Kuwait : नुपूर शर्मा के खिलाफ किया था प्रदर्शन, कुवैत से निकाले जा रहे प्रवासी, दोबारा नहीं होगी वापसी

Protests in Kuwait against Nupur Sharma : पैगंबर मोहम्मद के बारे में भाजपा की पूर्व नेता नुपूर शर्मा के दिए गए आपत्तिजनक बयान पर भारत समेत कई मुस्लिम देशों में विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। कुछ दिनों पहले कुवैत में भी लोगों ने नुपूर को गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

Kuwait To Deport Expats Over Protest Against Prophet Remarks
मुस्लिम देश कुवैत ने की बड़ी कार्रवाई। 
मुख्य बातें
  • पैगंबर मोहम्मद के बारे में नुपूर शर्मा के बयान के खिलाफ कुवैत में हुआ प्रदर्शन
  • कुवैत में धरना-प्रदर्शन करना अवैध है, अब प्रदर्शनकारियों को पकड़ रहे अधिकारी
  • प्रदर्शन करने वाले लोगों को वापस उनके देश भेजा जा रहा है, फिर इनकी वापसी नहीं होगी

Protests in Kuwait: पैगंबर मोहम्मद के बारे में नुपूर शर्मा के बयान के खिलाफ भारत सहित अन्य देशों में विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। इस्लामी देश कुवैत में भी प्रवासी लोगों ने नुपूर के बयान के खिलाफ प्रदर्शन किया है। लेकिन इन प्रदर्शनों में हिस्सा लेने वाले प्रवासी नागरिकों के खिलाफ कुवैत ने सख्ती दिखाई है। कुवैत ने कहा है कि विरोध-प्रदर्शनों में शामिल हुए लोगों को वह वापस उनके देश भेजेगा। कुवैत में इन नागरिकों की दोबारा वापसी नहीं होगी। बता दें कि कुवैत में धरना-प्रदर्शन करने पर बैन है। प्रदर्शन में प्रवासियों का शामिल होना देश के कानून का उल्लंघन माना जाता है।  

प्रदर्शनकारियों को पकड़कर वापस भेजने की तैयारी
अरब टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक यही नहीं कुवैत के अधिकारियों ने धरना-प्रदर्शन में शामिल लोगों की धरपकड़ के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। अधिकारी लोगों को गिरफ्तार कर उन्हें वापस उनके देश भेजने की तैयारी कर रहे हैं। ये लोग अब दोबारा कुवैत में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। रिपोर्ट में अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि कुवैत में रहने वाले प्रवासियों का कानून का पालन करना चाहिए। उन्हें किसी तरह के धरना-प्रदर्शन में शामिल नहीं होना चाहिए। कुवैत से किन-किन देशों के नागरिकों को वापस उनके देश भेजा जा रहा है, रिपोर्ट में इसकी जानकारी नहीं दी गई है। 

नुपूर को गिरफ्तारी की मांग पर प्रदर्शन
बता दें कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में भाजपा की पूर्व नेता नुपूर शर्मा के दिए गए आपत्तिजनक बयान पर भारत समेत कई मुस्लिम देशों में विरोध-प्रदर्शन हुए हैं। कुछ दिनों पहले कुवैत में भी लोगों ने नुपूर को गिरफ्तार किए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। पैगंबर के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर अरब देशों ने भारत सरकार से नाराजगी जताई और माफी मांगने के लिए कहा। हालांकि, भारत सरकार ने नुपूर शर्मा के बयान को खारिज कर दिया और कहा कि सरकार ने कहा कि यह 'चरमपंथी सोच' रखने वालों का विचार है और वह इसका समर्थन नहीं करती है। 

Nupur Sharma : UAE, जॉर्डन, इंडोनेशिया ने भी जताया विरोध, पैगंबर मोहम्मद पर नुपूर शर्मा के बयान की निंदा की

भारत में 10 जून को हुए बड़े पैमाने पर प्रदर्शन
नुपूर के आपत्तिजनक बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया। पार्टी ने दिल्ली के मीडिया सेल के प्रभारी नवीन कुमार जिंदल को भी हटाया। भाजपा की इस कार्रवाई के बावजूद विरोध-प्रदर्शन थमा नहीं। कानपुर में गत 3 मई को बड़े पैमाने पर हिंसक प्रदर्शन हुए। गत 10 जून को प्रयागराज, मुरादाबाद, सहारनपुर, दिल्ली की जामा मस्जिद, रांची, हावड़ा सहित देश के कई शहरों में प्रदर्शन हुए। सरकार को लगता है कि देश में एक साथ इतने बड़े पैमाने पर प्रदर्शन साजिश के तहत हुए। प्रयागराज में जिला प्रशासन ने बुलडोजर चलाकर प्रदर्शन के मुख्य साजिशकर्ता जावेद पंप के आवास को जमींदोज कर दिया। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर