Singhu border murder: सिंघु बार्डर पर हत्या, मृतक की शिनाख्त हुई, पंजाब के तरन तारन जिले का रहने वाला था लखबीर सिंह 

Singhu Border murder case update: सिंघु बार्डर पर मिले शव की पहचान हो गई है। मृतक युवक की पहचान पंजाब के तरन तारन जिले के रहने वाले लखबीर सिंह के रूप में हुई है। सूत्रों का कहना है कि लखबीर निहंगों के सेवादार के रूप में काम करता था।

Deceased identified as  Lakhbir Singh eho murered at Singhu border
शुक्रवार सुबह सिंघु बॉर्डर पर युवक की हुई निर्मम हत्या।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • शुक्रवार सुबह सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन के मंच के समीप मिली लाश
  • युवक का हाथ पैर काटकर उसकी बेरहमी से हत्या की गई, हत्या का केस दर्ज
  • मृतक की की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हुई है, पंजाब का रहने वाला था युवक

नई दिल्ली : सिंघु बार्डर पर मिले शव की पहचान हो गई है। मृतक युवक की पहचान पंजाब के तरन तारन जिले के रहने वाले लखबीर सिंह के रूप में हुई है। सूत्रों का कहना है कि लखबीर निहंगों के सेवादार के रूप में काम करता था। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। सिंघु बार्डर पर सुबह शव मिलने की बात सामने आने पर पूरे इलाके में सनसनी फैल गई।

पुलिस ने निहंगों के खिलाफ केस दर्ज किया

लखबीर सिंह हत्या मामले में पुलिस ने निहंगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि जब वह घटनास्थल पर पहुंची तो निहंग शव को घेरकर खड़े थे। पुलिस ने उनसे पूछताछ करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने सहयोग नहीं किया। लखबीर के साथ जो बर्बरता की गई, उससे जुड़े कई वीडियो सामने आए हैं। एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना है कि यह घटना आधी रात को हुई लेकिन पुलिस को इसकी सूचना सुबह पांच बजे दी गई। 

एसकेएम ने जारी किया बयान

इस बीच, संयुक्त किसान मोर्चा ने बयान जारी किया है। एसकेएम ने इस हत्या की निंदा की है। मोर्चे का कहना है कि निहंगों एवं मृतक का कोई भी संबंध संयुक्त किसान मोर्चे से नहीं है। मोर्चा ने कहा है कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। बयान में कहा गया है कि मोर्चा दोषी लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करता है। मोर्चा जांच में पुलिस के साथ सहयोग करेगा। हम किसी भी धार्मिक ग्रंथ या प्रतीक की बेअदबी के खिलाफ हैं।

सिंघु बॉर्डर पर चल रहा है किसानों का आंदोलन

इसी जगह पर तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन चल रह है। सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में निहंग भी हैं। ये निहंग घोड़ों पर चलते हैं। उनका यहां पर एक अस्तबल भी है। बताया जा रहा है कि इसी अस्तबल में लखविंदर सेवादार के रूप में काम करता था। इसका किसी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं है।  

निर्ममता से हुई लखबीर सिंह की हत्या

पुलिस का कहना है कि उसे आज सुबह 5 बजे एक सूचना प्राप्त हुई कि किसान आंदोलन में निहंगों ने एक आदमी का हाथ काट दिया और उसको लोहे के एक बैरिकेट पर रस्सी से बांध कर लटका रखा है। इस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। यहां किसान आंदोलन के बीच सिंघु बॉर्डर की तरफ रोड पर ही एक आदमी के एक हाथ और पैर काटकर  लटका रखा था। इस व्यक्ति की मौत हो चुकी थी। पुलिस का कहना है कि वहां आस-पास काफी संख्या में निहंग एकत्रित थे जिनसे ASI ने पूछताछ करने की कोशिश की। लेकिन किसी ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया और न मृतक की लाश को उतारने दिया गया।  

हत्या की वजह का पता लगाने में जुटी पुलिस

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पुलिस इस बात का पता लगाने में जुटी है कि लखबीर सिंह की हत्या आखिर किस बात को लेकर हुई। लखबीर की पत्नी है और तीन बच्चे हैं जो उससे अलग रहते हैं। पुलिस परिवार से संपर्क करने की कोशिश कर रही है। इस घटना पर भाजपा नेता अमित मालवीय ने कहा कि किसान आंदोलन के नाम पर किसानों को बदनाम किया जा रहा है। इस घटना के पीछे अराजक तत्व हैं। इन लोगों की मंशा राजनीतिक है, ये किसानों का भला नहीं चाहते। 

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर