CA बनने कानपुर से मुंबई पहुंचे थे अभिजीत भट्टाचार्य और बन गए सबसे ज्‍यादा फीस लेने वाले सिंगर

Abhijeet Bhattacharya Birthday: अभिजीत भट्टाचार्य कानपुर के क्रिस्ट चर्च कॉलेज से स्नातक करने के बाद साल 1981 में चार्टर्ड अकाउंटेंसी का कोर्स के लिए मुंबई पहुंच गए थे लेकिन किस्‍मत ने उन्‍हें गायक बना द‍िया।

Abhijeet Bhattacharya
Abhijeet Bhattacharya 

मुख्य बातें

  • मशहूर गायक अभिजीत भट्टाचार्य का आज जन्मदिन है।
  • 30 अक्टूबर, 1958 को कानपुर में पैदा हुए थे अभिजीत।
  • बंगाली बिजनेसमैन-एडिटर धीरेन्द्रनाथ भट्टाचार्य के बेटे हैं।

Abhijeet Bhattacharya Birthday: 90 के दशक के मशहूर गायक अभिजीत भट्टाचार्य का आज जन्मदिन है। 30 अक्टूबर, 1958 को उत्तर प्रदेश के कानपुर में पैदा हुए अभिजीत का परिवार मूल रूप से पश्चिम बंगाल से आता है। वह बंगाली बिजनेसमैन-एडिटर धीरेन्द्रनाथ भट्टाचार्य के बेटे हैं और चार संतानों में सबसे छोटे हैं। साल 1970 से ही अभिजीत ने स्टेज पर परफॉर्मेंस देनी शुरू कर दी थी।

साल 1981 में अभिजीत भट्टाचार्य कानपुर के क्रिस्ट चर्च कॉलेज से स्नातक करने के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंसी का कोर्स करने के लिए मुंबई पहुंच गए थे लेकिन किस्‍मत ने उन्‍हें गायक बना द‍िया। CA कोर्स के साथ अभिजीत भट्टाचार्य ने म्यूजिक डायरेक्टर से मिलना शुरू कर दिया। एक दिन उन्हें मशहूर संगीतकार आरडी बर्मन का सिंगिंग के लिए फोन आया। आरडी बर्मन ने उन्‍हें देव आनंद के बेटे की फिल्म ‘आनंद और आनंद’ के लिए गाने का ऑफर दिया और उनके गायन के सफर की शुरुआत हो गई।

इस फ‍िल्‍म की रिलीज से पहले उन्‍होंने साल 1982 में एक बंगाली फ‍िल्‍म के लिए आशा भोसले के साथ गाना गाया और 1983 में दूसरी फ‍िल्‍म मुझे इंसाफ चाहिए में भी उन्‍होंने आशा भोसले संग गाया। ‘आनंद और आनंद’ में उन्‍हें किशोर कुमार, लता मंगेशकर और आशा भोसले संग गाना गाया। 

'वादा रहा सनम' गाकर रातोंरात सुपरहिट हो गए

90 के दशक से लेकर 2000 तक अभिजीत भट्टाचार्य बॉलीवुड म्यूजिक डायरेक्टर्स की टॉप पसंद में से एक हुआ करते थे। उस जमाने में कुमार सानू और उदित नारायण छाए हुए थे लेकिन जैसे ही अभिजीत का गाना 'वादा रहा सनम' गाया तो वह रातोंरात सुपरहिट हो गए।   यह गाना अक्षय कुमार पर फिल्माया गया था। एक के बाद एक हिट गानों ने अभिजीत को उस दौर के सबसे मशहूर गायकों की लिस्ट में शामिल कर दिया। उसके बाद उन्‍होंने शाहरुख के लिए गाने गाए और उनकी आवाज कहे जाने लगे। 

फिल्मफेयर से नवाजे गए अभिजीत

उस दौर में वे सबसे महंगे गायकों में शुमार हो गए थे। वे अब तक 1000 से ज्यादा फिल्मों में छह हजार से अधिक गाने रिकॉर्ड कर चुके हैं। साल 1994 में अभिजीत ने फिल्म ‘ये दिल्लगी’, ‘अंजाम’, ‘राजा बाबू’ और ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ जैसी हिट फिल्मों के कई गानों को आवाज दी। वर्ष 1997 में उन्होंने फिल्म ‘यश बॉस’ के एक गाने ‘मैं कोई ऐसा गीत गाऊं’ के लिए फिल्मफेयर बेस्ट प्लेबैक सिंगर अवॉर्ड जीता। उन्होंने ‘बादशाह’, ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘जोश’, ‘धड़कन’, ‘राज’, ‘तुम बिन’, ‘चलते चलते’ और ‘मैं हूं ना’ जैसी कई सफ़ल फिल्मों के लिए गाने गाए। 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर