Post Office schemes: PPF, NSC, सुकन्या समृद्धि समेत छोटी बचत योजनाओं पर लेटेस्ट ब्याज दरें

Interest Rates on Post Office Schemes: सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) और राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) समेत छोटी बचत योजनाओं में निवेश पहले यहां जानिए इन पर ब्याज दरें कितनी है।

Post Office schemes: Latest interest rates on small savings schemes including PPF, NSC, Sukanya Samriddhi, Senior Citizen Schemes
पोस्ट ऑफिस की छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें (तस्वीर- istock) 

मुख्य बातें

  • बचत जमा पर ब्याज दर 4% सालाना है।
  • एक साल की टर्म डिपॉजिट पर 5.5% की ब्याज दर मिलेगी।

nterest Rates on Post Office Schemes : मोदी सरकार ने पिछले हफ्ते छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों पर यथास्थिति बनाए रखी, जिससे करोड़ों छोटे बचतकर्ताओं को राहत मिली है। जो इन योजनाओं द्वारा दी जाने वाली उच्च ब्याज दरों से लाभान्वित होते हैं। FY22 की तीसरी तिमाही के लिए, एनएससी, पीपीएफ, सीनियर सिटीजन, सुकन्या समृद्धि जैसी सभी छोटी बचत योजनाओं पर वही ब्याज दरें मिलती रहेंगी, जो उन्हें जुलाई-सितंबर तिमाही में मिलती थीं।

सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) और नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC) पर वार्षिक ब्याज दर क्रमशः 7.1% और 6.8% जारी रहेगी। एक साल की टर्म डिपॉजिट स्कीम पर 5.5% की ब्याज दर मिलेगी, जबकि, सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर 7.6% की दर से ब्याज मिलेगा। पांच वर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए ब्याज दर 7.4% होगी। वरिष्ठ नागरिकों की बचत योजना पर ब्याज का भुगतान तिमाही आधार पर किया जाता है। बचत जमा पर ब्याज दर 4% प्रति वर्ष पर बरकरार रखी गई।

वित्त वर्ष 22 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दर

स्कीम ब्याज दरें कंपाउंडिंग फ्रीक्वेंसी
सेविंग अकाउंट 4% सालाना
एक साल का टाइम डिपॉजिट 5.5% तिमाही
दो साल का टाइम डिपॉजिट 5.5% तिमाही
तीन साल का टाइम डिपॉजिट 5.5% तिमाही
पांच साल का टाइम डिपॉजिट 6.7% तिमाही
पांच साल का रेकरिंग डिपॉजिट 5.8% तिमाही
पांच साल का सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम 7.4% तिमाही और पेड
 
पांच साल का मंथली इनकम अकाउंट 6.6% मंथली और पेड
पांच साल का नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट 6.8% सालाना
सामान्य भविष्य निधि (पीपीएफ) 7.1% सालाना
सुकन्या समृद्धि योजना 7.6% सालाना
किसान विकास पत्र 6.9% सालाना

छोटी बचत योजनाओं की दरों पर यथास्थिति बैंकों द्वारा फिक्स्ड डिपॉजिट पर कम ब्याज दरों के बीच बचतकर्ताओं के लिए एक बड़ी राहत के रूप में आती है। इन योजनाओं पर सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली दरें समान डिपॉजिट पर बैंकों द्वारा प्रदान की जाने वाली दरों से 100-250 आधार अंक अधिक हैं। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर