कोरोना पीड़ित परिवारों, अनाथ बच्चों को आर्थिक राहत देगी केजरीवाल सरकार, शुरू की योजना 

दिल्ली में कोरोना पीड़ित परिवार एवं अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए केजरीवाल सरकार ने मंगलवार को अपनी योजना शुरू की। केजरीवाल सरकार अनाथ बच्चों को हर महीने 2,500 रु. की राहत देगी।

Delhi CM Kejriwal Announces Financial Assistance Scheme For Families of COVID-19 Victims
कोरोना पीड़ित परिवारों को आर्थििक सहायता देगी केजरीवाल सरकार।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • कोरोना पीड़ित परिवारों एवं अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता देगी केजरीवाल सरकार
  • कोरोना से जान गंवाने वाले परिवारों को मिलेगा 50,000 रुपए का मुआवजा
  • माता-पिता को खोने वाले अनाथ बच्चों को 2,500 रु. प्रति महीने देगी राज्य सरकार

नई दिल्ली : कोरोना महामारी पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने मंगलवार को एक बड़ी मुहिम की शुरुआत की। दिल्ली सरकार अपनी 'मुख्यमंत्री कोविड-19 परिवार आर्थिक सहायता योजना' के तहत महामारी के दौरान जान गंवाने वाले परिवारों को 50,000 रुपए का मुआवजा देगी। इसके अलावा ऐसे परिवार जिन्होंने घर चलाने वाले व्यक्ति को खोया है, उन परिवारों को 2,500 रुपए प्रति महीने एवं अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों को प्रत्येक महीने 2,500 रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। 

इस योजना की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अनाथ बच्चों के 25 साल के होने तक उन्हें 2,500 रुपए की आर्थिक सहायता हर महीने दी जाएगी।  

सीएम ने पीड़ित परिवार कों हर संभव मदद देने की बात कही
इस मौके पर सीएम केजरीवाल ने भरोसा दिया कि उनकी सरकार कोरोना पीड़ित परिवारों को हर संभव मदद करेगी। परिवारों के खाते में राशि का ट्रांसफर करने में कोई दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा, 'कोरोना महामारी के चलते जिन बच्चों ने अपने मां-बाप दोनों को खो दिया है, उन्हें खुद को असहाय महसूस नहीं करना चाहिए। सरकार उनकी जरूरतों का ख्याल रखेगी।' इस योजना के बारे में जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना पीड़ित परिवारों की मदद के लिए एक पोर्टल की भी शुरुआत की जा रही है। उन्होंने कहा कि पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कर पीड़ित परिवार योजना का लाभ पा सकते हैं। 

केजरीवाल ने कहा-गैर-जरूरी कागजी कार्यवाही न करें
सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार के प्रतिनिधि कोरोना पीड़ित परिवारों के घरों का दौरा करेंगे और उन्हें आर्थिक सहायता का चेक सौंपेंगे। उन्होंने अधिकारियों को चेक वितरण में सुगमता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। केजरीवाल ने कहा कि अधिकारियों को अनावश्यक दस्तावेजी कार्यवाही में नहीं उलझना चाहिए। 

'सरकार पीड़ितों का दुख समझती है'
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना पीड़ित परिवार यदि दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा पाता तो उनकी सरकार की यह कोशिश होगी कि दस्तावेज समय से उपलब्ध हो जाएं ताकि पीड़ित परिवारों को मुआवजा दिया जा सके। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार कोरोना पीड़ित परिवारों का दुख समझती है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ऐसे परिवारों का हमेशा साथ देगी।   

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर