अल जवाहिरी के ख़ात्मे के बाद कौन होगा अगला अल-कायदा चीफ? 

दुनिया
शिवानी शर्मा
Updated Aug 02, 2022 | 14:54 IST

आतंक का सरगरा अल जवाहिरी मारा जा चुका है। अब सवाल यह उठता है कि उसकी गौर मौजूदगी में आंतक का संगठन अलकायदा कमान किसको सौंपेगा।

अल जवाहिरी ,अल-कायदा चीफ,आतंकवादी संगठन अल कायदा ,Al-Zawahiri, Al-Qaeda chief, terrorist organization Al Qaeda
आतंक के सरगरा अल जवाहिरी ने अमेरिका में 11 सितंबर 2001 में होने वाले अटैक में अहम भूमिका निभाई थी जिसमें तीन हजार से ज्यादा लोग मारे गए थे।  

नई दिल्ली: अमेरिका द्वारा अलकायदा प्रमुख अल जवाहिरी के मारे जाने से अलकायदा समेत अफगानिस्तान में फल फूल रहे तमाम आतंकी संगठनों को गहरा झटका मिला है। आतंक के सरगरा अल जवाहिरी ने अमेरिका में 11 सितंबर 2001 में होने वाले अटैक में अहम भूमिका निभाई थी जिसमें तीन हजार से ज्यादा लोग मारे गए थे। जवाहिरी को मारा जाना ओसामा बिन लादेन  के बाद अमेरिका की दूसरी बड़ी स्ट्राइक है।

अमेरिका ने जवाहिरी पर 25 मिलियन डॉलर का इनाम घोषित किया था। 15 जुलाई 2022 को जारी की गई यूएनएससी की एक रिपोर्ट में अल जवाहिरी को लेकर दावा किया गया था कि वह अफगानिस्तान में बेहद आराम से रह रहा था और अपने ऑडियो और वीडियो मैसेजेस के जरिए आतंकी संगठनों से जुड़ा रहा, इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि अल जवाहिरी के बाद आतंकी सरगना बनने के लिए जो आतंकी कतार में है उनमें  यह आतंकी टॉप पर है

 सैफ-अल अद्ल 

सैफ अल-अद्ल, जिसे इब्राहिम अल-मदानी भी कहा जाता है, (जन्म 11 अप्रैल, 1960), मिस्र   इस्लामवादी उग्रवादी है , जिसने अल-कायदा के एक उच्च पदस्थ सदस्य और ओसामा बिन लादेन के निजी सुरक्षा बल के प्रमुख के रूप में कार्य किया। 1998 में पूर्वी अफ्रीका में अमेरिकी दूतावासों पर बमबारी के लिए उस पर यू.एस. द्वारा  अभियोग लगाया गया था। सैफ-अल अद्ल पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम घोषित किया गया है।

 अब्दाल-रहमान अल-मघरेबी 

मुहम्मद अब्बाते, जिसे अब्द अल-रहमान अल-मघरेबी के नाम से जाना जाता है, के बारे में जानकारी देने के लिए $7 मिलियन तक का इनाम  घोषित किया गया है। अल-मघरेबी ईरान स्थित अल-कायदा (AQ) का प्रमुख नेता है। वह AQ की मीडिया शाखा, अल-साहब का लंबे समय से निदेशक है, और AQ नेता अयमान अल-जवाहिरी का दामाद और वरिष्ठ सलाहकार रहा है।
 
इस्लामिक मगरेब(AQIM) में अल-कायदा के यज़ीद मेबराक 

अबू ओबेदा यूसुफ अल-अन्नाबी और यज़ीद मेबराक के नाम से भी जाना जाता है, के बारे में जानकारी के लिए $7 मिलियन तक का इनाम घोषित किया गया है। अल-अनबी इस्लामिक मगरेब (एक्यूआईएम) में आतंकवादी संगठन अल-कायदा का नेता है। AQIM ने नवंबर 2020 में समूह के नए नेता के रूप में अल-अनबी की घोषणा की। 

अल-शबाब के अहमद दिरीये-

अहमद उमर, जिसे अहमद दिरीये और अबू उबैदाह के नाम से भी जाना जाता है, सोमालिया के इस्लामी समूह अल-शबाब का बोकोर है। उसे अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा अप्रैल 2015 में एक विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। रिवॉर्ड्स फॉर जस्टिस प्रोग्राम में अल-शबाब पर 6 मिलियन अमरीकी डालर का इनाम रखा गया है ।माना जा रहा है कि अल जवाहिरी की मौत के बाद अलकायदा जल्दी अपना नया शिफ्ट करके उसकी घोषणा करेगा। 

भारत में भी सक्रिय ऑपरेशन करना चाहता था अलकायदा 

यूएनएससी की रिपोर्ट में यह भी  कहा गया  कि तालिबान शासन के तहत अल-कायदा को अफगानिस्तान में अधिक स्वतंत्रता प्राप्त है और अल कायदा इन इंडियन सबकॉन्टिनेंट(AQIS) के 180 से 400 आतंकी भारत, म्यांमार, बांग्लादेश और पाकिस्तान मेें मौजूद हैं। रिपोर्ट के मुताबिक अल-कायदा नेतृत्व कथित तौर पर तालिबान के साथ एक सलाहकार की भूमिका निभाता है। अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने के बाद अल-जवाहिरी कई वीडियो और ऑडियो संदेशों के जरिए अल-कायदा समर्थकों तक पहुंच बढ़ा रहा था। संयुक्त राष्ट्र की विश्लेषणात्मक सहायता और प्रतिबंध निगरानी टीम ने अल कायदा, आतंकवादी इस्लामिक स्टेट (आईएस) समूह और अफगानिस्तान में अन्य आतंकवादी समूहों की हालिया गतिविधियों पर कहा कि दोनों आतंकवादी संगठन कई एशियाई देशों में सक्रिय हैं। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर