दो घंटे से अधिक समय तक कार के अंदर फंसी रही दो बच्चियां, दम घुटने से हुई मौत

4 साल और 7 साल के दो बच्चियों की घुट-घुट कर इसलिए मौत हो गई क्योंकि वे दोनों कार के अंदर करीब 2 घंटे से ज्यादा समय तक बंद होकर फंस गए थे। दिल दहला देने वाला ये मामला तमिलनाडु का है।

two girls died by suffocating in car
कार के अंदर दम घुटने से दो बच्चियों की मौत  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • कार के अंदर फंसकर दम घुटने से दो बच्चियों की मौत
  • दिल दहला देने वाला ये मामला तमिलनाडु का है
  • पड़ोसियों की नजर पड़ने पर मामले का हुआ खुलासा

विल्लुपुरम : तमिलनाडु के कलाकुरिची जिले के एक गांव में 4 साल और 7 साल के दो बच्चियों की घुट-घुट कर इसलिए मौत हो गई क्योंकि वे दोनों कार के अंदर करीब 2 घंटे से ज्यादा समय तक बंद होकर फंस गए थे। दिल दहला देने वाला ये मामला गुरुवार का है। वे दोनों कार के अदंर फंस गए थे और कार चारों तरफ से बंद हो गया था। किसी की नजर भी उस कार की तरफ नहीं पड़ी कि उन दोनों को वहां से निकाला जा सके। तब तक उन दोनों की बिना ऑक्सीजन के घुट-घुटकर मौत हो गई थी। 

बताया जाता है कि कार घर के पास ही पार्क थी। जब आने जाने वालों की नजर कार पर पड़ी और उसके अंदर बेहोश दो बच्चियों पर पड़ी तो उन्होंने घर वालों को खबर की। घरवालों ने फौरन उन्हें लेकर पास के सरकारी अस्पताल में पहुंचे जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। इस मामले में पुलिस ने कार के मालिक को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है।

7 वर्षीय ई राजेश्वरी और 4 वर्षीय ए वनिता दोनों उसी जिले के उसी गांव के दो किसान की बेटियां थी। ये घटना गुरुवार को तब हुई जब वे दोनों अपने घर के बाहर की गलियों में खेल रही थीं। जानकारी के मुताबिक वे पास में ही अपने पड़ोस राजा के कार के उपर चढ़कर खेल रही थीं। कार दो साल पहले एक एक्सीडेंट में डैमज हो चुकी थी जो पड़ोसी के घर के सामने काफी समय से पार्क की हुई थी।

पुलिस के मुताबिक कार के चारों दरवाजे कार के बाहर की तरफ से खोले जा सकते थे लेकिन अंदर की तरफ से खोले नहीं जा सकते थे। वे लड़कियां कार के अंदर फस गई थी और कार का दरवाजा अंदर से नहीं खोल पा रही थी। कुछ आस पड़ोस के लोगों ने उन दोनों लड़कियों को कार के अंदर बेहोश अवस्था में देखा को उसके परिजनों को खबर की। सूचना मिलने के बाद उन दोनों को सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने ग्रामीणों की सूचना के आधार पर इसकी जांच शुरू कर दी है। अभी तक किसी ने इस मामले में शिकायत दर्ज नहीं कराई है। हम ने सीआरपीसी की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत केस दर्ज कर इसकी जांच शुरू कर दी है। बच्चियों के शव का पोस्टमार्टम कर उनकी बॉडी उनके परिजनों को सौंप दिया गया है।    

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर