Kabul में अमेरिकी एयरस्ट्राइक में आतंकी नहीं, मारे गए थे 10 निर्दोष लोग; पेंटागन ने कबूला सच

US Drone Strike In Afghanistan: जिस समय अमेरिका ने यह ड्रोन अटैक किया था उसी समय इसे लेकर सवाल उठने लगे थे। तब स्थानीय लोगों ने भी कहा था कि इस हमले में निर्दोष लोग मारे गए हैं।

US drone strike in Kabul that killed 10 civilians 'a mistake says US general
काबुल में अमेरिकी ड्रोन हमले के बाद की तस्वीर  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • अपने बयान से पलटा अमेरिका का रक्षा विभाग पेंटागन
  • पेंटागन ने काबुल हमले को बताया भूल, नहीं मारे गए थे आतंकी
  • अमेरिकी ड्रोन हमले के दौरान बच्चों सहित मारे गए थे कई निर्दोष लोग

वाशिंगटन: अफगानिस्तान पर तालिबान का राज होने के बाद काबुल एयरपोर्ट के बाहर हुए बम धमाके में 13 अमेरिकी सैनिकों सहित 200 से अधिक लोग मारे गए थे। इसके बाद अमेरिका ने इस हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आईएसआईएस के कथित ठिकाने पर ड्रोन हमला करते हुए दावा किया था कि काबुल हमले का मास्टरमाइंड इस हमले में मारा गया है। हालांकि अमेरिका के इस दावे पर तब भी सवाल उठे और अब अमेरिकी रक्षा मंत्री द्वारा दिए गए बयान ने साबित कर दिया है कि इस हमले में निर्दोष लोग मारे गए थे।

अपने बयान से पलटा पेंटागन

अफगानिस्तान में पिछले महीने किये गये ड्रोन हमले का बचाव कर चुका पेंटागन अब अपने बयान से पलट गया है और उसने शुक्रवार को कहा कि अंदरूनी जांच से खुलासा हुआ है कि इस हमले में सिर्फ आम नागरिक ही मारे गये न कि इस्लामिक स्टेट के चरमपंथी, जैसा पहले विश्वास किया गया था। 29 अगस्त के इस हमले में बच्चों समेत कई आम नागरिक मारे गये थे। अमेरिकी सेंट्रल कमांड के कमांडर जनरल फ्रैंक मैकेंजी ने कहा, स्ट्राइक एक दुखद गलती थी।

शुरूआत में ही खुल चुकी थी अमेरिका की पोल

आपको बता दें कि 29 अगस्त को ड्रोन हमला करने के चार दिन बाद भी अमेरिकी रक्षा विभाग (पेंटागन) के अधिकारियों ने कहा था कि यह बिल्कुल सटीक हमला था। लेकिन इसके कई वीडियो सामने आने के बाद अमेरिकी दावों की पोल खुलनी शुरू हो गई थी। मीडिया ने बाद में इस घटना पर जारी अमेरिकी बयानों पर संदेह प्रकट करना शुरू कर दिया और खबर दी कि जिस वाहन को निशाना बनाया गया था उसका चालक किसी अमेरिकी मानवीय संगठन का कर्मचारी था।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर