हैदराबाद के खिलाफ चेन्नई की जीत के बाद क्या बोले कैप्टन कूल

Jeet ke baad MS Dhoni ka bayan: सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ चेन्नई सुपर किंग्स की 13 रन के अंतर से जीत के बाद एमएस धोनी ने बताया क्या रही जीत की कुंजी? 

CSK-Captain-MS-Dhoni
चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी( साभार IPL) 
मुख्य बातें
  • धोनी ने चेन्नई की कमान संभालते ही दिलाई चेन्नई को पहली जीत
  • हैदराबाद नहीं हासिल कर सकी जीत के लिए 203 रन का लक्ष्य
  • स्पिनर्स ने कसी हुई गेंदबाजी करते हुए हैदराबाद की मुश्किल की थी जीत

पुणे: रवींद्र जडेजा के सीएसके की कप्तानी छोड़ने के बाद एमएस धोनी की कप्तानी में चेन्नई ने 13 रन के अंतर से जीत दर्ज की। यह चेन्नई की सीजन में अबतक खेले 9 मैच में तीसरी जीत थी। मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई ने रुतुराज गायकवाड़ और कीवी बल्लेबाज डेवोन कॉन्वे के बीच पहले विकेट के लिए हुई 182 रन की साझेदारी की बदौलत 2 विकेट पर 202 रन का स्कोर हैदराबाद के खिलाफ खड़ा किया था। ऐसे में जीत के लिए मिले 203 रन के लक्ष्य को हैदराबाद टीम 13 रन के अंतर से हासिल करने से चूक गई। 

कप्तान बदलने से कुछ नहीं बदलता 
टीम की जीत के बाद चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी ने खुशी जताते हुए कहा, बतौर कप्तान मैंने कुछ भी अलग नहीं किया, जब आप एक ही ड्रेसिंग रूम में होते हैं तो आप वही बातें बार-बार कहते रहते हैं। यह कप्तान के बदलाव के साथ ज्यादा बदलाव जैसा नहीं है। हमें जो लक्ष्य मिला वह अच्छा था। कप्तान बदलने से बहुत सारी चीजें नहीं बदलती हैं। फर्क सिर्फ इतना था कि हमने अच्छी शुरुआत की और बल्ले से शुरुआती ओवरों का पूरा फायदा उठाया। हमने विरोधी गेंदबाजों को उस जगह पर गेंदबाजी के लिए मजबूर किया जहां हम शॉट खेलना चाहते थे। मेरे लिहाज से हमने जो लक्ष्य दिया वो काफी अच्छा था।

स्पिनर्स ने सुनिश्चित की जीत
धोनी ने टीम की गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कहा, अच्छी बल्लेबाजी के बाद हमें अच्छी गेंदबाजी की दरकार थी क्योंकि ओस बाद में आने वाली थी जो मुश्किल खड़ी करती, वो चरण हमारे लिए अच्छा साबित हुआ जब 6 ओवर के बाद स्पिनर्स गेंदबाजी कर रहे थे। पिच पर गेंद थोड़ी रुककर आ रही थी, मुझे पता था कि ऐसा बहुत देर तक नहीं रहने वाला है ऐसे में स्पिनर्स को लगाकर जरूरी रन रेट को बढ़ाने की कोशिश की और ऐसा कर पाने सफल रहे। अंत में हमारे पास बचाव करने के लिए थोड़े से अतिरिक्त रन थे। स्पिनर्स की अच्छी गेंदबाजी हमारी जीत की कुंजी साबित हुई। 

अच्छी शुरुआत के बाद हैदराबाद हासिल कर सकती थी लक्ष्य 
एमएस धोनी ने आगे कहा, ऐसा नहीं था कि विरोधी टीम लक्ष्य को नहीं हासिल कर सकती थी। 200 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए विपक्षी टीम भी अच्छी शुरुआत के जरिए वापसी कर सकती थी लेकिन हमारे स्पिनरों ने सुनिश्चित किया कि ऐसा न हो। हमने बल्ले से काफी अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन हमने कई बाद एक दो ओवरों में 25-26 रन दे दिए। जब आप 200 रन भी बनाएं लेकिन जब विरोधी टीम 19 ओवर में 170-185 रन बना लेती है ऐसे में गेंद का रुख बदल जाता है। अचानक से गेंदबाज दबाव में आ जाते हैं। 

धोनी ने बताया मैच विनिंग फॉर्मूला
धोनी ने हाई स्कोरिंग मैचों में गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा, आपकी गेंदों पर शॉट लग सकते हैं और मैं इसे ज्यादा तवज्जो नहीं देता हूं। गेंदबाजों को कुछ अलग करने की कोशिश करनी चाहिए। अगर गेंदबाज यॉर्कर डालने की कोशिश करते हैं और वो नहीं पड़ती है तो उन्हें कुछ अगल कोशिश करनी चाहिए। ये मत सोचिए कि ऐसा होने वाला है। मैं अपने गेंदबाजों से कहता हूं कि आपके ओवर में चार छक्के पड़ सकते हैं। लेकिन जो दो गेंद आप बचाते हैं अंत में वही 2 गेंद आपको हाई स्कोरिंग मैच जिताती है। क्योंकि बहुत सारे गेंदबाज ओवर में चार या पांच छक्के पड़ने से घबरा जाते हैं। अगर दो छक्कों की जगह आप दो चौके पड़वाते हैं तो वो भी मैच जिताने में मददगार साबित होता है। मुझे लगता है कि ये थ्योरी काम करती है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें IPL 2022 News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर