जब IPL को लगा सबसे बड़ा झटका, इस विवाद में ऊपर से लेकर नीचे तक सब हिल गए थे

IPL Spot-fixing: आठ साल पहले आईपीएल को एक बड़ा झटका लगा था, जिसने सभी को हैरान करना दिया था। यह मामला लीग में स्पॉट फिक्सिंग से जुड़ा था।

Sreesanth Ajit Chandila Ankeet Chavan
एस श्रीसंत, अंकित चंदीला और अंकित चव्हाण  |  तस्वीर साभार: Twitter

क्रिकेट जगत में अब तक कई ऐसे विवाद हो चुके हैं, जिन्हें देख सभी दंग रह गए। ऐसा ही एक मामला आठ साल पहले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सामने आया, जिसने ऊपर से लेकर नीचे तक सभी को हिलाकर रख दिया था। यह विवाद आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग से जुड़ा था और तीन खिलाड़ियों के पकड़े जाने के बाद लीग की छवि को गहरा धक्का पहुंचा था। दरअसल, आज ही के दिन यानी 16 मई, 2013 को दिल्ली पुलिस ने राजस्थान रॉयल्स एस श्रीसंत, अंकित चंदीला और अंकित चव्हाण को फिक्सिंग केस में गिरफ्तार  किया था।

देशभार 36 लोगों को किया गिरफ्तार 

दिल्ली पुलिस ने आईपीएल-6 के खिलाड़ी श्रीशंत, चंदीला और चव्हाण को मुंबई से गिरफ्तार किया था। पुलिस का कहना था कि 2013 में राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियंस के अलावा राजस्थान और किंग्स इलेवन पंजाब मैच में स्पॉट फिक्सिंग हुई थी। खिलाड़ियों समेत इस विवाद में देशभर से 36 लोगों गिरफ्तार किया गया था, जिनमें सटोरी भी शामिल थे। पुलिसा की स्पेशल सेल का दावा था कि पूरा सिंडिकेट अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम के इशारे पर चल रहा है। जांच के दौरान कई बड़े नामों को खुलासा किया और क्रिकेट चलाने वाले भी बेनकाब हुए। 

आरोपियों को नहीं मिली कोई सजा

पुलिस ने कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में धोखाधड़ी और आपराधिक षड़यंत्र के साथ-साथ मकोका लगाया गया था। तीनों क्रिकेटरों के अलावा दाऊद और छोटा शकील समेत 42 को आरोपी बनाया गया। हालांकि, 2015 में कोर्ट स्पेशल सेल की कहानी से संतुष्ट नजर आया और उसे खारिज कर दिया। बहस में ही आरोपी छूट गए थे। वहीं,  लोढा कमेटी ने राजस्थान रॉयल्स और चेन्न्ई सुपर किंग्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई की थी। दोनों टीमों पर दो-दो साल का बैन लगाया गया था। कमेटी ने चेन्नई के मालिक (बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष) एन श्रीनिवासन के दामाद गुरूनाथ मयप्‍पन और राजस्थान के सह-मालिक राज कुंद्रा पर क्रिकेट से जुड़ी किसी भी कार्यकलाप को लेकर आजीवन प्रतिबंध लगाया।

वापसी कर चुके हैं एस श्रीसंता

लोगों को सबसे ज्यादा  हैरानी भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत का नाम से हुई थी। भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी 20 मैच खेलने वाले श्रीसंत पर बीसीसीआई ने आजीवन प्रतिबंध लगाया, लेकिन वह कानूनी लड़ाई के बाद वापसी करने में कामयाब रहे। कि दिल्ली की एक विशेष अदालत ने उन पर लगे सभी आरोपों से उन्हें बरी कर दिया था। वहीं, 2018 में केरल उच्च न्यायालय ने बीसीसीआई द्वारा उन पर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को खत्म कर दिया था और उसके खिलाफ सभी कार्यवाही को भी रद्द कर दिया था।

 हालांकि, उच्च न्यायालय की एक खंडपीठ ने प्रतिबंध की सजा को बरकरार रखा था। श्रीसंत ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, जिसके बाद उनकी सजा कम करने निर्देश दिया गया। भारतीय बोर्ड ने उनकी आजीवन प्रतिबंध की सजा को घटाकर सात साल कर दिया था, जोकि पिछले साल अगस्त में समाप्त हो गई। इसके बाद के गेंदबाज ने पुदुचेरी के खिलाफ सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में मैच खेला और क्रिकेट में वापसी की। 
 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर