Delhi Violence: दिल्ली पुलिस के 11 लाख पेज के डेटा के साथ उमर खालिद से किए जाएंगे सवाल

दिल्ली दंगा मामले में जेएनयू के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद से दिल्ली पुलिस पूछताछ की तैयारी कर रही है बताते हैं इसके लिए पुलिस  11 लाख पेज के डेटा के साथ पूछताछ करने की तैयारी में है।

Questioning With Umar Khalid in Delhi Violence
दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को बताया कि मामले में बहुत सारे साक्ष्य मिले हैं जिनसे आरोपी का सामना कराने की जरूरत है 

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के पूर्व छात्र उमर खालिद (Umar Khalid) को इस साल फरवरी में दिल्ली में हुए दंगों में उनकी कथित भूमिका के सिलसिले में विशेष सेल ने गिरफ्तार किया था दिल्ली पुलिस अब उमर से पूछताछ में लगी है बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल खालिद से 11 लाख पेज के डेटा के साथ पूछताछ करने वाली है।

उमर खालिद को दिल्ली पुलिस के जुटाए डेटा और ढेर सारे सवालों का सामना करना होगा, बता दें कि कोर्ट ने उमर को सोमवार को 10 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया था। उमर खालिद को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) की संबंधित धाराओं के तहत गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कोर्ट को बताया कि खालिद से दंगों से जुड़े 11 लाख पेज डेटा के साथ सवाल-जवाब किए जाने हैं।

इससे पहले  दिल्ली की एक कोर्ट ने दिल्ली हिंसा मामले में गिरफ्तार जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्र उमर खालिद को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। पुलिस ने कोर्ट से उमर को पुलिस हिरासत में देने की मांग की जिसे कोर्ट ने स्वीकार करते हुए उसे 10 दिनों की कस्टडी में भेज दिया।

उमर खालिद पर उत्तर पूर्वी दिल्ली में भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने का आरोप

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट को बताया कि मामले में बहुत सारे साक्ष्य मिले हैं जिनसे आरोपी का सामना कराने की जरूरत है। अपने दस्तावेज में दिल्ली पुलिस ने उमर खालिद पर उत्तर पूर्वी दिल्ली में गत फरवरी महीने में भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में तीन दिनों तक 23 फरवरी से 25 फरवरी तक हिंसा का दौर चला और इस हिंसा में 53 लोगों की जान गई और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए। मामले में दायर अपनी प्राथमिकी में दिल्ली पुलिस ने कहा है कि खालिद और दो अन्य ने मिलकर हिंसा भड़काने के लिए एक 'सोची समझी साजिश' रची। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत आने से पहले इन लोगों की तरफ से भड़काउ भाषण दिए गए।

उमर और अन्य पर देशद्रोह, हत्या, हत्या के प्रयास, दंगा कराने और धर्म के आधार पर लोगों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने का आरोप लगा है। बता दें कि चांद बाग हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने गत मार्च में उमर खालिद और आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन को मुख्य आरोपी बनाते हुए उनके खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की। उमर के साथ 'यूनाइटेड अगेंस्ट हेट' के सह संस्थापक खालिद सैफी को जेएनयूएसयू के पूर्व नेता और आप के पार्षद ताहिर के बीच कथित रूप से बैठक कराने के लिए गिरफ्तार किया गया है। उत्तर पूर्वी हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने गत अगस्त में उमर से पूछताछ की थी।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर