सिंगापुर में नए वायरस का खतरा, बच्चों को बीमार कर रहा भारत जैसा कोरोना का नया स्ट्रेन, स्कूल बंद

वायरस के खतरे को देखते हुए सिंगापुर में बुधवार से स्कूल बंद रहेंगे। देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल आने के बाद सरकार प्रतिबंधों को और कड़ा कर रही है।

Singapore Warns New Virus Strains Infecting More Children, Shuts Schools
सिंगापुर में कोरोना का खतरा।  |  तस्वीर साभार: AP

सिंगापुर : भारत जैसा नए कोरोना वायरस मिलने से सिंगापुर में दहशत का माहौल है। खास बातय यह है कि यह वायरस बच्चों को ज्यादा अपनी चपेट में ले रहा है। वायरस के खतरे को देखते हुए अधिकारियों ने चेतावनी जारी की है। वायरस के खतरे को देखते हुए सिंगापुर में बुधवार से स्कूल बंद रहेंगे। देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से उछाल आने के बाद सरकार प्रतिबंधों को और कड़ा कर रही है। देश में कई महीनों तक संक्रमण के केस मामूली रह गए थे जिसके बाद स्थानीय संक्रमण में तेजी देखी जा रही है।

बुधवार से स्कूल होंगे बंद
रिपोर्ट के मुताबिक गत रविवार को अधिकारियों ने कहा कि जूनियर कॉलेज, प्राइमरी एवं सेकेंड्री स्कूलों की पढ़ाई बुधवार से घर से होगी। स्कूलों में सत्र का समापन 28 मई को होना है।

स्थानीय स्तर पर संक्रमणके 38 नए केस मिले
एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक रविवार को अधिकारियों ने बताया कि स्थानीय स्तर पर संक्रमण के 38 नए केस मिले हैं। यह आंकड़ा पिछले आठ महीनों में सबसे ज्यादा है। संक्रमण के इन 38 केस में एक ट्यूशन सेंटर के कई बच्चे शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्री ओंग ये कुंग ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ऐसा लगता है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बी.1.617 बच्चों को ज्यादा बीमार कर रहा है। स्वास्थ्य मंत्री ने देश की मेडिकल सेवा के निदेशक केनेथ मैक से बातचीत करने के बाद यह बयान दिया।

नया स्ट्रेन बी.1.617 पहली बार भारत में मिला
कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन बी.1.617 पहली बार भारत में मिला है। संवाददाता सम्मेलन में शिक्षा मंत्री चान चुन सिंग ने कहा, 'वायरस के नए प्रकार ज्यादा संक्रामक हैं और ऐसा लगता है कि ये बच्चों को ज्यादा अपनी गिरफ्त में ले रहे हैं। यह हम सभी के लिए चिंता की बात है।' हालांकि, शिक्षा मंत्री ने कहा कि नए वायरस से संक्रमित कोई भी बच्चा गंभीर रूप से बीमार नहीं है। चान ने अपने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'हम 12 साल से कम उम्र बच्चों को टीक लगाने की योजना पर काम कर रहे हैं।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर