मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने रचा इतिहास, पहुंचा 2000 रुपए के पार

Mukesh Ambani's Reliance Industries share rate : मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने इतिहास रचते हुए कीमत 2000 रुपए के पार चली गई।

Mukesh Ambani's Reliance Industries share price created history, crossed two thousand rupees
मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने रचा इतिहास 

मुख्य बातें

  • बुधवार (22 जुलाई) को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने इतिहास रच दिया
  • शेयर की कीमत 2010 रुपए के रिकॉर्ड रेट को छू लिया
  • कंपनी का कुल बाजार पूंजीकरण 1317245 लाख करोड़ रुपए हो गया

Mukesh Ambani's Reliance Industries share : कोरोना काल में दुनिया के छठे और एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) प्रति दिन एक से बढ़कर एक उपलब्धियां हासिल करते जा रहे हैं। उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज कर्ज मुक्त होने के बाद से आगे ही बढ़ती जा रही है। बुधवार (22 जुलाई) को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने इतिहास रच दिया। उसकी कीमत 2000 रुपए को पार कर गई और 2010 रुपए के रिकॉर्ड रेट को छू लिया। बुधवार को बीएसई में कारोबार की शुरुआत मे रिलायंस (Reliance) का शेयर कल के 1971.85 रुपए की तुलना में 1980.05 रुपए पर खुला। दोपहरमें शेयर 2010 रुपए तक चढ़ा। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण बुधवार को 13.17 लाख करोड़ रुपए (176.4 अरब डॉलर) पहुंच गया। देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस का शेयर मार्च में 867.82 रुपए तक लुढ़क गया था। बुधवार के कारोबार के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज का अधिकतम प्राइस बैंड 2169 रुपए और निम्नतम 1774.90 रुपए तय किया गया था।

कारोबार बंद होने तक रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 1270480.06 लाख करोड़ रुपए था। एनएसई में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर का भाव 2004 रुपए पर 32.45 रुपए यानी 1.65% ऊपर बंद हुआ। रिलायंस का आंशिक भुगतान वाले राईट इश्यू के शेयर का भाव आज 2.2% बढ़कर 1106.6 रुपए और इसका बाजार पूंजीकरण 46765 करोड़ रुपए रहा और इसे मिलाकर कंपनी का कुल बाजार पूंजीकरण फिर 13 लाख करोड़ रुपए को पार कर 1317245 लाख करोड़ रुपए हो गया।

कंपनी की पूर्ण चुकता शेयर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में बुधवार को 2004.0 रुपए प्रति इक्विटी पर रहा और इसमें 1.65% की तेजी आई। इससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण 12.7 लाख करोड़ रुपए (लगभग 170.2 अरब डॉलर) हो गया। इसके अलावा कंपनी का आंशिक चुकता शेयर रिलायंस पीपी के तहत अलग से लिस्टेड है। यह पहली बार 1,100 रुपए को पार कर एनएसई में बुधवार को 2.2% लाभ के साथ 1,106.6 पर बंद हुआ। इससे 42.26 करोड़ आंशिक चुकता शेयर का एमकैप 46,765 करोड़ रुपए (करीब 6.26 अरब डॉलर) पहुंच गया।

इसके आधार पर (पूर्ण चुकता शेयर + आंशिक चुकता शेयर) कंपनी का सकल बाजार पूंजीकरण 13.17 लाख करोड़ रुपए (176.4 अरब डॉलर) पहुंच गया है। आरआईएल का बाजार पूंजीकरण 19 जून, 2020 को 150 अरब डॉलर को पार किया था और केवल एक महीने में यह 25 अरब डॉलर से अधिक बढ़ गया। बाजार पूंजीकरण में इस वृद्धि के साथ फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार मुकेश अंबानी 75 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ धनाढ्यों की सूची में पाचवें स्थान पर आ गये हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का आंशिक चुकता शेयर यानी रिलायंस पीपी हाल में संपन्न राइट इश्यू के अंतर्गत जारी किया गया। इसने केवल एक महीने में निवेशकों को 3.5% का रिटर्न दिया है। निर्गम चार जून, 2020 को बंद हुआ। इसमें निवशकों को प्रत्येक आंशिक चुकता शेयर के लिए 314.25 रुपए भुगतान करना था। रिलायंस पीपी शेयर शेयर बाजार में 15 जून 2020 को लिस्टेड हुआ। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने हाल में राइट इश्यू और जियो प्लेटफॉर्म्स में संयुक्त रूप से निवेश तथा बीपी के निवेश के जरिए कुल 2,12,809 करोड़ रुपए जुटाए हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूरी तरह कर्ज मुक्त होने और जियो प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक और गूगल जैसी बड़ी कंपनियों के निवेश करने से शेयर छंलाग लगा रहा है। हालांकि 15 जुलाई को रिलायंस इंडस्ट्रीज की एजीएम के बाद शेयर को कुछ झटका लगा था। बाद में जल्दी ही उबर गया।  रिलायंस इंडस्ट्रीज ने दुनिया की पहली 50 प्रमुख कंपनियों में अपना स्थान और मजबूत किया है।

अगली खबर