Delhi Air Pollution: प्रदूषण की मार,अगले आदेश तक स्कूल बंद, 21 नवंबर तक निर्माण कार्य पर रोक

दिल्ली और एनसीआर की जहरीली हवा की सफाई के लिए कुछ खास कदम उठाने के आदेश दिए गए हैं। सीएक्यएम ने कहा कि है कि दिल्ली एनसीआर से 300 किमी के दायरे में आने वाले सभी थर्मव पावर प्लांट को बंद किया जाए।इसके साथ ही गैर जरूरी ट्रकों की एंट्री पर भी रोक लगाई जाए।

Air pollution in Delhi NCR, Thermal power plant, ban on entry of trucks in Delhi NCR, PM 2.5. PM 10, Air Quality Index, CAM, Supreme Court, Government of Delhi
दिल्ली की हवा अब भी जहरीली, अगले आदेश तक स्कूल बंद, 21 नवंबर तक निर्माण कार्य पर रोक 
मुख्य बातें
  • PM10 और PM2.5 कणों की मात्रा क्रमशः 362 और 222 रही।
  • आनंद विहार, बवाना, जहांगीरपुरी, मुंडका, रोहिणी, शादीपुर, पंजाबी बाग और वजीरपुर में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' दर्ज की गई।
  • स्कल बंद करने , पावर प्लांट बंद करने और गैर जरूरी ट्रकों की एंट्री पर रोक के आदेश

दिल्ली की हवा जहरीली है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में आज अहम सुनवाई हुई। उससे पहले कमीशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट(CAQM) की तरफ से एनसीआर और आसपास के इलाकों में प्रदूषण पर काबू पाने के लिए कुछ खास उपायों पर अमल करने के आदेश दिए हैं। मसलन 300 किमी के दायरे में आने वाले थर्मल पावर प्लांट को बंद करने के साथ दिल्ली एनसीआर में गैर जरूरी ट्रकों के एंट्री पर रोक लगाने के लिए कहा है। इसके साथ ही दिल्ली एनसीआर में स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। दफ्तरों में 50 फीसद वर्क फ्राम होम के आदेश हैं। 

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय, वायु प्रदूषण को रोकने के उद्देश्य से वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) के नए निर्देशों के संबंध में संबंधित विभागों के साथ बैठक करेंगे । दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय, वायु प्रदूषण को रोकने के उद्देश्य से वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) की ओर से जारी किए गए नए निर्देशों के संबंध में संबंधित विभागों के साथ उच्च स्तरीय बैठक करेंगे। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।


CAQM के निर्देश

  1. वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने मंगलवार देर रात निर्देश दिया था कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान अगले आदेश तक बंद रहेंगे और केवल ऑनलाइन शिक्षा की अनुमति होगी।
  2. आयोग ने निर्देश दिए कि दिल्ली के 300 किलोमीटर के दायरे में स्थित 11 ताप विद्युत संयंत्रों - एनटीपीसी, झज्जर, महात्मा गांधी टीपीएस, सीएलपी झज्जर, पानीपत टीपीएस, एचपीजीसीएल, नाभा पावर लिमिटेड टीपीएस, राजपुरा और तलवंडी साबो टीपीएस, मानसा में से केवल पांच संयंत्र ही 30 नवंबर तक चालू रहेंगे।
  3. अधिकारी ने कहा, ‘‘ मंत्री ने सीएक्यूएम के नए निर्देशों के संबंध में चर्चा करने के लिए दोपहर 12 बजे पर्यावरण विभाग, लोक कल्याण विभाग, नगर निगम, एनडीएमसी और शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक बुलाई है।’’
  4. आयोग ने दिल्ली और एनसीआर वाले राज्यों को 21 नवंबर तक क्षेत्र में ‘सीएंडडी’ अपशिष्ट प्रबंधन नियमों और धूल नियंत्रण मानदंडों के सख्त अनुपालन के साथ ‘‘रेलवे सेवाओं, रेलवे स्टेशन, मेट्रो रेल निगम सेवाओं, हवाई अड्डों और अंतर-राज्यीय बस टर्मिनल (आईएसबीटीएस) सहित और राष्ट्रीय सुरक्षा अथवा रक्षा संबंधी गतिविधियों अथवा राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं’’ को छोड़कर निर्माण और तोड़-फोड़ संबंधी सभी गतिविधियों को रोकने का निर्देश दिया है।
  5. वहीं, एनसीआर में आने वाले राज्यों की सरकारों को रविवार तक एनसीआर में कार्यालयों में अपने कर्मचारियों की कम से कम 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ घर से काम करने की अनुमति देने और निजी प्रतिष्ठानों को इस नियम का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया गया है।
  6. दिल्ली सरकार ने सोमवार से एक हफ्ते के लिए स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों के परिसर में कक्षाएं बंद करने का आदेश दिया था। आवश्यक सेवाओं में शामिल लोगों को छोड़कर सभी सरकारी कार्यालयों, एजेंसियों और स्वायत्त निकायों को घर से काम करने के लिए कहा गया है

दिल्ली में वायु गुणवत्ता
आज सुबह 6 बजे, 10 और 2.5 माइक्रोन के व्यास वाले पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) की सांद्रता क्रमशः 362 और 222 पर डॉक की गई, दोनों ही SAFAR के अनुसार 'बहुत खराब' क्षेत्र में आते हैं।केंद्रीय वायु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, चांदनी चौक में एक्यूआई 367, इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (टी 3) में 362, दिलशाद गार्डन (आईएचबीएएस) में 353, मथुरा रोड में 396, नजफगढ़ में 349, आईटीओ में 393 दर्ज किया गया। और सिरीफोर्ट में 368, सभी 'बेहद खराब' श्रेणी में आते हैं। इस बीच, आनंद विहार, बवाना, जहांगीरपुरी, मुंडका, रोहिणी, शादीपुर, पंजाबी बाग और वजीरपुर में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' दर्ज की गई, जिसमें एक्यूआई क्रमश: 432, 416, 454, 419, 432, 438, 413 और 426 दर्ज किया गया।

0-5 की सीमा के भीतर एक AQI को 'अच्छा', 51-100 को 'संतोषजनक', 101-200 को 'मध्यम', 201-300 को 'खराब' और 301-400 को 'बहुत खराब' और 401 को माना जाता है। सरकारी एजेंसियों के अनुसार -500 को 'गंभीर' माना जाता है

सफर का पूर्वानुमान
केंद्र द्वारा संचालित प्रदूषण निगरानी प्रणाली ने अनुमान लगाया है कि दिल्ली की समग्र वायु गुणवत्ता कल तक 'बहुत खराब' श्रेणी में मामूली गिरावट दर्ज करने की उम्मीद है। शहर का समग्र एक्यूआई 395 पर रहने की उम्मीद है, जिसमें पीएम10 और पीएम2.5 कणों की सांद्रता क्रमशः 399 और 244 है।

स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे : सीएक्यूएम
अत्यधिक वायु प्रदूषण के मद्देनजर, वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने मंगलवार रात एनसीआर में कॉलेजों, स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को अगले आदेश तक बंद रहने का निर्देश दिया। इसके अलावा, प्रदूषण पैनल ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के 300 किमी के दायरे में स्थित 11 ताप विद्युत संयंत्रों में से केवल पांच ही 30 नवंबर तक संचालित होंगे।इसके अलावा, प्रदूषण पैनल ने 21 नवंबर तक निर्माण और विध्वंस गतिविधियों को रोकने का निर्देश दिया। राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं, राष्ट्रीय सुरक्षा, रक्षा संबंधी गतिविधियों, रेलवे, मेट्रो रेलवे, हवाई अड्डों और आईएसबीटी को इस दिशा से छूट दी गई है।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर