'ईरान पर हमला करने के लिए तैयार हैं', इजरायल के रक्षा मंत्री का बड़ा बयान 

Iran-Israel tension : 'अलजजीरा' की रिपोर्ट के मुताबिक गत गुरुवार को ‘एमवी मर्सर स्ट्रीट’ पर हुए घातक ड्रोन हमले के बाद क्षेत्र में बढ़ रहे तनाव के बीच इजरायली रक्षा मंत्री का यह बयान आया है।

Israel defence minister Benny Gantz says we are ready to strike Iran
टैंकर पर हमले के बाद ईरान-इजरायल में तनाव बढ़ा।  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • गत गुरुवार को टैंकर मर्सर स्ट्रीट पर ड्रोन से हुए हमले में दो लोगों की जान गई
  • इस टैंकर का रखरखाव इजरायल करता है, हमले में ब्रिटेन, रोमानिया के नागरिक मारे गए
  • इजरायल के रक्षा मंत्री ने कहा है कि उनका देश ईरान पर हमला करने के लिए तैयार है

यरूशलम : ओमान के तट पर इजरायल की देखरेख वाले टैंकर पर ड्रोन हमला होने क बाद इजरायल और ईरान के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज ने गुरुवार को कहा कि सेना 'ईरान के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए तैयार है।' रक्षा मंत्री ने ईरान को 'एक वैश्विक एवं क्षेत्रीय' समस्या बताया है। 'अलजजीरा' की रिपोर्ट के मुताबिक गत गुरुवार को ‘एमवी मर्सर स्ट्रीट’ पर हुए घातक ड्रोन हमले के बाद क्षेत्र में बढ़ रहे तनाव के बीच इजरायली रक्षा मंत्री का यह बयान आया है। इस ड्रोन हमले में  ब्रिटेन और रोमानिया के एक-एक नागरिक की मौत हो गई।

टैंकर पर हमले में दो लोगों की मौत हुई
इजरायल ने कहा है कि टैंकर मर्सर स्ट्रीट पर हुए हमले के पीछे ईरान था और उसने इस बारे में अपने सहयोगी देशों को 'मजबूत साक्ष्य' सौंपे हैं। टैंकर पर हुए इस हमले के लिए अमेरिका और ब्रिटेन ने भी ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। इन देशों का कहना है कि वे इस हमले की प्रतिक्रिया देंगे। हालांकि, पश्चिमी देशों के इन आरोपों को ईरान ने खारिज किया है। तेहरान का कहना है कि 'यदि उसके हितों को नुकसान पहुंचाने के लिए किसी अन्य देश ने हमले किए तो वह दृढ़ता से जवाब देगा।'

ईरान सहित कई मोर्चों पर लड़ने को तैयार हैं-इजरायल
रिपोर्ट के मुताबिक एक स्थानीय मीडिया वेबसाइट पर साक्षात्कार में गैंट्ज से जब यह पूछा गया कि क्या ईरान पर हमला करने के लिए इजरायल तैयार है, तो रक्षा मंत्री ने कहा, 'हां'। गैंट्ज ने 'वाईनेट' से कहा कि इजरायल एक साथ कई मोर्चे पर संघर्ष मोल लेने के लिए तैयार है और इसमें ईरान भी शामिल है। उन्होंने कहा, 'ईरान एक वैश्विक एवं क्षेत्रीय समस्या है। वह इजरायल के लिए एक चुनौती है। कई मोर्चों पर टकराव का सामना करने के लिए हमें अपनी क्षमताओं का विस्तार जारी रखने की जरूरत है क्योंकि यही भविष्य है।' गैंट्ज के इस बयान पर अभी ईरान की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। 

'वास्तविक समझ विकसित करें देश'
गत बुधवार को ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर (IRGC) के कमांडर इन चीफ ने कहा कि ऐसे देश (खासकर इजरायल) जो ईरान को धमकी देते हैं, उन्हें अपने बचाव एवं आक्रमणकारी क्षमताओं की वास्तविक समझ जरूर विकसित करनी चाहिए। इस बीच, नाटो के प्रवक्ता डेलान व्हाइट ने कहा कि 30 देशों का संगठन ओमान के अपतटीय क्षेत्र में एमवी मर्सर स्ट्रीट पर हाल में किए गए घातक हमले की कड़ी निंदा करने में अमेरिका, ब्रिटेन और रोमानिया के साथ शामिल हो गया है। ईयू ने हमले की निंदा करते हुए घटना की व्यापक एवं स्वतंत्र जांच की मांग की है।
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर