केवल 22% NRI ही ट्रंप को करना चाहते हैं वोट लेकिन PM मोदी की लोकप्रियता हर जगह: सर्वे 

US presidential election: सर्वे में सबसे बड़ी बात जो उभरकर सामने आई है वह यह है कि आधे से ज्यादा भारतीय अमेरिकी पीएम मोदी के कामकाज को पसंद करते हैं लेकिन इसमें से केवल 22% ही ट्रंप को वोट देना चाहते हैं।

Only 22% NRIs to vote Trump, support for Modi cuts across divide: US survey
केवल 22% NRI ही ट्रंप को करना चाहते हैं वोट लेकिन PM मोदी की लोकप्रियता हर जगह: सर्वे।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • ताजा सर्वे में अमेरिकी चुनाव पर भारतीय अमेरिकी नागरिकों का रुख आया सामने
  • केवल 22 प्रतिशत एनआरआई ही राष्ट्रपति ट्रंप के पक्ष में करना चाहते हैं वोट
  • डेमोक्रेट-रिपब्लिन पार्टी को वोट करने वाले एनआरआई में पीएम मोदी की लोकप्रियता

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर है। राष्ट्रपति पद के लिए डोनाल्ड ट्रंप दोबारा चुनाव मैदान में है। इस चुनाव में ट्रंप का मुकाबला डेमोक्रेट पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन के साथ है। दोनों उम्मीदवारों के बीच पहला प्रेसिडेंशियल डिबेट हो चुकी है। इस डिबेट के बाद अमेरिका में कई सर्वे हुए हैं जिनमें बिडेन को ट्रंप पर बढ़ते लेते हुए बताया गया है। इस बीच, राष्ट्रपति चुनाव पर अमेरिका में एक और सर्वे हुआ है जिसमें भारतीय मूल के नागरिकों (एनआरआई) की दोनों उम्मीदवारों के प्रति सोच एवं नजरिए का पता चला है। 

आधे से ज्यादा एनआरआई पीएम मोदी को पसंद करते हैं
सर्वे में सबसे बड़ी बात जो उभरकर सामने आई है, वह यह है कि आधे से ज्यादा भारतीय अमेरिकी पीएम नरेंद्र मोदी के कामकाज को पसंद करते हैं लेकिन इसमें से केवल 22 प्रतिशत ही ट्रंप को अपना वोट देने के पक्ष में हैं जबकि 68 प्रतिशत एनआरआई जो बिडेन को वोट देना चाहते हैं। सर्वे में दिलचस्प बात यह भी है कि ट्रंप को वोट देने की इच्छा रखने वाले भारतीय अमेरिकी बिडेन को चुनने की चाह रखने वाले एनआरआई की तुलना में पीएम मोदी के बारे में बेहतर नजरिया (76/100) रखते हैं। जबकि चुनाव में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार बिडेन को वोट देने की चाहत रखने वाले भारतीय अमेरिकियों में यह दर (52/100) है। 

बुधवार को जारी हुआ सर्वे
बुधवार को जारी इस सर्वे को कॉरनेगी इंडोमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस, जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया ने मिलकर किया है। सर्वे में खास बात यह है कि पीएम मोदी की लोकप्रियता रिपब्लिकन एवं डेमोक्रेट पार्टी दोनों में है। सर्वे यह भी बताता है कि पीएम मोदी के साथ ट्रंप की 'दोस्ती या युगलबंदी' का फायदा मौजूदा राष्ट्रपति को मिलता नजर नहीं आ रहा है। परंपरागत रूप से अमेरिकी भारतीय डेमोक्रेट पार्टी को अपना वोट देते आए हैं। साल 2008 के राष्ट्रपति पद के चुनाव में करीब 93 प्रतिशत भारतीय अमेरिकी नागरिकों ने बराक ओबामा के पक्ष में अपना वोट डाला था। इसके बाद के चुनावों में डेमोक्रेट नेताओं की पकड़ भारतीय समुदाय में कमजोर हुई है। हाल के वर्षों में रिपब्लिकन नेता इस समुदाय में अपनी पहुंच बनाने में सफल हुए हैं। 

तीन नवंबर को है अमेरिका में चुनाव
सर्वे में शामिल करीब 48 प्रतिशत भारतीय अमेरिकियों ने प्रधानमंत्री मोदी के कार्यों का समर्थन किया जबकि 32 फीसदी ने अपनी नापसंदगी जाहिर की। गौरतलब है कि अमेरिका में तीन नवंबर को राष्ट्रपति पद के लिए वोट डाले जाएंगे। ट्रंप के कोरोना से संक्रमित होने की वजह से दूसरी प्रेसिडेंशिय डिबेट टल गई है। उप राष्ट्रपति पद के लिए वाइ प्रेसिडेंट माइक पेंस का मुकाबला भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक एवं डेमोक्रेट उम्मीदवार कमला हैरिस से है।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर