कोरोना से लड़ रहे अमिताभ बच्‍चन का नया ट्वीट, छह तरह के लोगों से दूर रहने की दी सलाह

सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से जंग लड़ रहे हैं। इस बीच उन्‍होंने ट्वीट कर अपने फैंस को एक अच्‍छी सलाह दी है। अमिताभ ने मंत्र साझा कर बताया है क‍ि जीवन में क‍िन लोगों से दूर रहना चाहिए।

amitabh bachchan
amitabh bachchan 

मुख्य बातें

  • कोरोना से जूझ रहे हैं सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन
  • मुंबई के नानावटी अस्‍पताल में चल रहा है इलाज
  • ट्वीट कर खुद दे रहे हैं फैंस को सेहत की जानकारी

सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन कोरोना जैसे खतरनाक वायरस से जंग लड़ रहे हैं। मुंबई के नानावटी अस्‍पताल में उनका इलाज चल रहा है। बीते शनिवार को अमिताभ और उनके बेटे अभिषेक बच्‍चन का कोरोना टेस्‍ट पॉजिटिव आया था। इसके बाद देश में दुआओं का दौर शुरू हो गया था। कई जगत उनके जल्‍द ठीक होने के ल‍िए मंद‍िरों में पूजा कार्यक्रम भी किए गए। अमिताभ बच्‍चन की हालत फ‍िलहाल बेहतर बताई जा रही है। वह खुद अपने ट्व‍िटर के माध्‍यम से फैंस को अपनी सेहत की जानकारी दे रहे हैं। 

इस बीच उन्‍होंने ट्वीट कर अपने फैंस को एक अच्‍छी सलाह दी है। अमिताभ ने मंत्र साझा कर बताया है क‍ि जीवन में क‍िन लोगों से दूर रहना चाहिए। अमिताभ ने ट्वीट किया- ईर्ष्यी घृणी त्वसंतुष्ट: क्रोधनो नित्यशड्कितः। परभाग्योपजीवी च षडेते दुखभागिनः।। अर्थात- सभी से ईर्ष्या, घृणा करने वाले, असंतोषी, क्रोधी, सदा संदेह करने वाले और पराये आसरे जीने वाले ये छः प्रकार के मनुष्य हमेशा दुखी रहते हैं। अतः यथा संभव इन प्रवृत्तियों से बचना चाहिए।

डॉक्‍टर्स के लिए लिखी थी कविता

इससे पहले अमिताभ बच्‍चन ने डॉक्‍टर्स के समर्पण को देख एक कविता लिखी थी। श्वेत वर्ण आभूषण, सेवा भाव समर्पण, ईश्वर रूपी देवता ये, पीड़ितों के संबल ये, स्वयं को मिटा दिया,  गले हमें  लगा लिया, पूजा दर्शन के स्थान ये, परचम इंसानियत के! उन्‍होंने लिखा था;- प्रार्थनाओं, सद भावनाओं  की मूसलाधार बारिश ने स्नेह रूपी बंधन का बांध तोड़ दिया है! बह गया, तर कर दिया मुझे इस अपार प्यार ने, मेरे एकाकी पन के अंधेरे को जो  तुमने। प्रज्वलित कर दिया है व्यक्तिगत आभार  मैं व्यक्त न कर पाउँगा। बस शीश झुकाके नत मस्तक हूँ मैं। 

अगली खबर