Aadhar card authentication: आधार कार्ड अथेंटिकेशन शुल्क में भारी कमी, पूरी जानकारी

Aadhar card authentication: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सीईओ सौरभ गर्ग ने कहा कि वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आधार का लाभ उठाने की अपार संभावनाएं हैं।

Aadhar card authentication, Aadhar card authentication menas, Aadhar card authentication fee
आधार कार्ड प्रमाणीकरण (अथेंटिकेशन) शुल्क में भारी कमी, पूरी जानकारी 
मुख्य बातें
  • आधार कार्ड अथेंटिकेशन शुल्क में भारी कमी
  • 20 रुपए की जगह अब देने होंगे 3 रुपए
  • आधार कार्ड पूरी तरह सुरक्षित, किसी की निजता पर खतरा नहीं

Aadhar card authentication: आधार कस्टोडियन यूआईडीएआई ने ग्राहकों द्वारा प्रमाणीकरण के लिए मूल्य को 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दिया है ताकि संस्थाओं को विभिन्न सेवाओं और लाभों के माध्यम से लोगों को जीवन में आसानी प्रदान करने के लिए अपने बुनियादी ढांचे का लाभ उठाने में सक्षम बनाया जा सके।एनपीसीआई-आईएएमएआई द्वारा आयोजित ग्लोबल फिनटेक फेस्ट में बोलते हुए, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सीईओ सौरभ गर्ग ने कहा कि वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आधार का लाभ उठाने की अपार संभावनाएं हैं।

अब प्रति अथेंटिकेशन के लिए देने होंगे तीन रुपए
सौरभ गर्ग ने कहा प्रति प्रमाणीकरण की दर 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दी है और इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि विभिन्न एजेंसियां, संस्थाएं डिजिटल बुनियादी ढांचे की शक्ति का उपयोग करने में सक्षम हों जो कि राज्य द्वारा बनाई गई है जिसे प्रदान करने के लिए उपयोग करने की आवश्यकता है। अब तक आधार प्रणाली का उपयोग करके 99 करोड़ से अधिक ईकेवाईसी किए जा चुके हैं।गर्ग ने कहा, "मुझे लगता है कि यह फिनटेक कंपनियों को नए ग्राहकों को जोड़ने के लिए एक लागत प्रभावी और गैर-अस्वीकार करने योग्य समाधान देता है। यही वह जगह है जहां आधार की शक्ति निहित है और आधार की केवाईसी आजीवन और दोबारा इस्तेमाल के लिए पहचान प्रदान करती है जो आधार प्रणाली की शक्ति है।

UIDAI किसी के बायोमेट्रिक्स साझा नहीं करता
उन्होंने कहा कि यूआईडीएआई किसी के साथ बायोमेट्रिक्स साझा नहीं करता है और अपने सभी भागीदारों से अपेक्षा करता है कि वे समान स्तर की सुरक्षा और गोपनीयता बनाए रखें जैसा कि प्राधिकरण करता है। उन्होंने कहा कि हर एक नागरिक का आधार बिनी किसी तकनीकी दिक्कत के बन सके इसके लिए हम लगातार निगरानी करते रहते हैं। इसके साथ ही आधार में समय समय पर लोग बदलाव करना चाहते हैं लिहाजा उसमें किसी तरह की तकनीकी दिक्कत ना आए इसके लिए भी लगातार सुधार किये जा रहे हैं। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर