सुदीक्षा मौत मामला: बुलंदशहर पुलिस ने FIR दर्ज की, लेकिन ईव टीजिंग की कोई धारा नहीं

FIR in Sudeeksha death case:यूपी के बुलंदशहर में एक दुर्घटना में 19 साल की सुदीक्षा भाटी की जान चली गई थी, लेकिन पुलिस ने FIR में ईव टीजिंग की कोई धारा नहीं लगाई है।

Bulandshahr Police register FIR but no section of eve teasing in Sudeeksha death case
प्रतीकात्मक फोटो 

नई दिल्ली: बुलंदशहर पुलिस ने 19 साल की सुदीक्षा भाटी की मौत के कम से कम 30 घंटे बाद अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ लापरवाही और रैश ड्राइविंग के कारण मौत का मामला दर्ज किया। एफआईआर में पुलिस ने औरंगाबाद के रास्ते में बाइकर्स द्वारा उत्पीड़न के बारे में परिवार के दावों के बावजूद ईव टीजिंग की धारा का उल्लेख नहीं किया है।

एसपी सिटी (बुलंदशहर), एके श्रीवास्तव ने कहा कि सुदीक्षा के पिता द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। श्रीवास्तव ने कहा, "शिकायत में पिता ने शिकायत में उत्पीड़न या ईव टीजिंग का उल्लेख नहीं किया है। यह केवल यह उल्लेख कर रहा है कि लड़के गलत तरीके से बाइक राइड कर रहे थे, इसलिए हमने कुछ मोटर वाहन एक्ट का भी उल्लेख किया है।"

एफआईआर में धारा 304-ए, 279 (रैश ड्राइविंग) और एमवी एक्ट की संबंधित धारायें दर्ज

हालांकि पुलिस का कहना है कि बाइक सुदीक्षा का नाबालिग भाई चला रहा था जिसके कारण वह बाइक से अपना नियंत्रण खो बैठा और वह सड़क पर गिर गई। पुलिस ने यह भी कहा था कि सुदीक्षा और उसका नाबालिग भाई बाइक पर थे। एफआईआर में धारा 304-ए (लापरवाही से मौत का कारण), 279 (रैश ड्राइविंग) और एमवी एक्ट की संबंधित धारायें दर्ज की गई हैं।

FIR में उल्लेख -तीन व्यक्ति बाइक पर थे-सुदीक्षा, उसके चाचा और भाई बाइक पर सवार थे

प्राथमिकी में यह भी उल्लेख किया गया है कि तीन व्यक्ति बाइक पर थे-सुदीक्षा, उसके चाचा और भाई यह भी कहा कि उसका चाचा बाइक चला रहा था।प्राथमिकी में कहा गया है कि काले रंग की बुलेट मोटरसाइकिल पर व्यक्ति गलत तरीके से यात्रा कर रहे थे (आगे पीछे कर रहे थे) और उन्होंने बाइक को ओवरटेक किया और जानबूझकर ब्रेक लगाया जिससे दुर्घटना हुई।

इस बीच, पुलिस ने मंगलवार शाम को पूरे मामले की जांच करने और परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच के लिए महिला पुलिस उपाधीक्षक और दो निरीक्षकों के नेतृत्व में एक एसआईटी (विशेष जांच दल) का गठन किया।

क्या था सुदीक्षा भाटी की मौत का मामला

अमेरिका के कॉलेज की छात्रा की कथित रूप से कुछ मनचलों से बचने की कोशिश के दौरान हुए हादसे में मृत्यु हो गई। राष्ट्रीय महिला आयोग में मामले का संज्ञान लेते हुए प्रकरण की स्वतंत्र, निष्पक्ष और त्वरित जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक यह वारदात सोमवार को बुलंदशहर जिले के औरंगाबाद इलाके में हुई जब सुदीक्षा भाटी  नामक छात्रा अपने छोटे भाई के साथ मोटरसाइकिल से गौतम बुद्ध नगर के दादरी स्थित अपने घर से अपने मामा के घर खानपुर जा रही थी।

उन्होंने बताया कि रास्ते में बुलंदशहर के औरंगाबाद इलाके में उसकी मोटरसाइकिल के आगे चल रही बाइक के चालक ने अचानक अपनी गाड़ी रोक दी जिससे सुदीक्षा की मोटरसाइकिल उसमें पीछे से जा टकराई। पुलिस ने बताया कि इस घटना में गंभीर रूप से घायल हुई सुदीक्षा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

सुदीक्षा के परिजन का आरोप है कि कुछ अज्ञात लोगों ने उससे छेड़खानी की कोशिश की

सुदीक्षा के परिजन का आरोप है कि जब वह अपने मामा के घर जा रही थी तब कुछ अज्ञात लोगों ने उससे छेड़खानी की कोशिश की और उसका पीछा किया जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। एक वायरल वीडियो में कथित रूप से सुदीक्षा का भाई यह कह रहा है कि वह मोटरसाइकिल चला रहा था तभी एक बुलेट मोटरसाइकिल पर सवार कुछ लोग उसके वाहन के आगे आए और अचानक ब्रेक लगा दी। उनकी मोटरसाइकिल की नंबर प्लेट पर 'जट बॉयज' लिखा हुआ था और गाड़ी नंबर की शुरुआत 'यूपी 13' से थी। अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सुदीक्षा के भाई ने घटना के समय पुलिस को छेड़खानी के बारे में कुछ नहीं बताया था।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर