संयोग या साजिश... एक-एक कर पुतिन के करीबी साथियों की हो रही है मौत, कोई सीढ़ी से गिरा तो किसी ने की आत्महत्या

दुनिया
शिशुपाल कुमार
शिशुपाल कुमार | Principal Correspondent
Updated Sep 23, 2022 | 00:44 IST

यूक्रेन पर रूस के हमले के 200 दिन से ऊपर हो चुके हैं। अब रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एक बार फिर से यूक्रेन पर बड़े हमले की तैयारी कर रहे हैं।

russian president vladimir putin, Russia Ukraine war,  putin close aide death
पुतिन के कई करीबियों की हो चुकी है मौत  |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • मरने वाले पुतिन के दोस्तों में कुछ ने यूक्रेन युद्ध की थी आलोचना
  • पुतिन के ब्रेन कहे जाने वाले की बेटी की बम धमाके में हो चुकी है मौत
  • यूक्रेन युद्ध के बाद से सिलसिलेवार तरीक से मर रहे हैं पुतिन के करीबी

यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद से रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के कई करीबियों की मौत हो चुकी है। खुद पुतिन को कई बार मारने की कोशिश की जा चुकी है, हमले भी हो चुके हैं, लेकिन वो अभी तक बचने में सफल रहे हैं। हालांकि उनके करीबी उतने भाग्यशाली नहीं रहे हैं। अब संयोग कहें या साजिश? पुतिन के कई करीबी मर चुके हैं। एक हमले में तो उनके करीबी बच गए लेकिन  उनकी बेटी मारी गई। आइए जानते हैं, पुतिन के करीबियों की मौत किस तरह से हुई है...

इवान पेचोरिन (Ivan Pechorin)

इवान, पुतिन के काफी करीब थे और एविएशन इंडस्ट्री के बहुत बड़े नाम थे। इनकी लाश व्लादिवोस्तोक में मिली थी। इनके बारे में दावा किया गया कि इनकी मौत डूबने से हुई है। मौत से पहले ये अपने लग्जरी याट में थे। उसी पर से यह गिर गए और बाद में उनकी लाश मिली। 

रवील मगनोव (Ravil Maganov)

रवील मगनोव रूसी तेल उद्योग से जुड़े हुए थे, पतिन के खास थे, इनकी लाश अस्पताल के बाहर मिली। दावा किया गया कि इनकी मौत अस्पताल की खिड़की से गिरने के कारण हो गई है। इनकी मौत को आत्महत्या बताया गया। पुलिस इसी एंगल से इनकी मौत की जांच कर रही है।

अनातोली गेराशचेंको - (Anatoly Gerashchenko)

अनातोली गेराशचेंको भी रूस के एविएशन इंडस्ट्री से जुड़े हुए थे। मॉस्को एविएशन इंस्टीट्यूट के पूर्व हेड थे। इनकी मौत सीढ़ियों से गिरने के कारण हो गई। बताया गया कि यह सिर्फ एक हादसा है।

अलेक्जेंडर डुगिन की बेटी-(Alexander Dugin Daughter)

अलेक्जेंडर डुगिन को पुतिन का दिमाग (Putin's Brain) कहा जाता है। कुछ दिनों पहले इन्हीं को मारने के लिए प्लान बनाया गया था। पिता और बेटी एक साथ एक पार्टी में गए थे, वापसी में भी साथ में आने वाले थे, लेकिन अंतिम समय में अलेक्जेंडर ने प्लान बदल दिया। उनकी गाड़ी मे ंबेटी डारिया डुगिन (Darya Dugin) गई। कुछ देर बाद ही डुगिन की गाड़ी एक बम ब्लास्ट में उड़ गई। अलेक्जेंडर के सामने ही उनकी बेटी उस विस्फोट में मारी गई। अलेक्जेंडर को लेकर दावा किया जाता है कि यूक्रेन हमले के पीछे उनका ही दिमाग है। 

अलेक्जेंडर सब्बोटिन-(Aleksandr Subbotin)

सब्बोटिन भी पुतिन के करीबी लोगों में से एक थे। मास्कों के ताकतवर लोगों में उनकी सूची टॉप पर थी, लेकिन ये भी एक घर के तहखाने में मरे मिले। बताया गया कि हार्ट अटैक से इनकी मौत हो गई है।

बता दें कि यूक्रेन के साथ जंग शुरू होने के बाद कम से कम आठ पुतिन के सहयोगियों की मौत हो चुकी है। ये मास्को के ताकतवर लोगों में से एक थे, लेकिन इनकी मौत जिस तरह से हुई है, वो कई सवाल खड़े करती है। मतलब कोई सीढ़ियों से गिर कर मर रहा है, कोई तहखाने में मरा मिल रहा है, कोई डूबकर मर जा रहा है। मौत के इन कारणों से कई सवालों का जन्म हो रहा है, यही कारण है कि लोग इनकी मौत को असमान्य मान रहे हैं।

ये भी पढ़ें- Lucius Quinctius Cincinnatus: कौन हैं सिनसिनाटस जिनका नाम ले बोरिस जॉनसन ने कर दिया है 'खेल' का इशारा

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर