Biden From Mumbai ये कौन हैं, अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बिडेन से क्या है ये इंडियन कनेक्शन

दुनिया
रवि वैश्य
Updated Nov 08, 2020 | 06:30 IST

Biden from Mumbai and Joe Biden Connetion: अमेरिका के नए राष्ट्रपति बने जो बिडेन को आज भी 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई की तलाश  हैं,आप कहेंगे ये क्या है तो इसके पीछे दिलचस्प कहानी है।

JOE BIDEN MUMBAI CONNECTION
सीनेटर बनने के लिए जो बिडेन को 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' ने शुभकामनाएं दी थीं 

मुख्य बातें

  • 1972 में सीनेटर चुने जाने पर बिडेन को मुंबई से उन्हीं के उपनाम वाले एक व्यक्ति ने बधाई देने के लिए पत्र भेजा था
  • बिडेन ने 2013 को मुंबई में लोगों को संबोधित करते हुए भी'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' की कहानी लोगों को सुनाई थी
  • मुंबई में 2013 में बिडेन ने लोगों से कहा था अगर यह सच है तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं

डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बिडेन अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति होंगे लेकिन क्या आपको पता है भारत के मुंबई से Joe Biden का एक ऐसा कनेक्शन है जिसके बारे में यादकर अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति आज भी थोड़ा भावुक हो जाते हैं, दरअसल मामला ये है कि जो बिडेन आज भी मुंबई के अपने दूर के रिश्तेदार 'बाइडेन' का जिक्र करते नहीं थकते। अमेरिका के पूर्व उप राष्ट्रपति अकसर उन्हें 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' (Biden From Mumbai) कहकर संबोधित करते हैं और उनसे ना मिल पाने का मलाल उन्हें आज भी है।

डेलावेयर से 1972 में सीनेटर चुने जाने पर बिडेन को मुंबई से उन्हीं के उपनाम वाले एक व्यक्ति ने बधाई देने के लिए पत्र भेजा था। सीनेटर बनने के लिए उन्हें 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' ने शुभकामनाएं दी थीं और बताया था कि उनका एक-दूसरे से रिश्ता है। बाइडेन उस समय 29 साल के थे और उस शख्स से मिलना चाहते थे लेकिन परिवार और राजनीतिक प्रतिबद्धताओं के चलते ऐसा हो ना सका। आज पांच दशक बाद भी वह अपनी इस इच्छा को पूरी करना चाहते हैं और जब भी किसी भारतीय-अमेरिकी या भारतीय नेता से मुलाकात करते हैं तो 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' का जिक्र जरूर करते हैं।

जो बिडेन 2013 में आए थे भारत किया था मुंबई का दौरा

अमेरिका के उप-राष्ट्रपति बनने के बाद अपनी पहली भारत यात्रा पर 24 जुलाई 2013 को मुंबई में 'बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज' में लोगों को संबोधित करते हुए भी उन्होंने 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई' की कहानी लोगों को सुनाई थी। बिडेन ने लोगों से कहा था, 'भारत वापस आना और यहां मुंबई में होना, सम्मान की बात है।

1972 में जब मैं 29 साल का था और अमेरिकी सीनेट चुना गया था तब मुझे एक पत्र मिला था, जिसका जवाब ना देने का मुझे आज भी अफसोस है। शायद दर्शक में बैठा कोई वंशावली विशेषज्ञ मेरी मदद कर सके। मुझे मुंबई से बाइडेन नाम के एक सज्जन पुरुष का पत्र मिला था, जिसमें उसने कहा था कि हम दोनों का एक-दसरे से कोई रिश्ता है।'

तब बिडेन ने कहा था-तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं

बिडेन ने कहा, 'शायद हमारे पूर्वर्जों का कोई संबंध हो या 1700 में 'ईस्ट इंडिया ट्रेडिंग कंपनी में काम करने के लिए कोई मुंबई आया हो।' इसके कुछ साल बाद वॉशिंगटन डीसी में भी एक भाषण के दौरान बिडेन ने कहा था कि उनके पूर्वज एक थे, जिन्होंने 'ईस्ट इंडिया कंपनी' के लिए काम किया और जो तब भारत गए थे।

वहीं 21 सितंबर, 2015 को 'यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल' को संबोधित करते हुए बिडेन ने कहा था कि 'बाइडेन फ्रॉम मुंबई और मेरे पूर्वज शायद एक थे, 1848 में जो 'ईस्ट इंडिया टी कंपनी' के लिए काम करते थे। उन्होंने शायद किसी भारतीय महिला से शादी कर ली और भारत में ही रह गए। मुंबई में 2013 में बिडेन ने लोगों से कहा था अगर यह सच है तो मैं भारत में भी चुनाव लड़ सकता हूं। उनके इस भाषण के दौरान वहां मौजूद दर्शकों के बीच हंसी की एक लहर दौड़ गई थी।


 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर