Galwan Violence: चीन ने अपने मशहूर ब्लॉगर को 8 महीने के लिए जेल में डाला, जानें- वजह

दुनिया
ललित राय
Updated Jun 02, 2021 | 06:41 IST

चीन ने अपने एक मशहूर ब्लॉगर किउ जिमिंग को आठ महीने के लिए जेल में डाल दिया है। उन्होंने गलवान हिंसा में मारे गए चीनी सैनिकों के बारे में टिप्पणी की थी।

Galwan Violence: चीन ने अपने मशहूर ब्लॉगर को 8 महीने के लिए जेल में डाला, जानें- वजह
गलवान हिंसा मुद्दे पर चीन में मशहूर ब्लॉगर को जेल 

मुख्य बातें

  • मशहूर ब्लॉगर किउ जिमिंग को आठ महीने की जेल
  • किउ जिमिंग ने चीनी सरकार की गलवान केस में आलोचना की थी
  • जिमिंग के चीन में 2.5 मिलियन से अधिक फॉलोअर

चीन ने मशहूर ब्लॉगर क्यू जिमिंग को आठ महीने के लिए जेल में डाल दिया है। उनका कसूर यह है कि उन्होंने गलवान हिंसा में मारे गए चीनी सैनिकों के बारे में लिखते हुए सरकार की आलोचना की थी। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक जिमिंग के करीब 2.5 मिलियन प्रशंसक हैं। यह सजा चीनी क्रिमिनल ला में संशोधन के बाद पहली बार सुनाई गई है।

मशहूर ब्लॉगर किउ जिमिंग को 8 महीने की जेल
पूर्वी चीन के जिआंगसु प्रांत की एक नानजिंग अदालत ने ब्लॉगर को "लैबिकियाओकिउ" के रूप में ऑनलाइन जाने जाने वाले ब्लॉगर को 10 दिनों के भीतर प्रमुख घरेलू पोर्टलों और राष्ट्रीय मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने का आदेश दिया।किउ ने "सच्चाई से अपने अपराध को कबूल कर लिया", एक दोषी याचिका में प्रवेश किया, और अदालत में कहा कि वह फिर कभी ऐसा कार्य नहीं करेगा, और इसलिए अदालत के अनुसार उसे कम अवधि दी गई थी।ग्लोबल टाइम्स ने बताया था कि किउ ने 1 मार्च को चीन के राष्ट्रीय प्रसारक सीसीटीवी पर एक प्रसारण के दौरान अपनी टिप्पणी के लिए खुली माफी की पेशकश की थी।

गलवान पर चीनी सरकार की आलोचना की थी
यह टिप्पणी तब आई जब चीन ने पहली बार यह खुलासा किया कि उसके चार सैनिक मारे गए और एक हिमालयी संघर्ष में गंभीर रूप से घायल हो गया।साप्ताहिक इकोनॉमिक ऑब्जर्वर के एक पूर्व रिपोर्टर किउ ने दो पोस्ट प्रकाशित किए थे जिसमें दावा किया गया था कि एक कमांडर टकराव से बच गया था क्योंकि वह वहां सर्वोच्च पदस्थ अधिकारी था। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार ने जितना खुलासा किया था, उससे कहीं अधिक चीनी सैनिक झड़पों में मारे गए होंगे।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर