Faridabad Murder Case: आरोपी तौसीफ का कबूलनामा-'किसी और से शादी करने जा रही थी निकिता, इसलिए उसे मारा'

बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता की हत्या उस समय हुई जब वह सोमवार दोपहर पेपर देकर कॉलेज से वापस आ रही थी। आरोपी तौफीक कार में सवार होकर अपने दोस्त के साथ कॉलेज के बाहर नितिका का इंतजार कर रहा था।

Faridabad murder Case:  family alleges 'love jihad' accused confesses to crime
निकिता मर्डर केस।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • बल्लभगढ़ में सोमवार को कॉलेज के बाहर दिनदहाड़े हुई निकिता तोमर की हत्या
  • पेपर देकर कॉलेज से बाहर निकली थी बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता
  • लड़की के परिवार ने आरोपी तौसीफ पर 'लव जिहाद' का आरोप लगाया है

फरीदाबाद (हरियाणा) : फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में 20 साल की छात्रा नितिका तोमर की दिनदहाड़े हुई हत्या घटना पर पूरे देश में गुस्सा देखा जा रहा है। पीड़ित लड़की के परिवार वालों ने इसे 'लव जिहाद' का मामला बताया है। रिपोर्टों के मुताबिक आरोपी तौसीफ ने हत्या की बात कबूल ली है और पुलिस से पूछताछ में उसने हत्या की वजह बताई है। सूत्रों के मुताबिक तौसीफ का कहना है कि निकिता की शादी किसी और से होने वाली थी और यह बात उसे पसंद नहीं थी। पुलिस ने तौसीफ के दूसरे सहयोगी एवं आरोपी रेहान को भी गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद से हरियाणा पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं। 

बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता की हत्या उस समय हुई जब वह सोमवार दोपहर पेपर देकर कॉलेज से वापस आ रही थी। आरोपी तौसीफ कार में सवार होकर अपने दोस्त के साथ कॉलेज के बाहर नितिका का इंतजार कर रहा था। निकिता के वहां पहुंचने पर उसने उसे जबरन कार में बिठाने की कोशिश की लेकिन निकिता ने इसका विरोध किया। इसके बाद तौसीफ ने नजदीक से उसे गोली मार दी। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ है। 

पुलिस ने दोनों आरोपियों को दबोचा
दिनदहाड़े हत्या का सनसनीखेज वारदात सामने आने के बाद हरियाणा पुलिस सक्रिय हो गई। आरोपियों को दबोचने के लिए पुलिस की 10 टीमें बनाई गईं और पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी को पकड़ लिया। मंगलवार को मामले का दूसरा आरोपी भी पुलिस की गिरफ्त में आ गया।

दो दिन की पुलिस रिमांड में आरोपी 
मुख्य आरोपी तौसीफ गुरुग्राम के सोहना इलाके के कबीर नगर का रहने वाला है। निकिता और तौसीफ के बीच पहले से जान पहचान थी। जबकि दूसरा आरोपी रेहान मेवात का रहने वाला है। पुलिस ने पूछताछ के लिए दोनों आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है। फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह का कहना है कि तौसीफ ने साल 2018 में भी निकिता का अपहरण किया था। इस संबंध में बल्लभगढ़ पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज है। बाद में निकिता और तौसीफ के बीच समझौता हो जाने पर मामला रफा-दफा हो गया। पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

परिवार का 'लव जिहाद' का आरोप
पीड़िता के पिता मूलचंद तोमर ने तौसीफ पर 'लव जिहाद' का आरोप लगाया है।  मूलचंद ने कहा, 'तौसीफ निकिता से शादी करना चाहता था और इसके लिए वह धर्म परिवर्तन करने के लिए उस पर लगातार दबाव बना रहा था लेकिन निकिता इसके लिए तैयार नहीं थी। एफआईआर में लव जिहाद का जिक्र नहीं है लेकिन पुलिस का कहना है कि वह आगे जांच के बाद इसे जोड़ेगी।' 

पीड़िता के भाई नवीन का कहना है, 'साल 2018 में तौसीफ शादी के लिए निकिता पर दबाव बना रहा था। यहां तक कि उसने निकिता का अपहरण कर लिया जिसके बाद हमने एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था लेकिन सामाजिक लोकलाज को देखते हुए हमने अपनी शिकायत वापस ले ली। यह मामला लव जिहाद का है। जब वह अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाया तो उसने गोली मार दी। साल 2018 में तौसीफ के परिवार का एक व्यक्ति मंत्री था। उसने भी हम पर दबाव डाला था।'

आरोपी के हैं राजनीतिक रसूख
निकिता का संबंध जहां एक मध्यमवर्गीय परिवार से हैं। वहीं, फिजियोथेरेपी के तीसरे साल के छात्र तौसीफ एक संभ्रांत परिवार से ताल्लुक रखता है। तौसीफ के पिता नूंह में वकील है और उनके राजनीतिक रसूख हैं। तौसीफ के दादा कबीर अहमद मेवात से विधायक रह चुके हैं। उसके दादा के भाई खुर्शीद अहमद की गिनती मेवात के बड़े नेताओं में होती है।  तौसीफ का चचेरा भाई आफताब अहमद नूंह विधानसभा से कांग्रेस विधायक है। 

निकिता-तौसीफ के बीच फोन पर हुई बातचीत 
आरोपी तौसीफ ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि निकिता की शादी किसी और के साथ होने वाली थी इसलिए उसने उसकी हत्या कर दी। रिपोर्ट के मुताबिक अब तक की जांच में यह भी स्पष्ट हुआ है कि 24-25 अक्टूबर की रात में तौसीफी और निकिता के बीच फोन पर बातचीत हुई थी। पुलिस के मुताबिक दोनों के बीच यह बातचीत 1000 सेकेंड (16 मिनट) से ज्यादा समय तक हुई। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ के दौरान तौसीफ ने यह भी बताया कि उसने 2018 में हुई अपनी गिरफ्तारी का बदला लेने के लिए भी निकिता की हत्या की। तौसीफ के मुताबिक, 'गिरफ्तार हो जाने की वजह से मैं अपनी मेडिकल की पढ़ाई पूरी नहीं कर सका, इसलिए मैंने बदला लिया।' 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर