चीन से लगने वाली सीमा पर आत्मघाती बम दस्‍तों को तैनात करेगा तालिबान! बढ़ रही चिंता

अफगानिस्‍तान की सत्‍ता में काबिज तालिबान को लेकर आई एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि उसने चीन और ताजिकिस्‍तान की सीमा से लगने वाले इलाकों में आत्‍मघाती बम दस्‍तों को तैनात करने की योजना बनाई है।

काबुल में एक मोटरसाइकिल पर लगा तालिबान का झंडा
काबुल में एक मोटरसाइकिल पर लगा तालिबान का झंडा  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • अफगानिस्‍तान की सत्‍ता में काबिज तालिबान को लेकर सनसनीखेज रिपोर्ट आई है
  • इसमें कहा गया है कि तालिबान सीमा पर आत्‍मघाती बम दस्‍तों को तैनात कर सकता है
  • तालिबान ने आत्‍मघाती बम दस्‍ते में शामिल लोगों को 'बहादुर' बताया है

काबुल : अफगानिस्‍तान की स‍त्‍ता में तालिबान के दोबारा काबिज होने के बाद से ही दुनिया कई तरह की आशंकाओं में घिरी है। अब अफगानिस्‍तान में तालिबान के शासन को लेकर जो रिपोर्ट सामने आई है, वह और भी चिंता बढ़ाने वाली है। इसके मुताबिक, तालिबान अफगानिस्‍तान की सीमा पर आत्‍मघाती बम दस्‍तों को तैनात करेगा और इसके लिए उसने खास बटालियन भी तैयार कर ली है। तालिबान ने इस दस्‍ते में शामिल लोगों को 'बहादुर' कहा है।

बदख्शां प्रांत में होगी तैनाती

समाचार एजेंसी एएफपी ने 'खामा प्रेस' के हवाले से दी रिपोर्ट में कहा है कि तालिबान ने आत्‍मघाती बम दस्‍तों की बटालियन को बदख्शां प्रांत तैनात करने का फैसला किया है, जिसकी सीमा चीन और ताजिकिस्‍तान से मिलती है। इसमें बदख्‍शां प्रांत के डिप्टी गवर्नर मुल्ला निसार अहमद अहमदी के हवाले से कहा गया है कि यह उसी तरह की होगी, जो बटालियन अमेरिकी शासन के दौरान यहां अफगान सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर हमले करती थी।

इस बटालियन को लश्कर-ए-मंसूरी (मंसूर सेना) नाम दिया गया है। रिपोर्ट में अहमदी के हवाले से कहा गया है कि अगर यह बटालियन नहीं होती तो अफगानिस्‍तान में अमेरिका की हार नहीं हो पाती। आत्‍मघाती बम दस्‍ते में शामिल लोगों को 'बहादुर' करार देते हुए अहमदी ने कहा कि इन लोगों ने विस्‍फोटकों से भरी जैकेट पहनी और अपनी परवाह न करते हुए अफगानिस्‍तान में अमेरिकी सैन्‍य अड्डों को उड़ा दिया।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर