News Anchor Harmeet Singh: इसलिए सिख समाज का यह न्यूज एंकर छोड़ना चाहता है पाकिस्तान

पाकिस्तान में सिख समाज से जुड़ा हुआ न्यूज एंकर हरमीत सिंह को शिकायत है कि हत्या का एक आरोपी उनके परिवार को धमका रहा है और पुलिस कुछ भी नहीं कर रही है।

News Anchor Harmeet Singh: इसलिए सिख समाज का यह न्यूज एंकर छोड़ना चाहता है पाकिस्तान
पाकिस्तान में न्यूज एंकर हैं हरमीत सिंह  |  तस्वीर साभार: फेसबुक

मुख्य बातें

  • पाकिस्तान के पब्लिक न्यूज में कार्यरत हैं हरमीत सिंह
  • सिख समाज के पहले किसी शख्स को पाकिस्तान के किसी न्यूज चैनल ने दी जिम्मेदारी
  • हरमीत सिंह के भाई की हत्या का आरोपी परिवार वालों को दे रहा है धमकियां

इस्लामाबाद। हरमीत सिंह, पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल में एंकर हैं और वो पाकिस्तान छोड़ने का विचार बना रहे हैं। अब सवाल यह है कि आखिर वजह क्या है, दरअसल उनका कहना है कि जेल में बंद एक शख्स उन्हें और उनके परिवार को धमकियां दे रहा है और पुलिस की तरफ से किसी तरह की कार्रवाई नहीं हो रही है। 

हरमीत सिंह पाकिस्तान के पहले सिख न्यूज एंकर
हरमीत सिंह का कहना है कि ऐसी सूरत में उनके पास पाकिस्तान छोड़ने के सिवाए और कोई दूसरा विकल्प नहीं है। यदि पुलिस हत्या के आरोपी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर सकती है तो आखिर वो और क्या कर सकते हैं। जब उनसे पूछा गया कि आप के पास भारत आने का कोई विकल्प नहीं है तो उस सवाल के जवाब में कहा कि वो किसी और देश भी जा सकते हैं।

क्या है मामला
जनवरी 2020 यानी करीब एक साल पहले हरमीत सिंह के भाई परविंदर की पेशावर में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पहले यह जानकारी सामने आई कि परविंदर की हत्या आतंकियों ने की थी। लेकिन पुलिस जांच में कहानी कुछ और निकली। पुलिस के मुताबिक परविंदर की मंगेतर प्रेम कुमारी का ब्वॉयफ्रेंड एजाज और एक दूसरा शख्स इब्राहिम शामिल था।

दो आरोपी जमानत पर बाहर, एक अभी जेल में
इस केस में प्रेम कुमारी और एजाज जमानत पर बाहर हैं जबकि दूसरा शख्स इब्राहिम मरदान जेल में सलाखों के पीछे है। हरमीत सिंह का आरोप है कि जेल में बंद इब्राहिम सरकारी नंबर के जरिए उन्हें और उनके परिवार को धमकी दे रहा है। हरमीत सिंह का आरोप है कि आरोपी सुलह करने के लिए दबाव बना रहा है। लेकिन वो लोग सुलह की जगह पर न्याय चाहते हैं। 

एसजीपीसी ने भी दखल दी
इस संबंध में उसने पुलिस से शिकायत दर्ज की है। लेकिन उसकी तहरीर पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट की बार एसोसिएशन ने उसे और उसके परिवार को मदद का भरोसा दिया है। इन सबके बीच शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी की प्रेसिडेंट बीबी जागीर कौर ने इस संबंध में पीएम इमरान खान और पंजाब के गवर्नर चौधरी मोहम्मद सरवर को खत लिखकर हस्तक्षेप करने की गुजारिश की है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर