मुकेश अंबानी अब दुनिया के 5वें सबसे अमीर आदमी बने, रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर नई ऊंचाई पर

Mukesh Ambani world's 5th richest person : रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी अब दुनिया के 5वें सबसे अमीर व्यक्ति क्लब में शामिल हो गए हैं।

Mukesh Ambani now becomes 5th richest person in the world, Reliance Industries shares at new high
दुनिया के पांचवें सबसे अमीर व्यक्ति बने मुकेश अंबानी 

मुख्य बातें

  • मुकेश अंबानी की संपत्ति में 75 अरब डॉलर हो गई है
  • वे अब दुनिया के 5वें सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने 2,010 रुपए के रिकॉर्ड स्तर को छुआ

Mukesh Ambani world's 5th richest person : फोर्ब्स पत्रिका की रियल-टाइम अरबपतियों की लिस्ट के मुताबिक तेल इंडस्ट्री, टेलीकॉम कंपनी जियो प्लेटफॉर्म और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी अब दुनिया के 5वें सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। पहले की तुलना में उनकी संपत्ति में 4.49% की वृद्धि के बाद अनुमानित संपत्ति 75 अरब डॉलर हो गई है। यानी अब 5.61 लाख करोड़ रुपए हो गई है। गौर हो कि एक डॉलर की कीमत  74.76 रुपए है। भारतीय अरबपति मुकेश अंबानी अब फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग से पीछे, जिसकी कुल संपत्ति 89 अरब डॉलर है। उधर बुधवार (22 जुलाई) को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर ने 2,010 रुपए के नए ऊंचाई के स्तर को छुआ। आरआईएल के शेयरों में करीब 35% की वृद्धि हुई है। इसका  बाजार पूंजीकरण 12.70 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

फोर्ब्स की लिस्ट के अनुसार, अमेजन के संस्थापक और सीईओ जेफ बेजोस 185.8 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ लिस्ट में टॉप स्थान पर हैं।  वहीं बिल गेट्स (113.1 अरब डॉलर), एलवीएमएच के बर्नार्ड अर्नोल्ट एंड फैमिली (112.0 अरब डॉलर), फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग (89 अरब डॉलर) के साथ क्रमश: दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान पर हैं। बर्कशायर हैथवे के वारेन बफे 72.7 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ 6ठे स्थान पर हैं। कुछ दिन पहले, सबसे अमीर एशियाई अंबानी ने बर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफेट को पीछे छोड़ा था। 

जबकि अंबानी की दौलत उछल आई है वह पिछले महीने दुनिया के शीर्ष 10 सबसे अमीर लोगों के अनन्य क्लब में एकमात्र एशियाई टाइकून बन गए थे। बफेट की संपत्ति इस हफ्ते कम हो गई जब उन्होंने चैरिटी के लिए 2.9 अरब डॉलर दे दिए।

रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण बुधवार को 13.17 लाख करोड़ रुपए (176.4 अरब डॉलर) पहुंच गया। इसका आकलन कंपनी के चुकता और आंशिक चुकता शेयरों के बाजार मूल्यों के आधार पर किया गया है। अभी दो सप्ताह पहले 6 जुलाई, 2020 को कंपनी का बाजार पूंजीकरण 160 अरब डॉलर था। रुपए में रिलायंस इंडस्ट्रीज का एमकैप पिछले 6 साल में 10 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। इसमें से 4 लाख करोड़ रुपए का इजाफा पिछले 10 महीने में हुआ है।

पिछले कुछ महीनों में रिलायंस ने जियो प्लेटफॉर्म्स में करीब 33% हिस्सेदारी कई निवेशकों को बेच दी जिसमें टेक दिग्गज फेसबुक, गूगल, क्वालकॉम वेंचर्स आदि शामिल हैं। 22 अप्रैल को सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने बुधवार को जियो प्लेटफार्मों में  43,574 करोड़ रुपए के निवेश की घोषणा की जो जियो प्लेटफार्मों में 9.99% शेयर हिस्सेदारी है। यह निवेश भारतीय टैक्नोलॉजी सेक्टर में सबसे बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश है।

कंपनी ने 15 जुलाई को अपनी सालाना आम बैठक (AGM) आयोजित की जिसमें मुकेश अंबानी ने गूगल के साथ जियो की डील के बारे में बात की, जिसमें एंड्रायड-आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम, एआर-सक्षम जियो ग्लास और अन्य के साथ जियो टीवी प्लस भी शामिल था।


 

अगली खबर