OIC ने कहा- जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने का फैसला वापस ले भारत, विदेश मंत्रालय ने दिया कड़ा जवाब

दुनिया
Updated Sep 24, 2021 | 07:43 IST | भाषा

OIC on Kashmir: इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के संपर्क समूह ने एक बार फिर नापाक बयान दिया है। ओआईसी ने भारत से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के फैसले को वापस लेने को कहा है।

OIC asks India to reverse decision of scrapping special status of Jammu and Kashmir
J&K का विशेष दर्जा समाप्त करने का फैसला वापस ले भारत: OIC  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • इस्लामिक सहयोग संगठन ने फिर उठाया कश्मीर का मसला
  • आंतरिक मामला बताते हुए भारत ने दो टूक दिया जवाब
  • पाकिस्तान के विदेश विभाग ने जारी किया था ओआईसी का बयान

इस्लामाबाद: संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र से इतर हुई बैठक में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के संपर्क समूह ने भारत से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के फैसले को वापस लेने को कहा। वहीं भारत ने ओआईसी से कहा है कि वह अपने मंच का इस्तेमाल उसके आंतरिक मामलों में निहित स्वार्थों वाले लोगों को टिप्पणी करने के लिए नहीं करने दे।

भारत ने दिया जवाब

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने अगस्त में कहा था, 'ओआईसी का भारत के अभिन्न अंग केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से संबंधित मामलों में कोई अधिकार नहीं है। हम इस बात को दोहराते हैं कि ओआईसी सचिवालय को भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणियों के लिए निहित स्वार्थों वाले लोगों को अपने मंच का फायदा उठाने की अनुमति देने से बचना चाहिए।' पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पर ओआईसी के संपर्क समूह के विदेश मंत्रियों की बैठक के बाद एक संयुक्त विज्ञप्ति जारी की गई। यह बैठक ओआईसी के महासचिव की अध्यक्षता में हुई थी।

पाकिस्तान के विदेश विभाग ने जारी किया बयान

पाकिस्तान के विदेश विभाग के मुताबिक, ‘ओआईसी के विदेश मंत्रियों के संपर्क समूह की बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा कि भारत को पांच अगस्त 2019 और उसके बाद लिए गए सभी गैर-कानूनी तथा एकतरफा फैसलों को वापस लेना चाहिए और जम्मू-कश्मीर में बड़े पैमाने पर हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन को रोकना चाहिए।’ वहीं, भारत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि अनुच्छेद-370 को निष्क्रिय कर जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करना उसका आंतरिक मामला है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर