इजरायल ने गाजा पर किया हमला, फिलिस्तीन के साथ तनाव एक बार फिर बढ़ने के आसार

फिलिस्तीन का कहना है कि इजराइल ने एक बार फिर गाजा पर हमला किया है। इसकी वजह से दोनों देशों के बीच तनाव एक बार फिर चरम पर पहुंच सकता है।

Israel Palestine ceasefire, Gaza attack, Israel's new PM Naftali Bennett,
गाजा पर इजरायली हमले के बाद फिलिस्तीन से तनाव बढ़ने के आसार 

मुख्य बातें

  • फिलिस्तीन ने गाजा पर एयर स्ट्राइक का आरोप लगाया
  • इजरायल ने सीजफायर का उल्लंघन किया- फिलिस्तीन
  • हाल ही में इजरायल और फिलिस्तीन के बीत सीजफायर पर सहमति बनी थी

फिलिस्तीनी सुरक्षा बलों के मुताबिक इजरायल ने गाजा पर एयरस्ट्राइक किया है। बताया जा रहा है कि बधवार सुबह फलीस्तीन की तरफ से आतंकियों ने दक्षिण इजरायल की ओर आग लगाने वाले गुब्बारे भेजे जिसके बाद इजरायल ने गाजा पर एयरस्ट्राइक कर दिया। इजरायली सेना ने कहा कि उसके विमान ने बुधवार तड़के गाजा पट्टी में हमास के सशस्त्र परिसरों पर हमला किया। ये हमला फिलिस्तीनी इलाके की तरफ से आग लगाने वाले गुब्बारों के जवाब में था। इसका इस्तेमाल गाजा इलाके में शरण लिए आतंकियों ने किया था।

रिश्ते खराब होने की आशंका
हालांकि इस घटना के बाद ऐसा लग रहा है कि फिलिस्तीन के साथ रिश्ते में किसी तरह का बदलाव नहीं आया है। न्यूज एजेंसी AFP के मुताबिक, इजरायल ने एक बार फिर गाजा में एयरस्ट्राइक किया है। सैकड़ों की संख्या में इजराइल के धुर राष्ट्रवादियों ने ताकत दिखाने के लिए पूर्वी यरूशलम में परेड की थी। इजरायली फौज का कहना है कि वह सभी तरह के हालात का सामना करने के लिए तैयार है। गाजा की तरफ से जिस तरह से उकसाने वाली कार्रवाई हुई उसका जवाब दिया जाएगा। 21 मई के बाद अब एक बार दोबारा हवाई हमले और गुब्बारों बम इजरायल और गाजा के बीच अब दोबारा चिंगारी भड़क उठी है। 21 मई को युद्धविराम हो गया था। 11 दिनों के  युद्ध में 260 फिलिस्तीनी मारे गए थे और 13 इजरायल के लोग मारे गए थे।

इजरायल में हो चुका है सत्ता परिवर्तन
दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के 49 वर्षीय नेता नफ्ताली बेनेट के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही नेतन्याहू युग का अंत हो गया है। 12 साल तक इजरायल पर राज करने वाले बेंजामिन नेतन्‍याहू अपनी सत्‍ता को नहीं बचा पाए। नफ्ताली बेनेट ने रविवार को इजरायल के प्रधानमंत्री पदभार संभाला था। जानकार कहते हैं कि इजरायल में सत्ता किसी की भी हो फिलिस्तीन के मुद्दे पर किसी भी दल के रुख में किसी खास तरह का बदलाव नहीं आने वाला है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर