कॉन्स्टेबल की दरिंदगी! 'पापा' नहीं बोलने पर डेढ़ साल की मासूम को सिगरेट से दागा

Crime news: छत्‍तीसगढ़ के बालोद जिले से रूह कंपा देने वाली वारदात सामने आई है, जहां एक कॉन्‍सटेबल ने डेढ़ साल की मासूम को सिर्फ इसलिए सिगरेट से दाग दिया, क्‍योंकि उसने उसे पापा नहीं बोला।

कॉन्स्टेबल की दरिंदगी! 'पापा' नहीं बोलने पर डेढ़ साल की मासूम को सिगरेट से दागा
कॉन्स्टेबल की दरिंदगी! 'पापा' नहीं बोलने पर डेढ़ साल की मासूम को सिगरेट से दागा 

मुख्य बातें

  • एक कॉन्‍सटेबल ने डेढ़ साल की मासूम को कई जगह सिगरेट से दाग दिया
  • आरोप है कि वह बच्‍ची पर उसे 'पापा' बोलने के लिए दबाव बना रहा था
  • बच्‍ची ने जब ऐसा नहीं किया तो वह हैवानियत पर उतर आया

रायपुर : छत्तीसगढ़ के बालोद जिले से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है, जहां एक कॉन्‍सटेबल ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दी। कॉन्स्टेबल ने डेढ़ साल की मासूम को सिर्फ इसलिए सिगरेट से जगह-जगह दाग दिया, क्‍योंकि वह उस पर पापा बोलने के लिए दबाव बना रहा था, जबकि वह कोई जवाब नहीं दे रही थी। आरोपी पुलिसकर्मी के सेवा मुक्‍त करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है।

बालोद जिले के पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि आरोपी कॉन्स्टेबल अविनाश राय को गिरफ्तार कर लिया है, जिस पर बीते गुरुवार को बच्‍ची को उसके चेहरे व शरीर पर कई जगह पर सिगरेट से दागने तथा उसकी मां के साथ मारपीट का आरोप है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने राय के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। उसे शनिवार को दुर्ग जिले के भिलाई शहर से गिरफ्तार किया गया।

कॉन्‍सटेबल ने महिला को दिए थे उधार

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, आरोपी कॉन्‍सटेबल की पोस्टिंग पहले बालोद जिले में ही थी। एक महीने पहले ही उसका तबादला दुर्ग जिले में किया गया था। बालोद में पोस्टिंग के दौरान वह शहर के सिवनी क्षेत्र में पीड़‍ित महिला के घर में रहता था। महिला का पति नागपुर में रहता है। यहां रहने के दौरान उसने महिला को कुछ पैसे उधार दिए थे, जिसे वापस लेने के लिए वह 24 अक्‍टूबर को उसके घर पहुंचा।

महिला ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा है कि इसके बाद वह वहीं रुका हुआ था। गुरुवार (29 अक्‍टूबर) की रात उसने बच्ची से कहा कि वह उसे पापा कहे। बच्ची ने ऐसा नहीं किया, जिसके बाद उसने उसके चेहरे, पेट और हाथ में कई जगह पर जलती सिगरट से दाग दिया। महिला ने जब आपत्ति जताई तो बच्‍ची को बचाने की कोशिश की तो उसने उसके साथ भी मारपीट की और वहां से फरार हो गया।

इसके बाद से ही अरोपी कॉन्‍सटेबल फरार था, जिसे शनिवार सुबह दुर्ग जिले से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है, जिसके आधार पर आरोपी कॉन्‍सटेबल के खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर