Sudeeksha Bhati: कुछ मनचलों की वजह से गई मेधावी छात्रा की जान, परिजन ने लगाया छेड़खानी का आरोप

क्राइम
भाषा
Updated Aug 11, 2020 | 20:11 IST

Sudeeksha Bhati accident: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दुर्घटना में 20 साल की सुदीक्षा भाटी की जान चली गई। सुदीक्षा के परिजन का आरोप है कि कुछ अज्ञात लोगों ने उससे छेड़खानी की कोशिश की और उसका पीछा किया।

Sudeeksha Bhati
सुदीक्षा भाटी 

बुलंदशहर/लखनऊ: अमेरिका के कॉलेज की छात्रा की कथित रूप से कुछ मनचलों से बचने की कोशिश के दौरान हुए हादसे में मृत्यु हो गई। राष्ट्रीय महिला आयोग में मामले का संज्ञान लेते हुए प्रकरण की स्वतंत्र, निष्पक्ष और त्वरित जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक यह वारदात सोमवार को बुलंदशहर जिले के औरंगाबाद इलाके में हुई जब सुदीक्षा भाटी (20) नामक छात्रा अपने छोटे भाई के साथ मोटरसाइकिल से गौतम बुद्ध नगर के दादरी स्थित अपने घर से अपने मामा के घर खानपुर जा रही थी।

उन्होंने बताया कि रास्ते में बुलंदशहर के औरंगाबाद इलाके में उसकी मोटरसाइकिल के आगे चल रही बाइक के चालक ने अचानक अपनी गाड़ी रोक दी जिससे सुदीक्षा की मोटरसाइकिल उसमें पीछे से जा टकराई। अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) अतुल कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि इस घटना में गंभीर रूप से घायल हुई सुदीक्षा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।

सुदीक्षा के परिजन का आरोप है कि जब वह अपने मामा के घर जा रही थी तब कुछ अज्ञात लोगों ने उससे छेड़खानी की कोशिश की और उसका पीछा किया जिसकी वजह से यह हादसा हुआ। एक वायरल वीडियो में कथित रूप से सुदीक्षा का भाई यह कह रहा है कि वह मोटरसाइकिल चला रहा था तभी एक बुलेट मोटरसाइकिल पर सवार कुछ लोग उसके वाहन के आगे आए और अचानक ब्रेक लगा दी। उनकी मोटरसाइकिल की नंबर प्लेट पर 'जट बॉयज' लिखा हुआ था और गाड़ी नंबर की शुरुआत 'यूपी 13' से थी। अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सुदीक्षा के भाई ने घटना के समय पुलिस को छेड़खानी के बारे में कुछ नहीं बताया था।

3.80 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति जीती

बहरहाल, बुलंदशहर के जिला अधिकारी रवींद्र कुमार ने कहा कि वह छेड़खानी के आरोपों की जांच करा रहे हैं। इस मामले से संबंधित सभी लोगों के बयान दर्ज किए जाएंगे और सबूतों के आधार पर जांच होगी। उन्होंने कहा कि सुदीक्षा का छोटा भाई बिना हेलमेट लगाए गाड़ी चला रहा था। छह भाई-बहनों में सबसे बड़ी सुदीक्षा बहुत मेधावी छात्रा थी और वह 3.80 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति जीतकर अमेरिका के मैसाचुसेट्स स्थित बाबसन कॉलेज से एंटरप्रेन्योरशिप में ग्रेजुएशन का कोर्स कर रही थी। वह कोविड-19 महामारी की वजह से गौतम गौतमबुद्ध नगर स्थित अपने घर में रुक गई थी और उसे 20 अगस्त को अमेरिका वापस जाना था।

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी ने इस मामले पर कहा कि सामने एक मोटरसाइकिल जा रही थी जिसमें ब्रेक लगने की वजह से यह हादसा हुआ। सुदीक्षा सड़क पर गिरी और सिर में चोट लगने के कारण उसकी दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु हो गई। यह पता लगा कि उसने हेलमेट नहीं लगाई थी। अभी तक की जो जानकारी है उसमें एक्सीडेंट निश्चित रूप से है और बाकी जांच के दौरान लोगों से पूछा जाएगा और जो भी सामने आएगा, उस हिसाब से जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।

इस बीच, राष्ट्रीय महिला आयोग ने उत्तर प्रदेश पुलिस से कहा है कि वह इस घटना की स्वतंत्र निष्पक्ष और तेजी से जांच करे। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एचएसी अवस्थी को भेजे गए नोटिस में कहा है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए मामले से जुड़े सीसीटीवी फुटेज की गहराई से जांच हो और तफ्तीश की विस्तृत रिपोर्ट जल्द से जल्द आयोग को भेजी जाए।

विपक्ष हमलावर

इस बीच, विपक्ष ने इस मुद्दे पर राज्य सरकार को घेरा है। बसपा अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'बुलन्दशहर में बाईक पर जा रही होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी को मनचलों की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी, जो अति-दुःखद, अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय। बेटियाँ आखिर कैसे आगे बढ़ेंगी? यूपी सरकार तुरन्त दोषियों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करे, बीएसपी की यह पुरजोर माँग है।' कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में सुदीक्षा का एक वीडियो टैग करते हुए कहा कि सुदीक्षा की ये भावनात्मक स्पीच सुनिए। यूपी की इस बेटी का कहना था कि उसकी उम्र की बहुत सारी लड़कियों को छेड़खानी के चलते पढ़ाई छोड़नी पड़ती है। आज इसी समस्या ने सुदीक्षा की जान ले ली। सरकार पूछेगी समस्या का हल कहां हैं? समस्या का हल बेटियों की आवाज में है? लेकिन आप सुनिए तो!

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर