ड्रेसिंग रूम के करीब एक-दूसरे को मारने खड़े हो गए थे हरभजन सिंह और पाक क्रिकेटर, यह था विवाद का कारण

Harbhajan Singh fight with Mohammad Yusuf during 2003 world cup: हरभजन सिंह और पाकिस्‍तान के अनुभवी क्रिकेटर के बीच 2003 विश्‍व कप में ड्रेसिंग रूम के करीब जोरदार विवाद हुआ था। दोनों एक-दूसरे को मारने के लिए फोर्क लेकर खड़े हो गए थे।

harbhajan singh
हरभजन सिंह 
मुख्य बातें
  • ड्रेसिंग रूम के करीब हरभजन सिंह और मोहम्‍मद यूसुफ के बीच हुआ था विवाद
  • दोनों खिलाड़ी एक-दूसरे को मारने के लिए खड़े हो गए थे
  • यह घटना 2003 विश्‍व कप के दौरान हुई थी

नई दिल्‍ली: जब भी भारत और पाकिस्‍तान के बीच क्रिकेट मुकाबला होता है तो भावनाओं पर नियंत्रण करना मुश्किल हो जाता है। दोनों ही देश क्रिकेट को लेकर बेहद जुनूनी है और दोनों देशों में क्रिकेट को धर्म की तरह माना जाता है।  भारत और पाकिस्तान के बीच मैच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के किसी भी टूर्नामेंट में आकर्षण का केंद्र होता है क्योंकि दोनों देशों के बीच रिश्तों की संवेदनशील प्रकृति को देखते हुए उनमें बहुत कम खेल गतिविधियां होती हैं। 

जब भी दोनों देश आपस में खेलते हैं तो भावनाएं सराबोर होती हैं और इसकी लहर दोनों टीमों के ड्रेसिंग रूम तक भी बहती है। 2003 विश्‍व कप ऐसा मौका था जब खिलाड़ी भावनाओं में बहकर अपना आपा खो बैठे थे। हरभजन सिंह और मोहम्‍मद यूसुफ के बीच शारीरिक रूप से लगभग लड़ाई हो चुकी थी। दोनों खिलाड़‍ियों के हाथों में फोर्क थी, जिसे लेकर दोनों एक-दूसरे को मारने के लिए खड़े हो गए थे। टीम के साथियों ने इन दोनों खिलाड़‍ियों को दूर करके स्थिति को संभाला था।

2019 विश्‍व कप के दौरान हरभजन सिंह ने यह घटना बताई थी। पीटीआई से बातचीत में हरभजन सिंह ने कहा था, 'यह बात मजाक से शुरू हुई थी, लेकिन फिर मामला बहुत बढ़ गया था। मुझे उस मैच में नहीं खिलाया गया था और अनिल भाई खेल रहे थे। टीम प्रबंधन का मानना था कि पाकिस्‍तान के खिलाफ अनिल कुंबले का रिकॉर्ड शानदार है तो उन्‍हें मौका दिया गया था। मैं थोड़ा निराश था और जब आप प्‍लेइंग 11 में नहीं रहें तो ऐसा हो जाता है।'

सीनियर्स ने लगाई थी फटकार: हरभजन सिंह

हरभजन सिंह ने बताया, 'लंच टाइम के दौरान मैं एक टेबल पर बैठा था और दूसरी तरफ यूसुफ व शोएब अख्‍तर कॉमन एरिया में बैठे थे। हम दोनों पंजाबी में बात कर रहे थे और एक-दूसरे के मजे ले रहे थे कि तभी उन्‍होंने मुझ पर निजी टिप्‍पणी की आर फिर मेरे धर्म के बारे में कुछ कहा। मैंने उन्‍हें तगड़ा जवाब दिया। किसी को एहसास होता कि उससे पहले हमारे हाथों में फोर्क थी और हम एक-दूसरे पर हमला करने के लिए खड़े हो गए।'

भज्‍जी ने आगे कहा, 'राहुल द्रविड़ और जवागल श्रीनाथ भाई ने मुझे रोका जबकि वसीम अकरम व सईद अनवर भाई ने यूसुफ को रोका। इन लोगों ने हमें दूर कर दिया। दोनों टीम के सीनियर्स इससे काफी नाराज हुए और हमें कहा गया कि यह सही बर्ताव नहीं है।' हालांकि, हरभजन और यूसुफ अब बहुत अच्‍छे दोस्‍त हैं और इस घटना को याद करके बहुत हंसते भी हैं। याद दिला दें कि भारत और पाकिस्‍तान के बीच 2003 विश्‍व कप का मुकाबला सबसे रोमांचक मैचों में से एक था। सचिन तेंदुलकर (98) की पारी की बदौलत भारत ने पाकिस्‍तान को 6 विकेट से मात दी थी।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर