मध्‍यप्रदेश के इस खिलाड़ी में हैं सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे गुण, कोच चंद्रकांत पंडित ने किया खुलासा

Chandrakant Pandit on Rajat Patidar: चंद्रकांत पंडित ने बल्लेबाज रजत पाटीदार को खेल का महान छात्र बताया और कहा कि वह बहुत जल्दी गेंद की लाइन और लेंथ को पकड़ लेते हैं, जैसे कि सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली पकड़ लेते हैं।

Rajat Patidar
रजत पाटीदार 
मुख्य बातें
  • चंद्रकांत पंडित ने रजत पाटीदार की जमकर की तारीफ
  • पंडित ने कहा कि पाटीदार गेंद की लाइन जल्‍दी पकड़ लेते हैं
  • रजत पाटीदार ने एमपी को रणजी चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाई

बेंगलुरु: मध्य प्रदेश क्रिकेट टीम के कोच चंद्रकांत पंडित ने बल्लेबाज रजत पाटीदार को खेल का महान छात्र बताया और कहा कि वह बहुत जल्दी गेंद की लाइन और लेंथ को पकड़ लेते हैं, जैसे कि सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली पकड़ लेते हैं। मुंबई के खिलाफ रणजी ट्रॉफी फाइनल में एमपी का प्रतिनिधित्व करने वाले 28 वर्षीय पाटीदार ने पहली बार घरेलू ट्रॉफी जीतने में अपनी टीम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, दो पारियों में 122 रन और नाबाद 30 रन बनाए, जिससे टीम ने इतिहास रचने के लिए बेंगलुरु में छह विकेट जीत हासिल की।

इस सीजन में 20 लाख रुपये में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में शामिल होने वाले दाएं हाथ के बल्लेबाज ने आठ मैचों में 333 रन बनाए, जिसमें एक नाबाद शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं। परिस्थितियों को पढ़ने और शांति से अपने स्ट्रोक खेलने की उनकी क्षमता की आरसीबी में हर कोई सराहना करता है। पंडित ने कहा कि पाटीदार इस सीजन में एमपी के लिए खेले गए मैचों में लाइन और लेंथ को तेजी से पकड़ने में शानदार थे।

यह भी पढ़ें: भारतीय टीम में ज्यादा मौके नहीं मिलने से खफा थे चंद्रकांत पंडित, लेकिन कोचिंग ने बदल दी जिंदगी

पंडित ने कहा, 'गुणवत्ता वाला खिलाड़ी बहुत जल्दी लाइन और लेंथ को पकड़ लेते हैं। यह ऐसा है जैसे आप जानते हैं कि उनके पास अन्य खिलाड़ियों की तुलना में अतिरिक्त समय है। मैं किसी के साथ तुलना नहीं करना चाहता, लेकिन अगर मुझे नाम लेना ही तो रोहित शर्मा, विराट और तेंदुलकर के बारे में बात कर सकते हैं, उनके पास लाइन और लेंथ चुनने के लिए थोड़ा अतिरिक्त समय था। रजत भी ऐसा करते हैं।'

पंडित ने यह भी बताया कि पाटीदार को खेल का एक महान छात्र क्यों बनाता है। बुधवार को रॉयल चैलेंजर डॉट कॉम पर एक घटना को याद करते हुए कोच ने कहा, 'जलज सक्सेना ऑफ स्पिन गेंदबाजी कर रहे थे, ऑफ स्टंप के बाहर से गेंदबाजी करने की कोशिश कर रहे थे, जिस तरह से रजत उन्हें खेल कर रहे थे, मैंने पाया यह थोड़ा गलत था, लगा कि वह मुसीबत में पड़ सकते हैं। इसलिए, मैं ड्रेसिंग रूम में ऐसी गेंद को कैसे खेलना चाहिए।'

यह भी पढ़ें: पहली बार रणजी चैंपियन बनने पर मध्यप्रदेश टीम का राज्य में जोरदार स्वागत, खिलाड़ियों पर हुई 'फूलों की बरसात'

उन्होंने कहा, 'उन्होंने (पाटीदार) मुझे ड्रेसिंग रूम में दूसरे लड़कों को नॉन-स्ट्राइकर की ओर से दिखाते हुए देखा। उन्होंने उसी तरह खेलना करना शुरू किया। मैं हैरान था। जब वह चाय के समय आए, तो मैंने उनसे पूछा, 'कैसे तुम इस तरह से तुम खेलने लगे?' उन्होंने कहा, 'आप ड्रेसिंग रूम में दूसरे लड़कों को बता रहे थे और मैंने देखा कि आप उन्हें पैडिंग तकनीक दिखा रहे हैं, तो मैंन सीख लिया।' पंडित ने यह भी बताया कि पाटीदार ने अपनी मानसिकता को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत की है।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर