महारानी एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार में राजा-रानी भी जुटे,दुनिया में 44 देशों में है राजशाही

Queen Elizabeth-II Funeral: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से लेकर भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू सहित दुनिया भर के नेता पहुंचे हुए हैं।

queen elizabeth funeral
महारानी एलिजाबेथ का अंतिम संस्कार  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में 20 से ज्यादा देशों के राजा-रानी, सुल्तान भी पहुंचे हुए हैं।
  • दुनिया में इस समय 44 देशों में राजशाही है। इसमें से ब्रिटेन के राजा 15 देशों के प्रमुख हैं।
  • रूस, म्यांमार, बेलारूस, सीरिया,वेनेजुएला,म्यांमार को अंतिम संस्कार का न्यौता नहीं दिया गया था।

Queen Elizabeth-II Funeral:महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार को सबसे बड़े कार्यक्रमों में से एक माना जा रहा है। इस कार्यक्रम में करीब 2000 मेहमान, 500 विदेशी राजनयिक भाग ले रहे हैं। इस लिस्ट में नेता से लेकर राजा-रानी, सुल्तान, राजकुमार, राजकुमारियों तक के नाम हैं। और पूरी दुनिया में महारानी के अंतिम संस्कार का प्रसारण हो रहा है। महारानी के अंतिम संस्कार में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से लेकर भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू,  कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो जैसे राष्ट्राध्यक्ष और अहम राजनयिक शामिल हो रहे हैं। इनके अलावा 23 देशों के राजा, राजकुमार और महारानियां भी शामिल हो रहे हैं।

इन देशों के राजा-महारानियां शामिल

रॉयटर्स के अनुसार महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार में जापाना के राजा नारूहितो, नीदरलैंड के किंग विलियम अलेक्जेंडर, स्पेन के किंग फिलिप-6 के अलावा बेल्जियम, डेनमार्क,स्वीडन,नार्वे, भूटान,ब्रुनेई, जॉर्डन, सउदी अरब,कुवैत, मलेशिया, ओमान,कतर, यूएई सहित 23 देशों के राजा, सुल्तान और  राजघरानों के लोग शामिल हो रहे हैं।

Queen Elizabeth Funeral: क्वीन एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार में 10 लाख लोगों के जुटने की संभावना, 100 उड़ानें रद्द

दुनिया में 44 देशों में राजशाही 

रिपोर्ट के अनुसार दुनिया में इस समय 44 देशों में राजशाही है। इसमें से ब्रिटेन के राजा या रानी 15 देशों के राजा हैं। जिन्हें कॉमनवेल्थ समूह का हिस्सा हैं। इसके अलाव 29 देशों में भी राजशाही मौजूद है। हालांकि यह राजशाही दो तरह से है। जैसे कि ब्रिटेन, जापान जैसे देशों में यह लोकतांत्रिक व्यवस्था में मौजूद है। यानी वहां सरकार का चयन चुनाव के जरिए होता है। लेकिन इन देशों का राष्ट्राध्यक्ष राजघराने से ही होता है। जिसे संवैधानिक राजशाही भी कहा जाता है। वहीं ओमान, सउदी अरब जैसे देशों में पूरी तरह से राजशाही है। 

सबसे ज्यादा राजशाही वाले देश एशिया और यूरोप में हैं। एशिया में 13 देशों, यूरोप में 12 देशों में , उत्तरी अमेरिका में 10, ओसियाना में 6 और अफ्रीका के 3 देशों में राजशाही है। जबकि दक्षिणी अमेरिका के किसी भी देश में राजशाही नहीं है।

अंतिम संस्कार रूस सहित इन देशों को बुलावा नहीं

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार महारानी के अंतिम संस्कार में आर्थिक प्रतिबंधों की वजह से रूस, म्यांमार और बेलारूस को न्यौता नहीं दिया गया है। जबकि सीरिया और वेनेजुएला से ब्रिटेन के कूटनीतिक रिश्ते नहीं होने की वजह से उन्हें नहीं बुलाया गया है।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर