चीन को 'सदाबहार' दोस्त से मिला झटका, पाकिस्तान ने बैन किया वीडियो एप टिकटॉक  

टिकटॉक पर बैन को लेकर अमेरिका ने भी अपने तेवर कड़े कर लिए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने इस वीडियो एप को किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए बाइटडांस को नवंबर तक का समय दिया है।

Now Pakistan bans Chinese video app TikTok cites incecdent content
चीन को 'सदाबहार' दोस्त से मिला झटका, पाकिस्तान ने बैन किया वीडियो एप टिकटॉक।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • 'अनैतिक एवं गैर-कानूनी' सामग्री का हवाला देकर पाकिस्तान ने उठाया कदम
  • टिकटॉक के लिए पाकिस्तान दुनिया का 12वां सबसे बड़ा बाजार है, करोड़ों में यूजर्स
  • टिकटॉक के प्रवक्ता का कहना है कि पाकिस्तान में वीडियो एप की वापसी होने की उम्मीद

इस्लामाबाद : चीन को उसके 'सदाबहार' मित्र पाकिस्तान ने झटका दिया है। पाकिस्तान ने लोकप्रिय वीडियो एप टिकटॉक को अपने यहां बैन कर दिया है। पाकिस्तान का कहना है कि कंपनी ने 'अनैतिक एवं भद्दी सामग्री' पर रोक नहीं लगा पाई है, इसलिए यह कदम उठाया गया है। बता दें कि टिककॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस लिमिटेड है। बाइटडांस के इस वीडियो एप के पाकिस्तान में बड़ी संख्या में यूजर्स हैं। रिसर्च कंपनी सेंटर टॉवर के मुताबिक पाकिस्तान में इस एप के करीब 4.3 करोड़ यूजर्स हैं। 

इस साल पाक में 1.47 करोड़ लोगों ने डाउनलोड किया टिकटॉक 
लोगों में इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस साल 1.47 करोड़ लोगों ने इस वीडियो एप को डाउनलोड किया है। टिकटॉक के लिए पाकिस्तान दुनिया का 12वां सबसे बड़ा बाजार है। डाटा के अनुसार अमेरिका में 20 करोड़ से ज्यादा इस एप को डाउनलोड किया गया है। इस कदम के बारे में पाकिस्तान के दूरसंचार विभाग ने अपने एक बयान में कहा कि उसने एप को प्रतिबंधित करने के लिए निर्देश जारी किए हैं लेकिन टिकटॉक उसके आदेश का पालन करता है तो वह इस रोक को हटा लेगा। 

पाक ने 'अमर्यादित एवं गैर-कानूनी सामग्री' का हवाला दिया
बयान के मुताबिक, 'टिकटॉक को यह बता दिया गया है कि अधिकारी इस मसले पर बातचीत के लिए तैयार हैं। 'अमर्यादित एवं गैर-कानूनी सामग्री' पर यदि टिक टॉक संतोषजनक कार्रवाई करता है तो वह अपने फैसले की समीक्षा करेगा।'  बता दें कि सुरक्षा का हवाला देकर भारत पहले ही अपने यहां टिकटॉक एप पर प्रतिबंध लगा चुका है। भारत के अलावा इंडोनेशिया, मिस्र और बांग्लादेश ने भी टिकटॉक के खिलाफ कदम उठाए हैं। 

टिकटॉक पर अमेरिका के भी तेवर कड़े
टिकटॉक पर बैन को लेकर अमेरिका ने भी अपने तेवर कड़े कर लिए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने इस वीडियो एप को किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए बाइटडांस को नवंबर तक का समय दिया है। अमेरिका में ओरैकल और वालमार्ट ने टिकटॉक की हिस्सेदारी खरीदने पर सहमत हुए हैं। पाकिस्तान में एप पर प्रतिबंध लगने के बाद टिकटॉक के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी अन्य देशों में रोक हटवाने में सफल हुई है ऐसे में उसे उम्मीद है कि टिकटॉक पाकिस्तान में वापसी करने में सफल होगा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर