

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher) on

अनुपम को हुई गरीबों की चिंता

जब अनुपम खेर से पूछा गया कि लॉकडाउन के समय में एक एक्टर के लिए लंबे समय तक घर पर रहना कितना मुश्किल है? इसपर अनुपम ने कहा, 'आर्टिस्ट को एक्ट करते होते हैं। बेचारे सड़क पर जो गरीब लोग होते हैं उनका सोचना चाहिए। कलाकारों को भी यह भ्रम है कि हमें काम करने दो, हम बड़े परेशान हो रहे हैं। यह सब बकवास है। मुझे लगता है कि जो लोग हमसे कम खुश हैं जब हम उनके बारे में सोचते हैं तब आपको एहसास होता है कि आपकी जिंदगी आसान है।' वहीं अनुपम खेर ने बताया कि लॉकडाउन हटने के बाद भी वो तब तक घर से बाहर नहीं जाएंगे जब तक बहुत जरूरी ना हो, साथ ही वो लॉकडाउन हटने पर अपनी मां से मिलने जाएंगे, क्योंकि बहुत समय से वो उनसे नहीं मिल पाए हैं।

अगली खबर