CBSE Board exam cancelled: सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षा रद्द,12वीं के छात्रों के पास होगा विकल्प

Exams for CBSE class X and XII cancelled: सरकार ने 12वीं कक्षा के छात्रों को विकल्प भी दिया है। समझा जाता है कि सरकार ने देश में बढ़ते कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए ये परीक्षाएं स्थगित की हैं।

Exams for class X and XII scheduled for July 1-15 have been cancelled, CBSE tells SC
सीबीएसई की 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया- सीबीएसई बोर्ड की 10वीं की परीक्षाएं अब नहीं होंगी
  • सरकार ने कहा कि 12वीं बोर्ड के छात्रों के पास परीक्षा में दोबारा शामिल होने का विकल्प होगा
  • कोर्ट ने सरकार से कहा कि वह 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं के बारे में नया स्पष्टकीरण जारी करे

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की परीक्षा रद्द कर दी है जबकि 12वीं बोर्ड के छात्रों के लिए बाद में परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए विकल्प रखा है। सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि एक जुलाई से 15 जुलाई के बीच प्रस्तावित बोर्ड की परीक्षाएं अब नहीं होंगी। सरकार ने 12वीं कक्षा के छात्रों को बाद में परीक्षा में बैठने का विकल्प दिया है। समझा जाता है कि सरकार ने देश में बढ़ते कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए ये परीक्षाएं स्थगित की हैं। तीन राज्यों महाराष्ट्र, दिल्ली और ओडिशा ने पहले ही एचआऱडी मंत्रालय से परीक्षा को रद्द करने का आग्रह किया था

15 जुलाई तक घोषित होगा रिजल्ट
केंद्र ने कोर्ट को बताया, '10वीं कक्षा की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं और 10वीं एवं 12वीं का रिजल्ट आंतरिक परीक्षाओं के आधार पर 15 जुलाई तक घोषित किया जाएगा। सीबीएसई के 12वीं के छात्रों के पास बाद में परीक्षा में सम्मिलित होने का विकल्प रहेगा। माहौल अनुकूल होने पर बोर्ड इनके लिए परीक्षाएं का आयोजन करेगा।'  इस मामले की सुनवाई जस्टिस एएम खनविलकर की अगुवाई वाली पीठ ने की।

10वीं के छात्रों का मूल्यांकन आंतरिक परीक्षाओं पर
सरकार ने कहा कि 10वीं के छात्रों का मूल्यांकन उनकी तीन परीक्षाओं के आधार पर किया जाएगा। आईसीएसई बोर्ड ने भी शीर्ष अदालत को बताया कि उसने भी 10वीं एवं 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। इन दोनों कक्षाओं की दोबारा परीक्षा कराने का कोई विकल्प नहीं रखा गया है। सरकार का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने सीबीएसई को 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं पर नया स्पष्टीकरण जारी करने के लिए कहा है। 

स्थितियां अनुकूल होने पर होंगी परीक्षाएं
मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) की ओर से पेश महाधिवक्ता तुषार मेहता ने कोर्ट को बताया कि कोरोना संकट को देखते हुए अभी स्थितियां परीक्षा कराने के अनुकूल नहीं हैं। छात्र, शिक्षक और अभिभावक भी चाहते थे कि बोर्ड अपनी ये प्रस्तावित परीक्षाएं आगे के लिए टाल दे। सीबीएसई बोर्ड ने कुछ दिनों पहले सरकार से कहा था कि देश में परीक्षाएं कराने का माहौल अभी नहीं है। 

सिसोदिया ने भी बोर्ड को लिखा था पत्र
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी सीबीएसई को पत्र लिखा था। अपने इस पत्र में सिसोदिया ने कहा था कि कोविड-19 का प्रकोप देखते हुए परीक्षाएं कराने का यह सही समय नहीं है। जाहिर तौर पर सीबीएसई की ये परीक्षाएं कब होंगी इस पर एमएचआरडी मंत्रालय और सीबीएसई मिलकर फैसला करेंगे। फिलहाल, बोर्ड की 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाएं कर दी गई हैं। अब 'उपयु्क्त माहौल' बनने पर परीक्षा की नई तिथियों की घोषणा की जाएगी। 

अगली खबर