'पहले पिता को खोया, फिर मां...वो पूरी रात बात करती': मैच का हीरो बनकर भावुक हुए राशिद खान

Rashid Khan 'Man of the Match': आईपीएल 2020 में आखिरकार राशिद खान की फिरकी का कमाल देखने को मिल ही गया। अफगानी स्पिनर ने इस सीजन में अपना पहला 'मैन ऑफ द मैच' का खिताब जीता।

Rashid Khan
राशिद खान, Rashid Khan (SRH)  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • राशिद खान ने आईपीएल 2020 में जीता अपना पहला 'मैन ऑफ द मैच' खिताब
  • सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रन से मात दी
  • अबु धाबी में राशिद खान की फिरकी ने दिल्ली के बल्लेबाजों को खूब घुमाया

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के लिए जब सभी टीमें यूएई पहुंचीं तो सबको एक बात का अंदाजा था, कि यहां की पिचों पर स्पिनर अहम भूमिका निभा सकते हैं। ऐसे हालातों में टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दुनिया के नंबर.1 टी20 गेंदबाज से उम्मीदें तो जायज थीं। हम बात कर रहे हैं अफगानिस्तान के युवा स्पिनर राशिद खान (Rashid Khan) की जो मंगलवार को इस बार के आईपीएल में पहली बार चमके और उसके बाद भावुक होते हुए अपना दर्द बयां किया।

आईपीएल 2020 के इस 11वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली कैपिटल्स की भिड़ंत थीं। अबु धाबी में खेले गए इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 4 विकेट खोकर 162 रन बनाए थे। जवाब में उतरी दिल्ली कैपिटल्स की टीम 20 ओवर में 7 विकेट खोकर सिर्फ 147 रन बना पाई। दिल्ली के इस कमजोर प्रदर्शन की सबसे बड़ी वजह रहे राशिद खान।

दिल्ली के बल्लेबाजों को खूब घुमाया

राशिद खान ने इस मैच में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 4 ओवर में कुल 14 रन लुटाए और 3 विकेट झटके। राशिद ने जो तीन विकेट हासिल किए वो ऐसे-वैसे खिलाड़ियों के नहीं बल्कि विरोधी टीम के सबसे धुरंधर बल्लेबाज थे। राशिद ने सबसे पहले दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर (17) को अब्दुल समद के हाथों कैच कराया। उसके कुछ देर बाद दिग्गज भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन (34) को विकेटकीपर जॉनी बेयरस्टो के हाथों कैच आउट कराया। जबकि दिल्ली कैपिटल्स के सबसे धुआंधार बल्लेबाज रिषभ पंत (28) को भी कैच आउट कराया। इसके साथ ही उनको 'मैन ऑफ द मैच' पुरस्कार के लिए चुना गया।

मैच के बाद राशिद बोले- पहली गेंद फेंकते ही समझ गया कि..

शानदार जीत के बाद मैच के हीरो राशिद ने कहा, 'मुझे लगता है कि मुझ पर प्रदर्शन का दबाव नहीं रहता है। मेरा ध्यान इस चीज पर केंद्रित रहता है कि मुझे क्या करना है। मैं सही तरह से खेलने व खेल का लुत्फ उठाने पर ध्यान देता हूं। जब मैंने पहली गेंद फेंकी तब ही समझ गया था कि तेज और दम लगाकर फेंकूंगा तो टर्न जरूर मिलेगा। कप्तान (वॉर्नर) हमेशा मेरा समर्थन करता है और कहते हैं कि जो तुम करोगे सही करोगे। तुम मुझे बता देना तुम्हें क्या चाहिए। जब चीजें कभी ठीक नहीं होती तभी मैं कप्तान से राय मांगता हूं।'

बहुत दुखद समय से गुजरा हूं

राशिद ने आगे कहा, 'पिछला डेढ़ साल काफी मुश्किल भरा रहा। पहले पिता को खोया, फिर कुछ महीने बाद मां का भी निधन हो गया। वो मेरी सबसे बड़ी फैन थीं। ये पुरस्कार उनको समर्पित है। जब मैं अवॉर्ड जीता करता था वो पूरी रात मुझसे बातें करती थीं। मुश्किल समय।'

IPL(आईपीएल) 2020 से जुड़ी सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर