रिलायंस: दूसरी तिमाही के नतीजे जारी, मुनाफे में हुई वृद्धि, इतनी रही आय

भारत के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) ने आज दूसरी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए हैं।

Reliance Industries
रिलायंस इंडस्ट्रीज  |  तस्वीर साभार: IANS
मुख्य बातें
  • बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए।
  • सितंबर तिमाही के दौरान कंपनी का तेल और गैस, डिजिटल सेवाओं और रिटेल में दमदार प्रदर्शन रहा।
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का समेकित शुद्ध लाभ (Consolidated Net Profit) सालाना आधार पर 43 फीसदी बढ़ा।

Reliance Industries Result: रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज के समेकित शुद्ध लाभ में सालाना आधार पर 43 फीसदी की वृद्धि हुई। सितंबर को समाप्त तिमाही के दौरान यह 13,680 करोड़ रुपये रहा। पिछले साल की समान तिमाही में कंपनी का समेकित शुद्ध लाभ 9,567 करोड़ रुपये रहा था।

इतनी रही कंपनी की आय
30 सितंबर को समाप्त तिमाही में कंपनी की आय बढ़कर 1,78,328 करोड़ रुपये हो गई। जबकि एक साल पहले इसी अवधि में यह 1,20,444 करोड़ रुपये थी। तेल-से-दूरसंचार कंपनी का राजस्व दूसरी तिमाही में 48 फीसदी बढ़कर 1.74 लाख करोड़ रुपये हो गया। 

महामारी की दूसरी लहर के प्रभावों के बाद कंपनी को रिफाइनिंग और खुदरा कारोबार में सुधार से सहायता मिली। कंपनी ने 30,283 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड तिमाही समेकित परिचालन लाभ दर्ज किया। एक साल पहले की अवधि की तुलना में यह 30 फीसदी अधिक है।

रिलायंस जियो
RIL के दूरसंचार और डिजिटल सेवा व्यवसाय Jio प्लेटफॉर्म्स का एकीकृत शुद्ध लाभ सालाना आधार पर 23.5 फीसदी उछलकर 3,728 करोड़ रुपये रहा। कंपनी की आय 15.2 फीसदी बढ़कर 23,222 करोड़ रुपये रही। राजस्व में 4.4 फीसदी की क्रमिक वृद्धि हुई और यह 19,777 करोड़ रुपये रहा। तिमाही के लिए वर्टिकल का परिचालन लाभ तिमाही आधार पर 4.5 फीसदी बढ़कर 9,294 करोड़ रुपये हो गया।

रिलायंस जियो का प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व (ARPU) क्रमिक रूप से 3.7 फीसदी बढ़कर 143.6 रुपये हो गया। एआरपीयू विश्लेषकों की 140 रुपये की उम्मीदों से काफी ऊपर था। तिमाही में कुल उपयोगकर्ता 23.8 मिलियन बढ़कर 429.5 मिलियन हो गए।

रिलायंस रिटेल
रिलायंस रिटेल का रेवेन्यू सालाना आधार पर 9.2 फीसदी बढ़कर 39,926 करोड़ रुपये हो गया। खंड का परिचालन लाभ सालाना आधार पर 45.2 फीसदी बढ़कर 2,913 करोड़ रुपये हो गया, जिसमें मार्जिन 180 आधार अंक बढ़कर 7.3 फीसदी हो गया।

तेल और गैस की बिक्री में उछाल
तिमाही के दौरान तेल और गैस के उत्पादन में 23 फीसदी की वृद्धि के कारण खंड का राजस्व 363.1 फीसदी बढ़कर 1,644 करोड़ रुपये हो गया। आरआईएल ने कहा कि उसने योजना से पहले सैट-क्लस्टर फील्ड से उत्पादन को बढ़ाकर 6 mmSCMD कर दिया और US Shale Eagle Ford Assets में नए कुओं को स्ट्रीम में लाया गया। इस खंड ने 1,071 करोड़ रुपये का परिचालन लाभ दर्ज किया, जबकि एक साल पहले की तिमाही में 194 करोड़ रुपये का परिचालन घाटा हुआ था।

मीडिया व्यवसाय 
विज्ञापन बिक्री में संभावित सुधार के कारण तिमाही में आरआईएल के मीडिया वर्टिकल की बिक्री साल-दर-साल 31 फीसदी बढ़कर 1,387 करोड़ रुपये हो गई। मीडिया व्यवसाय का परिचालन लाभ 52 फीसदी बढ़कर 253 करोड़ रुपये हो गया, जबकि मार्जिन 260 आधार अंक बढ़कर 18.2 फीसदी हो गया। टीवी न्यूज विज्ञापन ने तिमाही के दौरान मजबूत वृद्धि दर्ज की गई।

हरे निशान पर बंद हुआ RIL का शेयर
आज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर 4.05 अंक (0.15 फीसदी) की तेजी के साथ 2627.05 के स्तर पर बंद हुआ। शुरुआती कारोबार में यह 2623.80 पर खुला था, जबकि पिछले सत्र में आरआईएल का शेयर 2623.00 पर बंद हुआ था। मालूम हो कि मौजूदा समय में कंपनी का बाजार पूंजीकरण 16,66,427.95 करोड़ रुपये है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर यह 0.12 फीसदी ऊपर 2,625.75  के स्तर पर बंद हुआ।

दूसरी तिमाही में मजबूत रहा प्रदर्शन- मुकेश अंबानी
रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा कि, 'रिलायंस ने वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही में मजबूत प्रदर्शन किया। यह रिलायंस की ताकत और भारत के साथ-साथ वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं की मजबूती को प्रदर्शित करता है। कंपनी का परिचालन व वित्तीय प्रदर्शन रिटेल सेगमेंट में तेज वृद्धि और ऑयल-टू-केमिकल्स व डिजिटल सर्विसेज कारोबार में लगातार वृद्धि को दर्शाता है।'

आगे उन्होंने कहा कि कंपनी न्यू एनर्जी और न्यू मटीरियल्स कारोबार में प्रगति कर रही है। हम चाहते हैं कि भारत दुनिया में ग्रीन एनर्जी का लीडर बने। इसके लिए हमने सोलर व ग्रीन एनर्जी के क्षेत्र में काम कर रहीं दुनिया की बेहतरीन कंपनियों में निवेश भी किया है।

मुख्य बातें:

  • इस दौरान कंपनी का कंसोलिडेटिड EBITDA सालाना आधार पर 30 फीसदी बढ़कर रिकॉर्ड 30,283 करोड़ रुपये हो गया। O2C, तेल और गैस, डिजिटल सेवाओं और रिटेल में कंपनी का प्रदर्शन दमदार रहा। 
  • कोरोना वायरस महामारी से कंपनी मजबूत होकर उभरी। वार्षिक EBITDA रन-रेट 1.2 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर जा पहुंचा।
  • जियो ने पिछली सात तिमाहियों में सबसे अधिक ग्राहक जोड़े। 
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज की डिजिटल सर्विसेज ने 9,561 करोड़ का रिकॉर्ड EBITDA दर्ज किया। यह पिछले साल की तुलना में 14.6 फीसदी अधिक है। डिजिटल सर्विसेज का राजस्व पिछले साल के मुकाबले 7.4 फीसदी बढ़ा। 
  • रिलायंस रिटेल का राजस्व कोविड के पूर्व स्तर तक पहुंच गया। कंपनी की सकल बिक्री 10.5 फीसदी बढ़कर 45,426 करोड़ रुपये रही। 
  • रिलायंस रिटेल का EBITDA 2,913 करोड़ रुपये रहा। यह पिछले साल के मुकाबले 45.2 फीसदी अधिक है।
  • रिलायंस अपने न्यू एनर्जी कारोबार में काफी अच्छी प्रगति कर रहा है।
  • दिवाली के त्योहारी सीजन पर  JioPhone Next को व्यापक रूप से उपलब्ध कराने के लिए रिलायंस जियो और गूगल साथ मिलकर काम कर रहे हैं
  • जियो फाइबर हर महीने निरंतर ग्राहकों तक पहुंचने के प्रयास कर रहा है। इससे अबतक 40 लाख से अधिक परिसर जुड़े हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर