England vs West Indies: स्टुअर्ट ब्रॉड ने धमाकेदार पारी से कर दिया टेस्ट सीरीज में हार जीत का फैसला!

Stuart Broad hit 3rd fastest test fifty for England: इंग्लैंड के दिग्गज तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन अपनी धमाकेदार पारी की बदौलत अपनी टीम की सीरीज में जीत पक्की कर दी है।

Stuart Broad
अर्धशतक पूरा करने के बाद स्टुअर्ट ब्रॉड   |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • स्टुअर्ट ब्रॉड ने खेली 45 गेंद में 62 रन की धमाकेदार पारी
  • तीसरे टेस्ट की पहली पारी में महज 280 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे 8 विकेट
  • नौवें विकेट के लिए डॉम बीस के साथ 76 रन की साझेदारी कर टीम को 350 रन के पार पहुंचाया

मैनचेस्टर: इंग्लैंड के टेस्ट क्रिकेट इतिहास के दूसरे सबसे सफल तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने शनिवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे और निर्णायक मैच में 45 गेंद पर 62 रन की धमाकेदार पारी खेली। ब्रॉड ने ये पारी उस वक्त खेली जब उनकी टीम महज 280 रन पर 8 विकेट गंवाकर संघर्ष करती नजर आ रही थी। उन्होंने कैरेबियाई गेंदबाजों की धुनाई करते हुए अपनी टीम को न केवल 350 रन के पार पहुंचाया बल्कि एक तरह से मैच और सीरीज का परिणाम भी अपनी टीम के पक्ष में तय कर दिया। 

इस तरह कर दी जीत पक्की 
वेस्टइंडीज की टीम विदेशी धरती पर पहली पारी विरोधी टीम को 350 से ज्यादा रन बनाने देने के बाद केवल एक बार जीत हासिल कर सकी है। ये जीत भी उसे बांग्लादेश के खिलाफ साल 2012-13 में खुलना में हासिल हुई थी। इस मैच की पहली पारी में बांग्लादेश ने 387 रन बनाए थे और उसे मैच में 10 विकेट के अंतर से हार का मुंह देखना पड़ा था। ऐसे में स्टुअर्ट ब्रॉड ने अपनी धमाकेदार पारी की बदौलत इंग्लैंड को 350 रन के पार पहुंचाकर एक तरह से टीम की जीत दूसरे ही दिन पक्की कर दी है। 

इंग्लैंड के लिए तीसरा सबसे तेज अर्धशतक 
ब्रॉड ने 45 गेंद पर 62 रन की पारी के दौरान अपना अर्धशतक महज 33 गेंद में पूरा कर लिया। यह इंग्लैंड के टेस्ट क्रिकेट इतिहास में बल्लेबाज द्वारा बनाया गया तीसरा सबसे तेज अर्धशतक है। इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज अर्धशतक जड़ने का रिकॉर्ड महान ऑलराउंडर इयान बॉथम के नाम दर्ज है। उन्होंने साल 1981-82 में भारत के खिलाफ दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर महज 28 गेंद में अर्धशतक जड़ दिया था। इसके अलावा उन्होंने साल 1986 में न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड के ओवल मैदान पर 32 गेंद में पचास रन पूरे कर लिए थे। इस तरह पहले और दूसरे स्थान पर उनका कब्जा है। 

तीसरे स्थान पर स्टुअर्ट ब्रॉड के साथ दो अन्य खिलाड़ी एंड्रर्यू फ्लिंटॉफ और एलन लैंब शामिल हैं। एलन लैंब ने साल 1991-92 में न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑक्लैंड में और फ्लिंटॉफ ने कीवी टीम के ही खिलाफ वेलिंगटन में साल 2001-02 में 33 गेंद में अर्धशतक जड़ा था।

2017 के बाद पहला पचासा 
मैनचेस्टर से पहले ब्रॉड ने टेस्ट क्रिकेट में पिछली बार अर्धशतक दिसंबर 2017 में लगाया था। पिछले 82 टेस्ट मैच में वो केवल 2 बार पचास रन के आंकड़े को पार कर सके थे। उन्होंने शनिवार को इस संख्या को बढ़ाकर तीन कर दिया। यह साल 2013 के बाद उनके बल्ले से निकला सबसे बड़ा टेस्ट स्कोर है। इस पारी के दौरान उन्होंने 9 चौके और 1 छक्का जड़ा। ब्रॉड की यह पारी मैनचेस्टर में इंग्लैंड के लिए नंबर 10 पर बल्लेबाजी करने आए खिलाड़ी की सबसे बड़ी पारी है। 

अगली खबर