बेहद दर्दनाक! नाइट कर्फ्यू तोड़ने पर कराई उठक-बैठक, घर पहुंचते ही हो गई मौत

दुनिया
रवि वैश्य
Updated Apr 07, 2021 | 17:05 IST

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसी पाबंदियों को लागू किया गया है वहीं इनका उल्लंघन करने वालों को सजा देने के तरीकों पर भी सवाल उठ रहे हैं

violation of Corona rules in Philippine
प्रतीकात्मक फोटो 
मुख्य बातें
  • मृतक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने कोविड नियम के उल्लंघन पर उससे उठक-बैठक करवाई थी
  • उसे लागू कर्फ्यू के दौरान स्थानीय दुकान से पानी की बोतल खरीदते समय पकड़ लिया था।
  • उसे पकड़ने के बाद पुलिस ने उससे  100 बार उठक-बैठक करने को कहा

कोरोना की गिरफ्त में दुनिया के कई मुल्क आते  जा रहे हैं इसी के साथ ही वहां पर इसपर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाने का सिलसिला भी शुरू हो गया है, फिलीपींस में भी इसे लेकर खासी सख्ती बरती जा रही है और वहां पर नाइट कर्फ्यू लागू है, इसका उल्लंघन करने के एवज में पुलिस ने एक शख्स को ऐसी सजा दी कि उसके प्राण पखेरू ही  निकल गए।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक बताया जा रहा है कि फिलीपींस में कोविड-19 के तहत नियम तोड़ने पर एक व्यक्ति को इतनी कठोर सजा दी गई जिससे उसकी मौत हो गई मृतक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने कोविड नियम के उल्लंघन पर उससे उठक-बैठक करवाई थी जिसके चलते मौत हुई है।

मनीला के पास जनरल ट्रिआस सिटी में 28 साल के डारेन मैनाओग पेनारेडोंडो की 3 अप्रैल अप्रैल को मौत हो गई दो दिन पहले ही उसे पुलिस ने शाम 6 बजे के बाद लागू कर्फ्यू के दौरान स्थानीय दुकान से पानी की बोतल खरीदते समय पकड़ लिया था।

उसे पकड़ने के बाद पुलिस ने उससे  100 बार उठक-बैठक करने को कहा लेकिन यदि उनका तालमेल बिगड़ता था तो फिर से गिनती शुरू कर दी जाती थी इसके चलते उस बेचारे को करीब 300 बार उठक-बैठक करनी पड़ी इसके चलते उसकी हालात इतनी ज्यादा खराब हो गई कि वो घर लौटा तो बुरी तरह से बेहाल था।

बताते हैं कि वो पूरे दिन वह खड़ा नहीं हो पाया और जमीन पर घिसटता रहा, उसके पैरों और घुटनों में असहनीय दर्द था, अगली सुबह तक उसकी हालत इतनी ज्यादा खराब हो गई कि बाद में उसकी मौत हो गई बताते हैं कि डारेन घर से पानी की बोतल लेने निकला था जिसकी कीमत उसे अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।वहीं अब इस मामले पर घटना पुलिस विभाग ने कहा कोरोना वायरस के चलते लगाए कर्फ्यू के उल्लंघन पर किसी भी तरह की शारीरिक दंड देने का कोई नियम नहीं है अगर कोई ऐसा करने का दोषी पाया जाता है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

(सभी फोटो प्रतीकात्मक हैं)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर