Post Office Scheme: गारंटीड रिटर्न के लिए पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें निवेश, जानें पूरी डिटेल

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Nov 29, 2021 | 15:39 IST

Post Office Scheme: वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (Senior Citizens Savings Scheme-SCSS) में 7.4 फीसदी का ब्याज मिलता है।

Post Office Scheme: Senior Citizens Savings Scheme
Post Office Scheme: गारंटीड रिटर्न के लिए पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें निवेश (pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • वरिष्ठ नागरिक पोस्ट ऑफिस की वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) का लाभ उठा सकते हैं।
  • इसके तहत खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपये है।
  • आप इस खात में आप अधिकतम 15 लाख रुपये रख सकते हैं।

Post Office Scheme: कोरोना काल में लोगों को बचत (saving) और निवेश (investment) का महत्व समझ आया है। मौजूदा समय में लोगों के लिए कई सरकारी योजनाएं (Government Scheme) उपलब्ध हैं, जिनका आप फायदा उठा सकते हैं। बात अगर वरिष्ठ नागरिकों की करें, तो उनके लिए पोस्ट ऑफिस की वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS) बेहद लाभदायक है। यदि आप भी कम जोखिम वाले रिटर्न या निवेश विकल्प (Investment Option) तलाश रहे हैं तो पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम काफी उपयोगी है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

कितनी होनी चाहिए न्यूनतम और अधिकतम राशि?
लोग अपनी जिंदगी भर की कमाई को ऐसी जगह निवेश करना चाहते हैं जहां उनका पैसा सुरक्षित रहे और उन्हें मुनाफा भी हो। Senior Citizens Savings Scheme -SCSS में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपये है। आप इस खात में आप अधिकतम 15 लाख रुपये रख सकते हैं। खाते में किए गए अतिरिक्त जमा के मामले में, अतिरिक्त राशि जमाकर्ता को तुरंत वापस कर दी जाती है।

कौन खोल सकता है खाता?

  • 60 वर्ष से अधिक आयु के इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। 
  • 55 वर्ष से 60 वर्ष से कम आयु के सेवानिवृत्त सिविल कर्मचारी योजना के तहत खाता खोल सकते हैं। लेकिन उनके द्वारा सेवानिवृत्ति के लाभ की प्राप्ति के 1 महीने के भीतर निवेश किया जाना चाहिए।
  • 50 वर्ष से 60 वर्ष तक की आयु के सेवानिवृत्त रक्षा कर्मचारी योजना का लाभ उठा सकते हैं। उनके द्वारा भी सेवानिवृत्ति के लाभ की प्राप्ति के 1 महीने के भीतर ही निवेश किया जाना चाहिए।
  • खाता कोई इंडिविजुअल या केवल पति/पत्नी के साथ खोला जा सकता है।

कितना मिलेगा ब्याज?
इसमें 7.4 फीसदी का ब्याज मिलता है। ब्याज तिमाही आधार पर खाता खोलने की तिथि से 31 मार्च, 30 जून, 30 सितंबर और 31 दिसंबर को देय होगा। अगर ब्याज पर खाताधारक द्वारा दावा नहीं किया जाता है, तो ऐसे ब्याज पर अतिरिक्त ब्याज अर्जित नहीं होगा।

समय से पहले बंद करना हो तो क्या होगा?
अगर कोई खाता 1 वर्ष से पहले बंद करता है तो कोई ब्याज नहीं दिया जाएगा और अगर कोई ब्याज दिया गया है, उसे मूलधन से काट लिया जाएगा। अगर खाता खोलने की तारीख से 1 साल से 2 साल की अवधि में बंद किया जाता है तो मूलधन राशि से 1.5 फीसदी राशि काट ली जाएगी। 2 साल के बाद लेकिन 5 साल पहले खाता बंद करने पर मूलधन राशि से 1 फीसदी राशि काट ली जाएगी।

खाताधारक की मृत्यु होने पर मृत्यु की तारीख से खाता डाकघर बचत खाते की दर से ब्याज अर्जित करेगा। वहीं अगर पति/पत्नी का ज्वाइंट खाता है या वे एकमात्र नॉमिनी है, तो खाता परिपक्वता तक जारी रखा जा सकता है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर