IPL 2022: 'वो समय बहुत कठिन था, मेरे पिता 2-3 दिन भूखे रहे थे', रिंकू सिंह ने अपने संघर्ष की कहानी बताई

Rinku Singh on his struggles: कोलकाता नाइटराइडर्स के बल्‍लेबाज रिंकू सिंह ने अपनी शानदार बल्‍लेबाजी से लोगों का दिल जीता है। रिंकू सिंह ने अपने कठिन समय को याद किया और बताया कि उनके पिता ने 2-3 दिन का खाना नहीं खाया था।

Rinku Singh
रिंकू सिंह 
मुख्य बातें
  • रिंकू सिंह ने केकेआर के लिए शानदार प्रदर्शन करके सुर्खियां बटोरी
  • रिंकू सिंह ने बताया कि पिछले पांच साल उनके लिए काफी कठिन थे
  • रिंकू ने बताया कि चोट के बारे में जानकर उनके पिता ने 2-3 खाना नहीं खाया था

मुंबई: कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज रिंकू सिंह आखिरी मैच में अपनी बल्लेबाजी से सुर्खियों में आ गए हैं, जहां उन्होंने 15 गेंदों पर 40 रन की पारी से क्रिकेट जगत में हलचल मचा दी। उनके क्रिकेट सफर में मध्य के दौरान चोट की आशंका और 2019 में बीसीसीआई द्वारा अबू धाबी में एक टी20 टूर्नामेंट में खेलने के लिए तीन महीने का निलंबन भी शामिल है। रिंकू ने घरेलू स्तर पर उत्तर प्रदेश के लिए ढेर सारे रन बनाए और धीरे-धीरे सफलता की सीढ़ियों को पार करते गए।

बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने कहा कि उनके करियर के पिछले पांच साल चुनौतीपूर्ण रहे, लेकिन चोट के समय में भी उन्होंने आत्मविश्वास नहीं खोया। अलीगढ़ के बल्लेबाज ने कहा कि उनके पिता ने 2-3 दिनों तक खाना नहीं खाया, जब उन्होंने उनकी चोट के बारे में सुना।

केकेआर के आधिकारिक फेसबुक पेज पर अपलोड किए गए एक वीडियो पर सिंह ने कहा, 'मैं इतने लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहकर खुश नहीं था। मेरे पिता ने 2-3 दिनों तक खाना नहीं खाया। तब मैंने उनसे कहा कि चोट क्रिकेट का हिस्सा है। मैं अपने घर का एकमात्र कमाने वाला हूं, जिसमें अगर मुझे चोट लग जाए तो यह परिवार के लिए चिंताजनक का विषय बन जाता है।'

केकेआर ने भरोसा कायम रखा

उन्होंने आगे बताया, '5 साल मेरे लिए वास्तव में कठिन थे। पहले साल के बाद जब मुझे केकेआर के लिए चुना गया और मुझे खेलने का मौका मिला, तो मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका। फिर भी केकेआर ने मुझ पर बहुत भरोसा जताया और उन्होंने मुझे अगले सीजन के लिए बरकरार रखा।'

12 अक्टूबर 1997 को अलीगढ़ में जन्मे रिंकू को किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) ने 2017 में चुना था, लेकिन उन्हें मौका नहीं मिला। उन्हें 2018 की नीलामी में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 80 लाख रुपये में चुना था। वह 2021 तक केकेआर के साथ रहे, जब वे घुटने की चोट के कारण आईपीएल से बाहर हो गए थे और बाद में उनकी जगह गुरकीरत सिंह मान ने ले ली थी।

हालांकि उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला, लेकिन उनकी शानदार कार्य नैतिकता, दोस्ताना स्वभाव और किसी भी तरह से टीम में योगदान करने की इच्छा ने उन्हें फ्रेंचाइजी के लिए प्रेरित किया और केकेआर ने उन्हें इस साल फरवरी में आईपीएल 2022 के लिए फिर से खरीदा।

चोट से ठीक होने का था विश्‍वास

उन्होंने आगे बताया, 'मैंने क्रिकेट में कड़ी मेहनत की। टीम ने कभी नहीं सोचा था कि मैं नीचे था। पिछला साल मेरे लिए काफी कठिन था क्योंकि विजय हजारे ट्रॉफी के दौरान डबल रन के दौरान मेरे घुटने में चोट लग गई थी। उन्होंने मुझे बताया कि मुझे ऑपरेशन की जरूरत है और ठीक होने के लिए 6-7 महीने की आवश्यकता होगी।' रिंकू ने आगे अपनी चोट को लेकर कहा, 'मैं थोड़ा दुखी था, लेकिन मुझे पता था कि मैं जल्दी ठीक हो जाऊंगा क्योंकि मुझे विश्वास था।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें IPL 2022 News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर