रेप की शिकायत दर्ज कराने पीड़‍िता को करना पड़ा लखनऊ से नागपुर 800 किमी सफर

Nagpur Crime news: लखनऊ में आरोपी की धमकियों से डरकर एक दुष्‍कर्म पीड़िता 800 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय कर शिकायत दर्ज कराने नागपुर पहुंची।

रेप की शिकायत दर्ज कराने पीड़‍िता को करना पड़ा 800 किमी सफर
रेप की शिकायत दर्ज कराने पीड़‍िता को करना पड़ा 800 किमी सफर  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • दुष्‍कर्म की शिकायत दर्ज कराने के लिए पीड़‍िता को 800 किमी की यात्रा करनी पड़ी
  • उसके साथ लखनऊ में यह हरकत हुई थी, जिसकी श‍िकायत उसने नागपुर में दर्ज कराई
  • पीड़‍िता का कहना है कि आरोपी ने उसे पुलिस से संपर्क करने पर गंभीर पर‍िणाम भुगतने की धमकी दी थी

नागपुर : आरोपी की धमकियों से डरकर दुष्‍कर्म पीड़‍िता को 800 किलोमीटर दूर लखनऊ से नागपुर पहुंचकर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कराना पड़ा। दुष्‍कर्म की यह शिकायत एक नेपाली युवती (22) ने दर्ज कराई है, जिसका कहना है कि आरोपी ने लखनऊ में पुलिस से इस मामले की शिकायत करने पर डराया-धमकाया था। युवती को यहां एक मित्र ने जीरो एफआईआर दर्ज कराने में मदद की।

महिला की शिकायत के अनुसार, वह 2018 में नेपाल से नौकरी के लिए भारत आई थी। इस साल मार्च से वह लखनऊ में फैजाबाद स्थित एक किराये के फ्लैट में अपनी एक दोस्‍त के साथ रह रही थी। इसी दोस्‍त के जरिये वह प्रवीण राजपाल यादव नाम के संपर्क में आई, जो दुबई में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम करता था। उनके बीच वीडियो कॉल पर बातचीत हुई।

ब्‍लैकमेल करने लगा आरोपी

पीड़िता के मुताबिक, उसने अपनी दोस्त को 1.5 लाख रुपये दिए थे और जब उसने ये पैसे मांगे तो उसने पैसे नहीं लौटाए और उसे मारना-पीटना तथा परेशान करना शुरू कर दिया। पीड़िता ने इस बारे में यादव से शिकायत की, जिसने फिर लखनऊ के एक होटल में उसके लिए एक कमरा बुक किया और उसे वहां शिफ्ट करने के लिए कहा। कुछ दिनों के बाद, आरोपी भी दुबई से लखनऊ आ गया।

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता ने अपनी श‍िकायत में कहा है कि आरोपी शख्‍स होटल में उससे मिला और उसे नशीली दवा खिलाकर उसके साथ दुष्‍कर्म किया। आरोपी ने पीड़िता की कुछ आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियो भी शूट किए। अधिकारी ने कहा कि वह उसे लखनऊ में एक दोस्त के यहां ले गया, जहां उसने फिर से उसे नशीली दवाएं दीं और उसके साथ दुष्‍कर्म किया।

आरोपी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पीड़िता की कुछ तस्वीरें भी अपलोड कीं और अपनी बात नहीं मानने तथा पुलिस से शिकायत करने पर उसे वायरल करने की धमकी दी। पीड़‍िता किसी तरह भागने में सफल रही और 30 सितंबर को एक नेपाली दोस्त के पास नागपुर पहुंची, जां उसने आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर