Investment Tips : इस दिवाली इन 5 बातों पर रखें ध्यान, आप बन सकते हैं धनवान

दिवाली, निवेश करने और नई चीजें खरीदने के लिए शुभ माना जाता है। इस दिवाली 5 तरीके से निवेश करके धनवान हो सकते हैं। यहां आखिर कैसे और कहां निवेश करना चाहिए।

Investment Tips : Keep in mind these 5 things this Diwali, you can become rich
दिवाली पर निवेश के 5 टिप्स 

मुख्य बातें

  • दिवाली पर धन और वित्तीय फैसले लिए जाते हैं
  • घर, कार, इंश्योरेंस प्लान इत्यादि खरीदे जाते हैं
  • नीचे निवेश के 5 ऐसे तरीके बताए गए हैं जिससे आप और धनवान बन सकते हैं

दिवाली देश भर में धूमधाम से मनाई जाती है। दिवाली पर गिफ्ट, भोजन पर अधिक पैसा खर्च करते हैं और मस्ती करते है। बहुत से लोग इस त्योहार का बेसब्री से इंतजार करते हैं ताकि इस मौके पर सोना, आभूषण, उपकरण या बर्तन खरीदते हैं। कुछ लोग इस शुभ अवसर के दौरान कार और घर जैसी कीमत चीजें खरीदते हैं। चूंकि धन की देवी, लक्ष्मी की पूजा दिवाली के दौरान की जाती है, इसलिए धन और वित्तीय फैसले अक्सर इस त्योहार के बड़े हिस्से होते हैं। इस दिवाली, यहां 5 छोटे बदलाव के बारे में बताए गए हैं जिससे आप अपने व्यक्तिगत फाइनेंस में सकारात्मक बदलाव कर सकते हैं:-

लॉन्ग टर्म निवेश के फायदे 

बहुत से लोग अक्सर अपने निवेश के साथ जल्दी करते हैं। चूंकि वे जल्द रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं, वे अक्सर शॉर्ट टर्म निवेश करते हैं। हालांकि, थोड़े समय के लिए निवेश करके, आप अपने फेवर में कंपाउंडिंग करते हैं और इस तरह आप बड़े पैमाने पर रिटर्न कमा सकते हैं। वास्तव में, आप जितनी अधिक समय सीमा रखते हैं, रिटर्न के मामले में आप उतने ही बेहतर होते हैं। जबकि आपके पास रिटर्न की दर पर नियंत्रण नहीं है तो आप अधिक समय तक निवेश खरने का विकल्प चुन सकते हैं और इससे आपको समय के साथ धन संचय करने में मदद मिलेगी। उदाहरण के लिए, यदि आप 10 साल के लिए 11 प्रतिशत की वार्षिक दर पर प्रति माह की शुरुआत में 10,000 रुपए का निवेश करने का लक्ष्य रखते हैं, तो आपको 87,35,731 रुपए प्राप्त होने की उम्मीद है। इसके बदले अगर आप एक और वर्ष के लिए निवेश करते हैं, तो आप करीब 1 करोड़ (98,74,015 रुपए) प्राप्त कर सकते हैं। जो सिर्फ 11.38 लाख रुपए एक साल और निवेश करके प्राप्त किया जा सकता है।

अधिक निवेश के फायदे

जब आपका वेतन कम होता है तब छोटे निवेश से शुरू करना एक अच्छा विकल्प होता है, आपको धीरे-धीरे अपनी निवेश राशि को बढ़ाने की आवश्यकता होती है ताकि आप अधिक जमा कर सकें। आपकी निवेश राशि जितनी बड़ी होगी, आपको उतना अधिक रिटर्न मिलेगा। ऊपर बताए गए उदाहरण में अगर आप मासिक निवेश को 2,000 रुपए प्रति माह तक बढ़ाते हैं - जो प्रति माह 12,000 रुपए है, तो आप 15 वर्षों में 1,04,82,877 रुपए जमा करेंगे। आय में वृद्धि जितना संभव हो उतना बचत भी बढ़ाना चाहिए। अगर सही निवेश किया जाता है तो ये बचत लंबी अवधि में बड़ी हो सकती है।

रिस्क कवर के लिए छोटा प्रीमियम

धन संचय करने के लिए, आपके पास एक योजना होनी चाहिए। हालांकि, हर किसी को अपनी योजना बनाने बाध्य नहीं किया जाता है। कुछ लोग दुर्घटनाओं के शिकार हो जाते हैं, गंभीर रूप से बीमार पड़ जाते हैं और कुछ खुद को अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने की ओर ध्यान नहीं देखते हैं। मुश्किल घड़ी में बीमा आपको मदद करता है। बीमा सभी जोखिम मैनेजमेंट के बारे में है। हालांकि कुछ लोग टैक्स-बचत निवेश साधनों के रूप में बीमा को देख सकते हैं लेकिन ये इससे ज्यादा हैं। यदि आप अच्छे रिस्क वाले प्रोडक्ट्स जैसे कि जीवन बीमा, व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा और स्वास्थ्य बीमा प्रोडक्ट खरीदते हैं, तो आप कम से कम लागत पर अपने वित्तीय हितों की रक्षा करेंगे। यह सुनिश्चित करता है कि किसी के वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त किया जाता है, भले ही आपके साथ कोई दुखद घटना न हों।

लोन की ब्याज दर पर 1 प्रतिशत की कमी के फायदे

कुछ को यह थोड़ा मूर्खतापूर्ण लग सकता है। हालांकि, लंबे समय में देय ब्याज की दर पर बचाया गया 1 प्रतिशत अंक आपको अधिक पैसा बचा सकता है। उदाहरण के लिए, 10% ब्याज दर पर 20 वर्षों के लिए 50 लाख रुपए के होम लोन पर विचार करें। इस स्थिति में, आप प्रति माह 48,251 रुपए की ईएमआई का भुगतान करते हैं और आप यह सुनिश्चित करते हैं कि दर अपरिवर्तित बनी हुई है तो इस अवधि में आप 65.80 लाख रुपए भुगतान करते हैं। हालांकि, अगर आप मोलभाव कर सकते हैं या किसी अन्य तरीके से, 9% तक दर प्राप्त कर सकते हैं - बस एक प्रतिशत अंक कम, तो आपकी ईएमआई 44,986 रुपए तक काम हो जाती है, जिसका अर्थ है कि आप ब्याज के साथ करीब 58 लाख रुपए (57.96 लाख रुपये) का भुगतान करते हैं। इसका मतलब यह है कि सिर्फ 1 प्रतिशत की कटौती से आप ब्याज भुगतान के लिए 7.83 लाख रुपए बचाते हैं। 

अपने वित्तीय फैसले के साथ मानसिक रूप से बने रहें

यह उन लोगों के लिए बहुत आसान है जो अपने खर्चों को ट्रैक करने के लिए अच्छी कमाई करते हैं। कुछ अपने व्यय के बारे में भी सचेत नहीं हैं। कुछ पैसे के लिए मामले तभी महत्वपूर्ण हो जाते हैं जब इनकम टैक्स बचाने या होम लोन प्राप्त करने का समय हो या इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते समय। हालांकि, आपको सचेत रहने की जरूरत है। बेस्ट फाइनेंसियल फैसले लेने के लिए, आपको अपने निवेश और देनदारियों के लिए कुछ और समय देने की जरूरत है।

सुनिश्चित करें कि आपके पास एक इमरजेंसी फंड है जो आपको नौकरी छूटने या वेतन में कटौती जैसी आपात स्थितियों के कारण आप उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि आपके पास बीमा है जो एक गंभीर बीमारी या बीमारी के मामले में आपको और आपके परिवार को कवर करेगा। आपको अपने पोर्टफोलियो को बनाए रखने और वर्ष में कम से कम दो बार अच्छी तरह से इसकी समीक्षा करने की भी जरूरत है। अपने पोर्टफोलियो का निरंतर आधार पर ध्यान रखें। जहां जरूही हो सुधार करें। यदि आपको एक पदोन्नति, वेतन वृद्धि, बोनस मिलता है, तो जांच लें कि क्या आप बेहतर भविष्य के लिए अधिक निवेश कर सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर