'आज भी पाकिस्‍तान की पनाह में हैं 26/11 के साजिशकर्ता', भारत ने पड़ोसी मुल्‍क को आतंकवाद पर फिर दिखाया आईना

आतंकवाद को लेकर भारत ने एक बार फिर पाकिस्‍तान को जमकर लताड़ा। UNSC में एक चर्चा के दौरान पाकिस्‍तान के प्रतिनिधि ने जब भारत के खिलाफ झूठे व दुर्भावनापूर्ण आरोप लगाए तो भारतीय अधिकारी ने आतंकवाद पर पड़ोसी मुल्‍क की पोल खोलकर रख दी।

भारत ने पाकिस्‍तान को आतंकवाद पर फिर दिखाया आईना
भारत ने पाकिस्‍तान को आतंकवाद पर फिर दिखाया आईना  |  तस्वीर साभार: Twitter

संयुक्‍त राष्‍ट्र : भारत ने आतंकवाद को लेकर एक बार फिर पाकिस्‍तान को आईना दिखाया और दो टूक कहा कि 2008 मुंबई हमलों के साजिशकर्ताओं को आज भी पाकिस्‍तान में शरण व संरक्षण मिला हुआ है। संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में चर्चा के दौरान सदस्य देश अच्छी तरह से जानते हैं कि पाकिस्तान का आतंकवादियों को पनाह देने, सहायता करने और सक्रिय रूप से समर्थन करने का एक स्थापित इतिहास रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन में सलाहकार आर मधु सूदन 'सशस्त्र संघर्षों में नागरिकों की सुरक्षा' पर आयोजित चर्चा के दौरान बोल रहे थे, जब उन्‍होंने पाकिस्‍तान को लेकर कहा कहा कि यह एक ऐसा देश है, जिसे विश्व स्तर पर आतंकवाद के प्रायोजक के रूप में जाना जाता है। यहां सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित आतंकवादियों की सबसे बड़ी संख्या है और पाकिस्‍तान इस मामले में वैश्विक रिकॉर्ड रखता है। आज दुनिया भर में होने वाले आतंकवादी हमलों के तार भी कहीं न कहीं पाकिस्‍तान से जुड़ते हैं।

'भारत ही नहीं, पूरी दुनिया के लिए सिरदर्द है पाकिस्‍तान, कई आतंकी घटनाओं से सीधे जुड़े हैं तार'

पाकिस्‍तान को मिला करारा जवाब

आर मधु सूदन की यह टिप्‍पणी एक पाकिस्‍तानी राजनयिक द्वारा भारत के खिलाफ झूठे व दुर्भावनापूर्ण प्रचार के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के इस मंच के दुरुपयोग के बाद आई। उन्‍होंने कहा, 'यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान के प्रतिनिधि ने मेरे देश के खिलाफ झूठे और दुर्भावनापूर्ण प्रचार के लिए संयुक्त राष्ट्र के मंच का दुरुपयोग किया और दुनिया का ध्यान अपने देश की दुखद स्थिति से हटाने का प्रयास किया, जहां आतंकी आज भी खुलेआम घूम रहे हैं।'

'खतरनाक है आतंकवाद पर दोहरा रवैया', UN में भारत ने दाउद इब्राहिम को लेकर पाकिस्‍तान पर साधा निशाना

उन्होंने कहा, 'हम आज यहां नागरिकों की सुरक्षा पर चर्चा कर रहे हैं, जिसके लिए सबसे बड़ा खतरा आतंकियों से आता है।' इस क्रम में उन्‍होंने अमेरिकी कार्रवाई में मारे गए अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन और अन्‍य आतंकियों को लेकर पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के उन बयानों का भी जिक्र किया, जिसमें वे आतंकियों की पाकिस्‍तान में मौजूदगी की बात स्‍वीकार करते और उन्‍हें समर्थन देते नजर आ चुके हैं।

'जम्‍मू कश्‍मीर से अवैध कब्‍जा खाली करो'

भारतीय राजनयिक ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के मुद्दे पर भी देश का पक्ष रखा और एक बार फिर जोर देकर कहा, 'पूरा जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का एक अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा था, है और हमेशा रहेगा। यह मायने नहीं रखता कि पाकिस्‍तान के प्रतिनिधि क्‍या सोचते हैं। हम पाकिस्‍तान से उन सभी इलाकों को खाली करने के लिए कहते हैं, जिस पर उसने अवैध कब्‍जा जमा रखा है।'

कश्‍मीर पर भारत की पाकिस्‍तान को दो टूक,  UNSC में बोला भारत- आतंकवाद के खिलाफ जारी रखेंगे अभियान

आर मधु सूदन ने कहा कि भारत पाकिस्तान सहित सभी देशों के साथ सामान्य और पड़ोसी जैसे संबंध चाहता है। लेकिन इस संबंध में कोई भी सार्थक बातचीत आतंक, शत्रुता और हिंसा से मुक्त माहौल में ही हो सकती है और इसकी जिम्‍मेदारी पाकिस्तान पर है। तब तक भारत सीमा पार से होने वाली कार्रवाइयों का दृढ़ता से जवाब देता रहेगा और आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक कदम उठाता रहेगा।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर