19 साल में बन गए 1000 करोड़ की संपत्ति के मालिक, ये हैं भारत के सबसे युवा अरबपति

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Sep 22, 2022 | 12:55 IST

IIFL Wealth Hurun India Rich List 2022: कैवल्य वोहरा और आदित पलीचा को फोर्ब्स मैग्जीन के प्रभावशाली '30 अंडर 30 (एशिया लिस्ट)' में ई-कॉमर्स कैटेगरी में भी शामिल किया गया था।

Zepto co founder Kaivalya Vohra became youngest Indian to join the list of millionaire in India
19 साल में कैवल्य बने 1000 करोड़ के मालिक,कैसे पाई इतनी दौलत?  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • कैवल्य वोहरा 1,000 करोड़ की संपत्ति वाले देश के सबसे युवा अमीर बने।
  • जेप्टो की स्थापना कैवल्य और आदित पलीचा ने की है।
  • जेप्टो मिनटों में किराने की डिलीवरी का वादा करती है।

नई दिल्ली। देश के युवा स्टार्टअप्स की दुनिया में तेजी से सफलता के कदम चूम रहे हैं। जेप्टो (Zepto) के को- फाउंडर ने महज 19 साल की उम्र में बड़ी कामयाबी हासिल की। कैवल्य वोहरा (Kaivalya Vohra) देश में करोड़पतियों की लिस्ट में शामिल होने वाली सबसे कम उम्र के भारतीय बन गए हैं। IIFL वेल्थ हुरुन इंडिया रिच लिस्ट 2022 (IIFL Wealth Hurun India Rich List 2022) के अनुसार, कैवल्य वोहरा की कुल संपत्ति 1,000 करोड़ रुपये है। वहीं उनकी टीम के साथी आदित पालीचा (Aadit Palicha) के पास सिर्फ 20 साल साल की उम्र में 1,200 करोड़ रुपये की निजी संपत्ति है।

कौन हैं कैवल्य वोहरा और आदित पालीचा?
वोहरा और पालीचा दोनों स्टैनफोर्ड के छात्र हैं। उन्होंने कारोबार के लिए विश्वविद्यालय के कंप्यूटर साइंस कोर्स को छोड़ने का फैसला किया था। वोहरा और पालीचा बचपन के दोस्त हैं। दोनों दुबई में पले-बढ़े हैं। भारत में उन्होंने कोरोना वायरस संकट के बीच तेजी से बढ़ते ऑनलाइन ग्रॉसरी डिलीवरी सेक्टर में काम करने का फैसला लिया था।

Hurun India Rich List: गौतम अडानी ने हर दिन कमाए 1600 करोड़ रु, जानें अंबानी से कितने अमीर हैं अडानी

फंडिंग से जुटाई मोटी रकम
शुरुआत में उनके उद्यम का नाम किरानाकार्ट (KiranaKart) था, एक ऐसा मंच जिसने ऑनलाइन डिलीवरी के लिए किराने की दुकानों के साथ पार्टनर किया था। बाद में, इसे Zepto के नाम से जाना गया और नवंबर 2021 में फंडिंग में 60 मिलियन डॉलर जुटाए। प्लेटफॉर्म ने 10 मिनट की ग्रॉसरी डिलीवरी का वादा किया। दिसंबर में एक और फंडिंग राउंड में, इसने 100 मिलियन डॉलर जुटाए, और इसकी कीमत 570 मिलियन डॉलर आ गई। इस साल मई तक, जेप्टो को 200 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त हुई, जिससे इसका मूल्य 900 मिलियन डॉलर तक पहुंच गया।

कंपनी के मूल्यांकन में 50 फीसदी से ज्यादा की वृद्धि ने संस्थापकों वोहरा और पलीचा को भारत के सबसे अमीर युवाओं में से एक बना दिया। हुरुन रिसर्च इंस्टीट्यूट ने कहा कि वोहरा का अमीरों की लिस्ट में आना भारत में स्टार्टअप्स के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है। पलीचा की स्टार्टअप यात्रा 17 साल की उम्र में शुरू हुई थी, जब उन्होंने दुबई में एक छात्र कारपूल एप्लिकेशन, GoPool की स्थापना की थी।

IIFL Wealth Hurun India: जयश्री उल्लाल सबसे अमीर Indian Professionals की लिस्ट में Top पर

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर