Amravati: उमेश कोल्हे की हत्या के मामले में 7वां आरोपी गिरफ्तार, मास्टरमाइंड शेख इरफान शेख रहीम गिरफ्तार

Umesh Kolhe murder case: अमरावती में 54 साल के फार्मसिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या 21 जून को हुई। उमेश कोल्हे ने नुपुर शर्मा का समर्थन किया था इसलिए उनकी हत्या कर दी गई। इस मामले में NIA जांच कर रही है।

Umesh Kolhe
उमेश कोल्हे (फाइल फोटो) 
मुख्य बातें
  • केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उमेश कोल्हे हत्याकांड की NIA जांच के आदेश दे दिए
  • उदयपुर से पहले महाराष्ट्र के अमरावती में उमेश कोल्हे नाम के व्यक्ति की हत्या हुई थी
  • इस हत्याकांड की वजह भी नुपुर शर्मा का समर्थन ही बताया जा रहा

अमरावती के उमेश कोल्हे हत्याकांड में पुलिस ने 7वें आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। सिटी कोतवाली थाना के पुलिस निरीक्षक नीलिमा अराज ने कहा कि हत्या की घटना से जुड़े सातवें आरोपी को पुलिस ने नागपुर से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मास्टरमाइंड शेख इरफान शेख रहीम को गिरफ्तार कर लिया है। पहले छह आरोपियों की पहचान 22 साल के मुदस्सिर अहमद; शाहरुख पठान 25 साल; अब्दुल तौफिक 24 साल; शोएब खान 22 साल; अतिब रशीद 22 साल और युसूफकान बहादुर खान 44 साल के रूप में हुई है। डीसीपी विक्रम साली ने पहले कहा था कि अमरावती से अब तक कुल छह आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। जांच के दौरान हमने पाया कि उमेश कोल्हे ने नुपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था और यह घटना उस पोस्ट की वजह से हुई।

इस बीच, उमेश कोल्हे के भाई महेश कोल्हे ने कहा कि कोल्हे की मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। कोल्हे ने नुपुर शर्मा के बारे में कुछ व्हाट्सएप ग्रुपों में कुछ संदेश फॉरवर्ड किए थे, लेकिन व्यक्तिगत रूप से किसी को नहीं भेजा था। 21 जून की रात जब मेरा भाई दुकान बंद करके अपने घर जा रहा था तभी कुछ लोगों ने उस पर हमला कर दिया और उस पर चाकू से वार कर दिया गया। जब मैं वहां पहुंचा तो उसकी मौत हो चुकी थी। 

इससे पहले आज, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को उमेश कोल्हे की नृशंस हत्या की जांच करने का निर्देश दिया। एनआईए की एक टीम ने शनिवार को अमरावती शहर का दौरा किया। केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे (54) की 21 जून को मौत हो गई थी। एक अधिकारी ने कहा कि औरंगाबाद से राज्य पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) की एक टीम भी शहर का दौरा कर रही है।

उमेश कोल्हे की हत्या पर अमरावती सांसद नवनीत राणा ने कहा कि हमने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा और उन्होंने एनआईए भेजकर कार्रवाई की। 12 दिनों के बाद अमरावती सीपी मीडिया के सामने आईं और कहा कि मामला उदयपुर हत्याकांड जैसा है और नुपुर शर्मा के बारे में पोस्ट की गई सामग्री से संबंधित है। 12 दिन बाद वह घटना पर सफाई दे रही हैं। उसने पहले कहा कि यह डकैती है और मामले को दबाने की कोशिश की। अमरावती सीपी के खिलाफ भी जांच हो। 

ऐसे किया हमला

21 जून की रात तकरीबन साढ़े 10 बजे उमेश कोल्हे अपनी दुकान से घर की ओर मोटर साइकिल से निकले थे। उनकी पत्नी और बेटा एक दूसरी मोटर साइकिल से साथ निकला था। रास्ते में उमेश कोल्हे को 2 मोटर साइकिल सवार हमलावरों ने रोका और उनमें से एक कोल्हे के गले पर धारदार हथियार से हमला किया। इस मामले में पुलिस ने 22 साल के मुदासिर अहमद, 25 साल के शाहरुख पठान को 23 जून को गिरफ्तार कर लिया। 24 साल के अब्दुल तौफीक, 22 साल के शोएब खान और 22 साल के आतिब राशिद को बाद में गिरफ्तार किया गया। हत्याकांड में मास्टरमाइंड बताया जा रहा शमीम अहमद फिरोज अभी फरार है। आरोपों के मुताबिक शमीम ने ही हमलावरों को बाइक मुहैया करायी और पैसों का इंतजाम किया।

अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या, सुनिए उनके भाई महेश कोल्हे ने क्या कहा

Amravati murder: हत्यारों का CCTV फुटेज आया सामने, बाइक पर उमेश का पीछा करते दिखे हत्यारे

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर