Afghanistan New PM:अफगानिस्तान में आज होगा सरकार गठन, "मुल्‍ला बरादर" संभालेंगे नई सरकार का नेतृत्‍व!

दुनिया
रवि वैश्य
Updated Sep 04, 2021 | 07:29 IST

Afghanistan Updates: तालिबान के प्रवक्ता ज़बीउल्लाह मुजाहिद के मुताबिक अफगानिस्तान में नई सरकार के गठन आज होगा, इससे पहले सरकार के गठन से संबंधी घोषणा शुक्रवार को की जानी थी जिसे एक दिन टाला गया।

Mullah Baradar
Taliban के राजनीतिक प्रमुख मुल्‍ला अब्‍दुल गनी बरादर सरकार का नेतृत्‍व करेंगे 

मुख्य बातें

  • मुल्ला अब्दुल गनी बरादर तालिबान की सरकार के प्रमुख हो सकते हैं
  • मुल्ला हेबतुल्लाह अखुनजादा अफगानिस्तान में सर्वोच्च प्राधिकारी होंगे
  • अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे को दो सप्ताह से ज्यादा का समय हो गया है

नई दिल्ली: अफगानिस्‍तान (Afganistan) में नई सरकार के गठन के लिए प्रयास जारी हैं, मीडिया रिपोर्टो के मुताबिक तालिबान (Taliban) के राजनीतिक प्रमुख मुल्‍ला अब्‍दुल गनी बरादर (Mulla Abdul Ghani Baradar) सरकार का नेतृत्‍व करेंगे। सूत्रों ने बताया कि कतर की राजधानी दोहा में स्थित तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के अध्यक्ष मुल्ला अब्दुल गनी बरादर तालिबान की सरकार के प्रमुख हो सकते हैं।

तालिबान के एक वरिष्ठ सदस्य ने बताया कि समूह, काबुल में ईरानी नेतृत्व की तर्ज पर सरकार गठन का ऐलान करने के लिए तैयार है जिसमें समूह के शीर्ष धार्मिक नेता मुल्ला हेबतुल्लाह अखुनजादा (Mullah Hebatullah Akhunzada) अफगानिस्तान में सर्वोच्च प्राधिकारी होंगे। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे को दो सप्ताह से ज्यादा का समय हो गया है।

तालिबान के सूचना एवं सांस्कृतिक आयोग में वरिष्ठ अधिकारी मुफ्ती इनामुल्लाह समांगनी ने कहा, 'नई सरकार पर सलाह-मशविरा करीब-करीब पूरा हो चुका है और कैबिनेट को लेकर भी जरूरी चर्चा कर ली गई है। ईरान में, सर्वोच्च नेता देश का सर्वोच्च राजनीतिक और धार्मिक प्राधिकारी है। उसका दर्जा राष्ट्रपति से ऊंचा होता है और वह सेना, सरकार और न्यायपालिका के प्रमुखों की नियुक्ति करता है। सर्वोच्च नेता का देश के राजनीतिक, धार्मिक और सैन्य मामलों में निर्णय अंतिम होता है।'

"मुल्ला अखुनजादा सरकार के नेता होंगे"

उन्होंने कहा, 'मुल्ला अखुनजादा सरकार के नेता होंगे और इस पर कोई सवाल नहीं होना चाहिए।' उन्होंने संकेत दिया कि राष्ट्रपति उनकी देखरेख में काम करेंगे। मुल्ला अखुनजादा तालिबान के शीर्ष धार्मिक नेता हैं और वह 15 साल तक बलूचिस्तान प्रांत के कछलाक इलाके में एक मस्जिद में कार्यरत रहे हैं।

राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान को अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी 

समांगनी ने कहा कि नए सरकारी ढांचे के तहत प्रांत गवर्नरों के जिम्मे होंगे जबकि जिला गवर्नर अपने-अपने जिलों की जिम्मेदारी संभालेंगे। तालिबान प्रांतों और जिलों के लिए गवर्नर, पुलिस प्रमुख और पुलिस कमांडरों की पहले ही नियुक्ति कर चुका है। उन्होंने कहा कि नई शासन प्रणाली के नाम, राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान को अभी अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर