Afghan Envoy Daughter: अफगानी राजनयिक की बेटी के अपहरण पर ना 'पाक' सुर, क्या है वजह

इस्लामाबाद में अफगान राजनयिक की बेटी के अपहरण केस में पाकिस्तान का कहना है कि भारत तथ्यों के साथ खिलवाड़ के साथ बदनाम करने की कोशिश कर रहा है।

afghan envoy daughter,Silsila Akhalili kidnapped in Pakistan, Afghanistan, Islamabad, Interior Minister Sheikh Rashid Ahmed, India
अफगानी राजनयिक बेटी के अपहरण केस में पाकिस्तान ने भारत का नाम घसीटा, क्या है वजह 

मुख्य बातें

  • इस्लामाबाद में अफगानी राजनयिक की बेटी का हुआ था अपहरण
  • घर जाते समय अज्ञात लोगों ने मारपीट भी की थी
  • पाकिस्तान ने इस अपहरण कांड में भारत का हाथ होने का आरोप लगाया

इस्लामाबाद में अफगानी राजनयिक की बेटी के अपहरण केस में पाकिस्तान ने भारत को जिम्मेदार बताया है। गृहमंत्री शेख राशिद अहमद के अनुसार अपहरण केस में तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है, उनका कहना है कि राजनयिक की बेटी का अपहरण नहीं हुआ है बल्कि सुनियोजित साजिश के तहत पाकिस्तान को बार बार बदनाम करने की कोशिश की जा रहा है। बता दे कि अफगान राजनयिक नजीबुल्ला अलीखील की बेटी सिलसिला अलीखील का पाकिस्तान में किडनैप हो गया था। उन्हें बहुत बुरी तरह से मारापीटा गया था जब वो अपने घर लौट रही थीं।

अपहरण के सबूत नहीं, पाकिस्तानी दलील
पाकिस्तान का कहना है कि सिलसिला अलखीली के अपहरण के संबंध में किसी तरह का साक्ष्य नहीं मिला है, अफगानी राजनयिक की बेटी के साथ जो कु हुआ वो अपहरण नहीं था। लेकिन पीड़ित का क्या कहना है, मैं दोपहर में इस्लामाबाद में एक बेकरी की दुकान से वापस लौट रही थी एक शख्स ने उसके साथ गालीगलौज के साथ मारपीट की। उसके बाद उसे किसी अचेत अवस्था में किसी अज्ञात जगह पर छोड़ दिया गया।

पीड़ित का बयान
पीड़ित का क्या कहना है, मैं दोपहर में इस्लामाबाद में एक बेकरी की दुकान से वापस लौट रही थी एक शख्स ने उसके साथ गालीगलौज के साथ मारपीट की। उसके बाद उसे किसी अचेत अवस्था में किसी अज्ञात जगह पर छोड़ दिया गया।लेकिन पाकिस्तान का कहना है कि उनकी जांत में किसी दूसरे शख्स के बैठने की पुष्टि नहीं हुई है। हकीकत में अफगानिस्तान और भारत की तरफ से मामले को दूसरी तरफ मोड़ने की कोशिश की जा रही है।   

पाकिस्तान को बदनाम करने की साजिश
पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद अहमद का कहना है कि इस तरह की हरकतों के जरिए चीन और उनके देश में अविश्वास का माहौल पैदा करने की कोशिश की जा रही है। कुछ अंतरराष्ट्रीय ताकतें नहीं चाहतीं की पाकिस्तान और चीन के बीच सामान्य संबंध बना रहे लिहाजा दासू बस जैसी घटना की साजिश रची गई। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर